Connect with us

भोजन

अपने भोजनालय पर हर अपने को मिलता है खाना

Published

on

यहां प्रतिदिन 200 लोगों को निशुल्क खाना खिलाया जाता है।

आगरा. आज समय वो आ चुका है कि गरीब को दो वक्त की रोटी नसीब नहीं हो रही है। ऐसे में भूखे गरीबों को खाना खिलाकर बेहद पुण्य का काम किया जा रहा है धनौली रोड स्थित अपना भोजनालय पर। यहां प्रतिदिन 200 लोगों को निशुल्क खाना खिलाया जाता है। कुछ लोग तो ऐसे हैं, जिनका प्रतिदिन का पेट पालन यहीं पर हो रहा है।

धनौली रोड पर है अपना भोजनालय
केदारनाथ बद्रीनाथ सेवा संस्थान द्वारा गरीबों के पेट भरने का काम किया जा रहा है। अपना भोजनालय की स्थापना छह माह पूर्व धनौली रोड पर अजीत नगर के पास की गई थी। यहां पर ऐसे गरीब बच्चे, जो दिनभर रोड पर घूमते हैं, बुजुर्ग जो बेघर हो चुके हैं, ऐसी महिलाएं जो काम नहीं कर सकती, भीख मांगती हैं, उनके लिए दो वक्त के भोजन की व्यवस्था रहती है।

थोड़े से प्रयास से बन गया कारवां
श्रीकेदारनाथ बद्रीनाथ धर्मार्थ सेवा संस्थान के सचिव शम्भू दयाल शर्मा ने बताया कि थोड़े से प्रयास से यह कारवां बनता चला गया। संस्थान के अध्यक्ष डॉ. महेन्द्र कुमार पाराशर का इसमें बडा सहयोग रहा है। जब हम दोनों सड़क पर घूमने वाले इन गरीबों को भूखे पेट भटकते देखते थे, तो बड़ी पीड़ा होती थी। वहीं से संकल्प लिया, कि अब इन गरीबों को भूखे पेट रात  नहीं काटनी पड़ेगी। जब अपना भोजनालय की शुरुआत की, तो कुछ लोग खाने के लिए आते थे, लेकिन आज 200 लोगों को खाना खिलाते हैं।

समाजसेवियों की मदद
अपना भोजनालय चलाने के लिए समाजसेवियों की मदद ली जाती है। जिस माह दानियों की   कमी होती हैं, उस माह का खर्चा डॉ. महेन्द्र कुमार पाराशर और शम्भू दयाल शर्मा अकेले ही करते हैं, लेकिन भोजन खिलाने का यह सिलसिला टूटने नहीं देते हैं।

पांच गांवों को गोद लेने की तैयारी
संस्थान के अध्यक्ष डॉ. महेन्द्र कुमार पाराशर ने बताया कि जल्द ही संस्थान द्वारा पांच ग्राम पंचायतों को गोद लिया जा रहा है। संस्था द्वारा गोद ली जाने वाली ग्रांम पंचायतों में शौचालय, स्वास्थ केन्द्र, स्कूल, रोजगार केन्द्र, सोलर स्ट्रीट लाइट लगवाई जाएंगी।, गांव के लोगों के लिए मिनरल वाटर की व्यवस्था भी कराई जाएगी। ये कार्य वर्ष 2015-16 में ही कराए जाएंगे।