नई दिल्ली: ट्रेन की लम्बी यात्रा हो और अपनी खुद की कन्फर्म सीट हो तो यात्रा का मजा ही अगल होता है। शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा, जिसे ट्रेन की यात्रा पसंद नहीं होगी। ट्रेन की यात्राओं का अपना एक अलग ही मजा होता है। हालाँकि कुछ लोगों को इस मजे की समझ नहीं होती है। भारत दुनिया का सबसे बड़ा ट्रेन नेटवर्क है। भारत की आधी से ज्यादा आबादी ट्रेन में सफ़र करती है। कहीं भी जाना हो, ट्रेन उसके लिए सबसे अच्छा विकल्प होता है।  ( ट्रेन हॉर्न का मतलब ) ट्रेन से यात्रा करने वाले और ट्रेन को जाते हुए देखने वाले लोगों ने ट्रेन का हॉर्न तो सुना ही होगा। लेकिन बहुत कम लोग होते हैं जो ट्रेन के हॉर्न पर गौर करते हैं। क्या आपने कभी इस बात पर ध्यान दिया है कि ट्रेन के हॉर्न देने का क्या मतलब होता है? कई बार ट्रेन दो बार, तीन बार और चार बार लगातार हॉर्न देती है, आपने इसपर गौर किया है कि ऐसा क्यों होता है? आपको जानकर बहुत हैरानी होगी कि ट्रेन के हर हॉर्न का एक मतलब होता है। ट्रेन का ड्राईवर इन हॉर्न की सहायता से एक मेसेज कम्यूनिकेट करता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि ट्रेन के किस हॉर्न का क्या मतलब होता है? इससे आपको हॉर्न के बारे में अच्छे से जानकारी हो जाएगी और आप भविष्य में समझ सकेंगे कि ट्रेन का ड्राईवर क्या सन्देश देना चाहता है। इससे आप खुद तो जान ही जायेंगे साथ ही अपने आस-पास के लोगों को भी ट्रेन के हॉर्न के मतलब के बारे में बता पाएंगे।

जानें ट्रेन हॉर्न का मतलब:

जब कोई ट्रेन छोटा हॉर्न दे रही हो तो समझ जाइये कि उस ट्रेन को धुलाई और सफाई के लिए यार्ड में ले जाया जा रहा है। यार्ड में ही ट्रेन को अगली ट्रिप के लिए तैयार किया जाता है। जब किसी ट्रेन का ड्राईवर दो छोटे-छोटे हॉर्न बजता है तो इसका मतलब कि वह ट्रेन स्टार्ट करने का सिग्नल गार्ड को दे रहा है। इसके बाद गार्ड सजग हो जाता है। इस हॉर्न का मतलब अन्य सभी हॉर्न से बिलकुल ही अलग होता है। ट्रेन का ड्राईवर इस हॉर्न का प्रयोग शायद ही कभी करता हो। लेकिन जब करता है तो बहुत बड़ी मुसीबत आती है। जी हाँ तीन हॉर्न का मतलब होता है कि ट्रेन का ड्राईवर ट्रेन का नियंत्रण खो चूका है। अब ट्रेन उसके नियंत्रण में नहीं है। इससे ट्रेन कई बार हादसे का शिकार हो जाती है। ऐसी स्थिति में तुरंत ही वेक्यूम ब्रेक का इस्तेमाल करना होता है। जब किसी ट्रेन का ड्राईवर चार छोटे हॉर्न दे रहा हो तो समझ जाइये कि ट्रेन में कोई तकनिकी समस्या है और ट्रेन आगे नहीं जा पायेगी। जब कोई ट्रेन ड्राईवर एक लम्बा और एक छोटा हॉर्न देता है तो इसका मतलब यह होता है कि वह गार्ड को ब्रेक पाइप सिस्टम तैयार करने का सिग्नल दे रहा है। यह इंजन स्टार्ट होने से तुरंत पहले किया जाता है।


Also published on Medium.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here