Connect with us

विशेष

अभी-अभी : बड़ा यात्री विमान हाइजैक…क्रू मेंबर को हाईजैकर्स ने गोली मारी

Published

on

बांग्लादेश से विमान हाईजैक करने की खबर आई है। यह विमान बांग्लादेश एयरलाइंस का बताया जा रहा है। शुरुआती जानकारी के अनुसार ढाका से दुबई जा रहे विमान को हाईजैक करने की कोशिश की गई है। इसके बाद चटगांव में इसकी इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार विमान के एक क्रू मेंबर को हाईजैकर्स जो कि आतंकी बताए जा रहे हैं उन्होंने गोली भी मारी है। हाईजैकर्स अभी भी विमान पर मौजूद हैं। पुलिस समेत अन्य सुरक्षाकर्मी एयपपोर्ट पर पहुंच गई है।

एयर ट्रैफिक कंट्रोल सेंटर को शनिवार को एयर इंडिया के एक विमान को हाईजैक करने की धमकी मिली। फोन करने वाले ने कहा कि एयर इंडिया के विमान को हाईजैक कर पाकिस्तान ले जाया गया है। इसके बाद ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्युरिटी (बीसीएएस) ने सभी एयरलाइंस और सीआईएसएफ को सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश दिए।

सुरक्षा को लेकर गाइडलाइन जारी की गईं : इसके मद्देनजर एयरपोर्ट सिक्युरिटी यूनिट, एविएशन सिक्युरिटी ग्रुप और सभी एयरलाइंस ऑपरेटरों को तत्काल प्रभाव से 8 गाइडलाइन लागू करने के लिए कहा गया है। टर्मिनल बिल्डिंग में प्रवेश, एयरसाइड, ऑपरेशनल एरिया और दूसरी एविएशन सुविधाओं पर पैनी नजर रखें। कार पार्किंग एरिया में आने वाली गाड़ियों पर भी नजर रखें।

कार बम हमले की आशंका को खत्म करें। यात्रियों, स्टॉफ और विजिटर्स के अलावा गेट पर आने वाले किसी भी व्यक्ति की बारीकी से जांच करें। यात्री सामान, कार्गो, कार्गो टर्मिनल, कैटरिंग, मेल आदि की स्क्रीनिंग और सुरक्षा करें। सीसीटीवी के साथ-साथ मैन्युअल सर्विलेंस को भी टर्मिनल बिल्डिंग और ऑपरेशनल एरिया के पास बढ़ा लें। त्वरित प्रतिक्रिया टीम तैयार रहे। पेट्रोलिंग मजबूती से हो।
सभी कार्गो गेट्स और गाड़ियों की एंट्री वाले द्वारों पर मजबूत शस्त्र सपोर्ट उपलब्ध हो।

एंटी-हाइजैकिंग बिल में फांसी की सजा का प्रावधान : 2014 में एंटी-हाइजैकिंग बिल संसद में पास हुआ था। इसमें विमान हाइजैक के मामले को अलग तरह से डील करने की बात की गई है। इसके मुताबिक, अपहरण की साजिश के दोषियों को फांसी या उम्रकैद की सजा दी जाए। इतना ही नहीं ऐसे व्यक्ति की संपत्ति भी जब्त कर ली जाएगी।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *