fbpx
Connect with us

क्रिकेट

अजिंक्य रहाणे ने बताया, अभ्यास सत्र में भारतीय बल्लेबाज किन चीजों पर दे रहे हैं ध्यान

Published

on

भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान Ajinkya Rahane ने यह भी कहा कि चाहे हम जितना भी अभ्यास कर लें, क्रीज पर बल्लेबाजी करते समय हमें खुद पर विश्वास करना होगा।

क्राइस्टचर्च : भारतीय टेस्ट टीम (Indian Test Team) के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने अपने टीम के साथियों को संदेश देते हुए कहा कि न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में उन्हें ज्यादा इच्छाशक्ति और साफ मानसिकता के साथ मैदान पर उतरना होगा। दोनों टीमों के बीच दूसरा टेस्ट मैच क्राइस्टचर्च के हेग्ले ओवल मैदान पर शनिवार 29 फरवरी से शुरू हो रहा है। बता दें कि दो टेस्ट मैच की इस सीरीज का पहला टेस्ट हारकर टीम इंडिया 1-0 से पीछे है। पहले टेस्ट में टीम इंडिया के सभी बल्लेबाज कीवी तेज गेंदबाजों के सामने संघर्ष करते दिखे थे। गुरुवार को इसी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए संवाददाता सम्मेलन में अजिंक्य रहाणे उक्त बातें कहीं।

टेस्ट रैंकिंग में भारत को बड़ा झटका, कोहली की छिनी बादशाहत, शमी-बुमराह टॉप-10 से बाहर

दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ भारतीय बल्लेबाजों को उतरना होगा

रहाणे ने कहा कि इसका मतलब यह नहीं कि वह कह रहे हैं कि हमें ज्यादा आक्रामकता से खेलना होगा, लेकिन ज्यादा इच्छाशक्ति और साफ मानसिकता से मैदान पर उतरने से हमें दूसरे टेस्ट मैच में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि बतौर बल्लेबाज उन्हें लगता है कि आपको गेंदबाज के सामने अपनी इच्छाशक्ति का प्रदर्शन करना होता है। अगर आप एक स्थान पर खड़े रहे तो गेंदबाजों को ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं पड़ती।

बताया, अभ्यास सत्र में किन चीजों पर टीम दे रही है ध्यान

टेस्ट उपकप्तान ने कहा कि अभ्यास सत्र में हम इसी तरह की बातों पर ध्यान दे रहे हैं। इसके साथ इस बात पर के बारे में भी बता रहे हैं कि किस तरह से क्रीज और एंगल का उपयोग करना है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि लेकिन आप इन चीजों का कितना भी अभ्यास कर लें, पिच पर बल्लेबाजी करने के लिए अपने ऊपर आपको विश्वास करना ही होगा।

महज 16 साल की उम्र में किया बड़ा कारनामा, काशवी गौतम ने वनडे में हैट्रिक समेत झटके 10 विकेट

कीवी गेंदबाजों ने क्रीज का अच्छा उपयोग किया

पहले टेस्ट मैच में रहाणे और मयंक अग्रवाल ही दो ऐसे बल्लेबाज थे, जिन्होंने कीवी गेंदबाजों का अच्छे से सामना किया था। हालांकि ये दोनों बड़ा स्कोर नहीं कर पाए थे, लेकिन क्रीज पर अच्छा समय बिताया था। रहाणे ने एंगल वाली बात स्पष्ट करते हुए कहा कि कीवी गेंदबाजों ने वेलिंगटन में एक अच्छे एंगल का उपयोग किया था। वह क्रीज से कोने और मध्य में रहकर गेंदबाजी कर रहे थे और शॉर्ट गेंदें फेंकते समय अपना एंगल बदल रहे थे। उनकी रणनीति साफ थी।

खुद पर भरोसा करना होगा

रहाणे ने कहा कि एक बल्लेबाज के तौर पर अगर आप एक निश्चित शॉट के बारे में सोच रहे हैं तो आपको अपने उस उस शॉट के लिए तैयार करना होगा और उस पर भरोसा करना होगा। अपने शॉट पर शक नहीं करना होगा। इसीलिए उन्होंने बताया कि एक टीम के तौर पर हमने क्या गलतियां की। उन्होंने कहा कि हमें उनसे सीखना होगा। इसलिए उन्हें लगता है कि उन एंगल्स के सामने बल्लेबाजी करने का अभ्यास करना होगा। उन्होंने बताया कि हमने अभी अभ्यास किया है। इसके अलावा शुक्रवार को भी हमारा अभ्यास सत्र है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *