Connect with us

लाइफ स्टाइल

इस वैश्या ने किया मर्दों की जरूरतों को लेकर बहुत ही बड़ा खुलासा, पढ़ कर आप चौंक जाएंगे !

Published

on

हमारे देश में भले ही लड़कियों को देवी की तरह पूजा जाता है. मगर इसी देश में ऐसी कईं लड़कियां और महिलाएं हैं,

जिन्हें ना चाहते हुए भी देह व्यापार के गोरख धंधे में कूदना पड़ता है या फिर उन्हें जबरन इस दलदल में धकेल दिया जाता है.

केवल भारत ही नहीं बल्कि, दुनिया के हर देश में 20% महिलाएं एवं लड़कियां देह व्यापार के इस काम में शामिल हैं.

इस दलदल में जाने के पीछे हर किसी की अपनी कोई ना कोई बड़ी मजबूरी है जिसको आम इंसान समझ नहीं पाते और उन्हें घिनोनी नजरों से देखते हैं.

गौरतलब, है कि जो लोग वैशायों को कोठों पर जा कर इस्तेमाल करते हैं, वही लोग बाकी लोगो के सामने उन्हें नीचा दिखाते हैं और घृणा से देखते हैं.

हालांकि, वैशायें जैसी दिखती हैं, वैसी हकीक़त में नहीं होती. उनकी असली जिंदगी हम लोगों की तरह ही ढेरों सपनो से भरी होती है.

हाल ही में देह व्यापार करने वाली एक महिला ने मर्दों की जरूरतों को लेकर एक किताब में कईं खुलासे किए.

इस किताब को पढ़ कर आप भी जान जाएंगे कि मर्द सिर्फ शारीरक जरूरतों के लिए ही वैशायों के पास नहीं जाते बल्कि,

उनके वहां जाने के पीछे कईं अन्य वजहें हो सकती हैं. चलिए जानते हैं आखिर कौन है ये महिला और मर्दों के बारे में इसकी थ्योरी क्या है.

आज हम आपको जिस महिला के बारे में बताने जा रहे हैं, वह भारतीय नहीं बल्कि ऑस्ट्रलियन हैं.

ऑस्ट्रेलिया की रहने वाली ग्वाइनेथ मॉन्टेनग्रो फिलहाल 39 साल की हैं.

इन्होने अपनी जिंदगी के लगभग 12 वर्ष देह व्यापर के इस गोरख धंधे में गुजारे हैं.

अपने इस जीवन काल में ग्वाइनेथ मॉन्टेनग्रो ने कईं परिस्थियों का सामना किया.

इन दिनों ग्वाइनेथ मॉन्टेनग्रो अपनी एक किताब को लेकर चर्चा का विषय बनी हुई हैं.

दरअसल, ग्वाइनेथ ने अपनी इस किताब में मर्दों को लेकर कईं बड़े खुलासे किए हैं जिन्हें पढ़ कर हर कोई अचंबित हो रहा है.

आपको बता दें कि ग्वाइनेथ की इस किताब का नाम ‘द सीक्रेट टैबू’ है. इस किताब में उन्होंने पुरुषों के इच्छाओं के बारे में बताया है कि

वह किस प्रकार अपनी इच्छायो पूर्ति के लिए वेश्याओं के पास जाते हैं. ग्वाइनेथ के अनुसार अपने 12 साल के

एडल्ट करियर में वह करीबन 10 हजार पुरुषों के साथ हमबिस्तर हो चुकी है. अपने स्पेशल के दौरान

उन्होंने 20 साल की मासूम लड़कियों से लेकर 70 से 80 साल तक की वृद्ध महिलाओं को भी जिस्म बेचने का यह धंधा करते हुए देखा है.

जिससे यह बात साफ जाहिर होती है कि पुरुषों को अपनी उम्र से अधिक उम्र की महिलाएं भी काफी पसंद होती है.

अपनी इस किताब में ग्वाइनेथ ने अपने बारे में बताते हुए लिखा कि मात्र 18 वर्ष की आयु में उसके साथ गैंगरेप हुआ था.

यह गैंगरेप उसके साथ एक महिला नहीं क्लब में ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर करवाया था

जिसके बाद करीबन 8 से 10 लोगों ने उसे जानवरों की तरह नोचा था. इस घटना के बाद लोगों ने उन्हें ठुकरा दिया था.

जिसके बाद उनके पास देह व्यापार के धंधे में जाना ही एकमात्र रास्ता बचा था. आखिरकार 21 वर्ष की आयु में ही ग्वाइनेथ इस काम की शुरुआत की

जिसके बाद शहर के मशहूर नामी गिरामी वकील , राजनेता, गीतकार, संगीतकार आदि उनका इस्तेमाल करने के लिए पहुंच जाते थे.

ग्वाइनेथ ने अपनी इस किताब में बताया कि अधिकतर लोग उनके पास केवल इसलिए आते थे कि वह कुछ समय अपने परिवार से दूर अकेले में

और शांति में बिता सके. इसके इलावा बहुत से पुरुष उनके पास इसलिए आते थे कि वह उनमें अपना दोस्त ढूंढ सके और अपने दिल की हर बात को शेयर कर सकें.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Exit mobile version