fbpx
Connect with us

विशेष

आरोपी को छोड़ने के बदले 1 करोड़ ले रहे थे पुलिसवाले,जब झगड़ा हुआ तो ऐसे खुली पुलिसवालों की पोल

Published

on

दिल्ली पुलिस की वर्दी पर एक बार फिर से दाग लगा है। ऑनलाइन चीटिंग केस में एक आरोपी को पकड़ने के एवज में पुलिसवालों ने एक डेढ़ करोड़ की डिमांड की। छत्तीसगढ़ में ऑनलाइन चीटिंग का एक केस दर्ज हुआ था। केस 28 सितंबर को दर्ज किया गया था। इस केस में 6 लोग आरोपी थे। 6 आरोपियों में से 5 को पकड़ा जा चुका था।

छठवां आरोपी दिल्ली के कंझावाला का रहने वाला प्रदीप प्रधान को तीन पुलिसवालों ने पकड़ा और उत्तमनगर स्थित सचिन के घर ले लाया। यहां उन्होंने प्रदीप की पत्नी नेहा से बातचीत की। पति को छोड़ने के लिए पुलिसवालों ने डेढ़ करोड़ की डिमांड की। नेहा ने जैसे-तैसे मामला 1 करोड़ में निपटाया। पति को छोड़ने के एवज में नेहा की पुलिसवालों से 1 करोड़ में डील पक्की हो गई। नेहा ने 11 लाख की पहली किस्त भी दे दी।

बाकी के पैसे मौर्या एंक्लेव में बताई जगह पर जाकर देने थे। नेहा अकेले नहीं गई वह अपने साथ 2 लोगों को लेकर गई थी। नेहा ने कहा कि वह रकम तब देगी जब वह पहले प्रदीप को छोड़ेंगे। इस बात पर पुलिस और नेहा के साथ आए लोगों के बीच झगड़ा हो गया। इससे पहले की लेनदेन होता दोनों पक्षों के बीच कहासुनी हो गई। झगड़ा इतना बढ़ गया कि बात मारपीट तक पहुंच गई। वहीं किसी ने PCR को खबर दे दी। स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंचकर तीनों पुलिसकर्मी को गिरफ्तार कर लिया।

दिल्ली पुलिस की वर्दी पर एक हार फिर से बदनुमा दाग लग गया। एक शख्स को बंधक बनाकर रखने और जबरन वसूली के मामले में तीन पुलिसकर्मियों, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर सुबे सिंह, हेड कांस्टेबल इंदू परमार व कांस्टेबल अजय को ही गिरफ्तार कर लिया गया। चौथी गिरफ्तारी इनके सचिन नाम के साथी की हुई। गिरफ्तारी के बाद रणहौला थाने के एसएचओ को भी लाइन हाजिर कर जांच के आदेश दिए गए हैं।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *