दुनिया में कुछ सवाल ऐसे भी हैं जिनके सही जवाब आज तक किसी को नहीं मिल पाए हैं. जैसे मुर्गी पहले आई या अंडा? अंडा शाकाहारी है या मांसाहारी? जी हां, ये ऐसे सवाल हैं जिनके जवाब खुद में ही सवाल पैदा करते हैं. अब मुर्गी पहले आया या अंडा इसका जवाब तो हमारे पास भी नहीं है, लेकिन आज हम आपको इस उलझन से ज़रूर बाहर निकालेंगे और साथ ही उसका प्रमाण भी देंगे कि अंडा शाकाहारी है या मांसाहारी. दुनिया में शायद ही कोई ऐसा इंसान हो जो इसका सही जवाब दे पाए. शाकाहारी खाने वाले लोग अंडे को मांसाहारी मानते हैं इसलिए वो इसे नहीं खाते हैं. साथ ही इनमें से कुछ लोग ऐसे अजूबे भी होते हैं जिन्हें अंडा देखना भी गवारा नहीं होता. इसलिए वो बेचारे इसके फ़ायदों से अंजान ही रह जाते हैं. जो लोग अंडे को मांसाहारी मानते हैं हम उनका समर्थन नहीं करते. क्योंकि अगर आप इस परिभाषा से चलें कि जो लोग मांस खाते हैं वह मांसाहारी होते हैं, तो फिर इस हिसाब से अंडा शाकाहारी हुआ. क्योंकि इसमें न किसी तरह का कोई मांस होता है और न ही कोई लाइफ. तो आईये जानते हैं अंडे का फंडा.

लेकिन अंडा तो मुर्गी देती है

कुछ लोग इसे मांसाहारी इसलिए भी मानते हैं क्योंकि उसे मुर्गी देती है. लेकिन आप गौर कीजिए कि अंडे के लिए किसी भी मुर्गी को मारा नहीं जाता. आपका मानना है कि अंडा मुर्गी देती है इसलिए वो मांसाहारी होता है, तो फिर आपके लिए दूध भी मांसाहारी होना चाहिए क्योंकि वो भी गाय के थन से निकाला जाता है और एकदम प्योर होता है. वैज्ञानिकों द्वारा किये गए शोध में भी यही बात सामने आई है.

अंडे की सफेदी

यह तो हर कोई जानता है कि अंडे के 3 हिस्से होते हैं- छिलका, उसकी सफेदी और अंडे की जर्दी या पीला वाला पार्ट. अंडे की सफेदी पानी में मौजूद प्रोटीन का हिस्सा है जिसमें जानवर का कोई हिस्सा मौजूद नहीं है. यही वजह है कि एग वाइट पूरी तरह से शाकाहारी है और ऐसे सभी प्रोडक्ट जिसमें एग वाइट का इस्तेमाल होता है, वह तकनीकी रूप से शाकाहारी होते हैं.

अंडे की जर्दी मांसाहारी है

एग वाइट की तरह एग योक का ज्यादातर हिस्सा भी पानी में प्रोटीन, कॉलेस्ट्रोल और फैट का सस्पेंशन होता है. लेकिन गैमिट सेल्स को अंडे के पीले वाले हिस्से से पूरी तरह से अलग नहीं किया जा सकता. इसलिए अंडे की जर्दी मांसाहारी है.

अंडे से बच्चा निकल सकता था       

                

कई लोग बड़े ही भावुक मिज़ाज़ के होते हैं और वह अंडा इसलिए नहीं खाते क्योंकि उन्हें लगता है कि उस अंडे में जान थी या अंडे से बच्चे का जन्म होता है. लेकिन आप इस भ्रम को अपने मन से पूरी तरह से दूर कर दीजिए क्योंकि बाजार में मिलने वाले ज्यादातर अंडे अनफर्टिलाइज्ड या अनिषेचित होते हैं. इसलिए इस बात की संभावना न के बराबर है कि अगर उस अंडे को छोड़ दिया जाता तो उनसे बच्चा निकल सकता था.


Also published on Medium.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here