Connect with us

भोजन

अगर आप मिठाई के दीवाने हैं और दिल्ली में हैं, तो यहां की इन 7 मिठाई की दुकानों पर ज़रूर जाना

Published

on

कुछ लोग मीठे के इतने शौक़ीन होते हैं कि वो सुबह, शाम दोपहर और रात हर वक़्त मीठा खा सकते हैं. अगर आप उन लोगों में से हैं, तो फिर दिल्ली की ये दुकानें आपका इंतज़ार कर रही हैं. यहां की मिठाइयां टेस्ट और क्वालिटी दोनों के लिहाज़ से बहुत लाजवाब हैं.

Source: dreamstime

जान लीजिए कौन-कौन सी हैं, वो दुकानें:

1. कलेवा

Source: justdial

अगर आप को कम चीनी वाली मिठाई चाहिए, तो कलेवा स्वीट्स सबसे सही जगह है. यहां के लड्डू, देसी घी की मिठाई, पिस्ता से बनी मिठाई, खोया मिठाई और बंगाली मिठाई सबसे ख़ास मिठाई हैं.

2. बंगाली स्वीट हाउस

Source: tourtravelworld

ये मिठाई की दुकान लगभग 82 सालों से है. इसे पहली बार 1937 में दिल्ली के बंगाली मार्केट में खोला गया था. ये मिठाई हाउस पहला ऐसी जगह थी, जहां लोगों को बेहतरीन मिठाइयां मिलती थीं. हलवा और बर्फ़ी के अलावा, आपको इनके गोलगप्पे भी ज़रूर ट्राई करने चाहिए.

3. गुलाब

Source: magicpin

गुलाब शायद शहर की सबसे पुरानी मिठाई की दुकानों में से एक है, जिसे 1912 में स्थापित किया गया था. इनकी गजक और रेवड़ी पूरे देश में प्रसिद्ध हैं. इसके अलावा इनकी देसी घी की मिठाइयों के लोग दीवाने हैं. आप यहां पर नारियल के लड्डू, जलेबी, मूंग दाल हलवा और बालू शाही का भी स्वाद ले सकते हैं.

4. कमल स्वीट्स

Source: justdial

1939 में बनीं पुरानी दिल्ली की सबसे पुरानी मिठाई की दुकानों में से एक है, कमल स्वीट्स. पुरानी दिल्ली में गली कबाबियन के ठीक बाहर स्थित इस मिठाई की दुकान में हर तरह की भारतीय मिठाई मिलती है. ये विशेष रूप से बर्फ़ी के लिए फ़ेमस है. आप इनके मोतीचूर के लड्डू, बेसन के लड्डू, कलाकंद और डोडा बर्फ़ी भी ज़रूर ट्राई करें.

5. बंसल स्वीट्स

Source: justdial

बंसल स्वीट्स को न केवल दिल्ली में बल्कि अमृतसर में भी अपनी शानदार भारतीय मिठाइयों के लिए जाना जाता है. बंसल स्वीट्स 1981 में स्थापित किया गया था. तब से वे अद्भुत शुद्ध देसी घी की मिठाई, मोतीचूर लड्डू, पटिसा, मेवा मिठाई और बहुत कुछ बनाते हैं.

6. ओल्ड फ़ेमस जलेबी वाला

Source: tripadvisor

1884 में खोली गई ये जलेबियों की दुकान आज भी अपने स्वाद के लिए जानी जाती है. ये दुकान शहर की अच्छी जगहों में एक है. यहां की जलेबियां चाश्नीदार और कुरकुरी होती हैं.

7. चैन राम सिंधी कंफ़ेक्शनर्स

Source: livemint

अगर आप कराची हलवा के शौक़ीन हैं या प्यार करते हैं, तो आप बिल्कुल सही जगह आए हैं. ये दुकान मूल रूप से 1901 में लाहौर में खोली गई थी और फिर बंटवारे के बाद दिल्ली आ गई. स्वादिष्ट बेसन के लड्डू और पतीसा से लेकर काजू की बर्फ़ी और घेवर तक यहां मिलते हैं.

हमें Thank You बाद में बोलिएगा, पहले खाकर आइए.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Exit mobile version