fbpx
Connect with us

यूटिलिटी

आसनसोल रेलवे स्टेशन पर खुला देश का पहला रेल रेस्तरां 'रेस्टोरेंट ऑन व्हील्स', 80 से अधिक लोग एक साथ बैठ सकेंगे

Published

on

  • रेलवे ने अगले पांच साल में ‘रेस्टोरेंट ऑन व्हील्स’ से 50 लाख रुपए की कमाई का लक्ष्य रखा
  • कोच की दीवारों पर पेंटिंग, पुरानी चीजें और केतली बल्ब ने बदला रेस्तरां का लुक

Dainik Bhaskar

Feb 27, 2020, 12:31 PM IST

लाइफस्टाइल डेस्क. इंडियन रेलवे ने पश्चिम बंगाल के आसनसोल रेलवे स्टेशन पर देश का पहला रेल रेस्तरां शुरू किया है। इसका नाम रेस्टोरेंट ऑन व्हील्स रखा गया है। पूर्वी जोन के रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, दो पुराने मेमू कोच को मिलाकर रेस्तरां तैयार किया गया  है। यह रेल यात्री और आम जनता दोनों के लिए खुला रहेगा। केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने बुधवार को इसका उद्घाटन किया। रेलवे ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी।

पहले कोच में चाय-स्नैक्स और दूसरे में लंच-डिनर
पूरा रेस्तरां एयरकंडिशन्ड है, इसके पहले कोच में चाय, स्नैक्स उपलब्ध कराया जाएगा। ṇइसे चाय-चूं नाम दिया गया है। वहीं,  दूसरे 42 सीटों वाले कोच में लोग नाश्ता, लंच और डिनर कर सकेंगे, जिसका नाम वॉव भोजन रखा गया है।  रेलवे ने अगले पांच साल में इससे 50 लाख रुपए कमाने का लक्ष्य तय किया है।

इंटीरियर को बनाया खास 
रेस्तरां लोगों को आकर्षित करे, इसके लिए इंटीरियर को काफी खूबसूरत बनाया गया है। कोच की दीवारों पर पेंटिंग के अलावा पुरानी चीजें जैसे टाइपराइटर भी इसकी खूबसूरती में इजाफा कर रहे हैं। हर टेबल पर लाइट के लिए केतली बल्ब लटकाए गए हैं जो इसे लग्जरी लुक दे रहा है। 

रेलवे कर्मियों की मांग पर शुरू किया
हाल ही में कर्मचारियों से दानापुर कोचिंग डिपो में कैफेटेरिया न होने की शिकायत रेलवे से की थी। समाधान करते हुए रेलवे नए कैफेटेरिया की शुरुआत की है। इसमें दानापुर रेलवे स्टेशन की तस्वीर भी लगाई गई है। 

25 साल पुरानी ट्रेन के कोच को रेस्तरां में बदला
रेस्तरां बनाने में 25 साल पुरानी आसनसोल-बरदवां मेमू के दो कोच का इस्तेमाल किया गया है। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, इस ट्रेन की शुरुआत 11 जुलाई 1994 में हुई थी। जिसके कुछ कोच अनफिट पाए गए और पटरी पर चलने लायक नहीं थे। उसे डेकोरेट करके खूबसूरत रेस्तरां में बदला गया है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *