Connect with us

मनोरंजन

कभी महीने के हजार रुपये कमाता था सुपरस्टार सूर्या सिंघम, अब जीते हैं राजाओं जैसी लाइफ़

Published

on

दक्षिण भारतीय फिल्मों के मशहूर अभिनेता सूर्या शिवकुमार आज अपना 46वां जन्मदिन मना रहे हैं. आज ही के दिन (23 जुलाई) को उनका जन्म तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में हुआ था. वे तमिल फिल्म फिल्म इंडस्ट्री के एक चर्चित और सफल कलाकार हैं. आइए आज आपको सूर्या शिवकुमार के जन्मदिन के ख़ास अवसर पर हम आपको उनकी ज़िंदगी से जुड़ी कुछ ख़ास बातों के बारे में बताते हैं…

surya shivkumar

अब तक सूर्या शिवकुमार कई सुपरहिट फिल्मों में काम कर चुके हैं. सूर्या की हिंदी दर्शकों के बीच में भी एक अच्छी और मजबूत पकड़ है. आज उन्हें तमिल सुपरस्टार्स में गिना जाता हैं. उन्हें ‘सिंघम’ नाम से भी जाना जाता हैं. गौरतलब है कि सूर्या शिवकुमार तमिल एक्टर शिवकुमार के बेटे हैं. हालांकि उन्होंने अपनी पहचान संघर्ष और कड़ी मेहनत से बनाई हैं.

सूर्या फिल्मों में काम करने के बाद आज काफी लोकप्रिय हैं और वे एक लग्ज़री लाइफ जीते हैं, हालांकि उनके फैंस को यह जानकर हैरानी हो सकती है कि सूर्या शिवकुमार का मन कभी फिल्मों में काम करने का था ही नहीं. शुरुआत में उन्होंने कपड़े के कारखाने में काम किया. इस दौरान उन्होंने किसी को इस बात की ख़बर नहीं लगने दी कि वे अभिनेता शिवकुमार के बेटे हैं. वे अपनी पहचान छिपाकर कपड़े के कारखाने में काम करते थे.

surya shivkumar

कपड़े के कारखाने में काम करके सूर्या ने करीब 8 हजार रुपये कमाए. यहां उन्होंने आठ माह काम किया और एक माह का वेतन उन्हें 1 हजार रूपये मिलता था. अपने एक साक्षात्कार में सूर्या ने अपने संघर्ष के दिनों को याद करते हुए बताया था कि, ”उन्होंने इस मुकाम तक पहुंचने के लिए काफी ज्यादा मेहनत की है और कड़ी मेहनत के बाद ही उन्हें ये मुकाम मिला है.”

surya shivkumar

बता दें कि, महज 20 साल की उम्र में सूर्या की फिल्मों में एंट्री हो जाती. उन्हें पहली फिल्म के रूप में साल 1995 में आई ‘असाई’ में लीड रोल ऑफ़ हुआ था, लेकिन फिल्मों में रुचि न होने के कारण सूर्या ने इस फिल्म के ऑफ़ को ठुकरा दिया था. इसके बाद उन्हें 1997 में फिल्म ‘नेररुक्कू नेर’ मिली थी. इसके निर्देशक वसंत थे और निर्माता मणिरत्नम. सूर्या ने इस फिल्म के लिए हामी भर दी और उनके फ़िल्मी करियर का साल 1997 में आगाज हो गया.

सूर्या को एक खास और अलग पहचान बनाने के लिए संघर्ष और कड़ी मेहनत से गुजरना पड़ा है. अपने एक साक्षात्कार में सूर्या कह चुके हैं कि, ”शुरुआती दिनों में मुझे काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. आत्मविश्वास, फाइटिंग और डांसिंग में कमी के चलते फिल्मों में सीन्स के दौरान परेशानी होती थी और उस दौरान मेरे मेंटर रघुवरन ने मदद की और बताया कि किस तरह से अपने पिता से अलग पहचान बना सकते हैं.”

surya

बता दें कि, सूर्या शादीशुदा हैं और उनके दो बच्चे एक बेटी दीया और एक बेटा देव हैं. सूर्या की शादी 11 सितंबर 2006 को अभिनेत्री ज्योतिका से हुई थी. दोनों साल 1999 में फिल्म ‘पूवेल्लम केत्तुप्पर’ में साथ काम कर चुके हैं और इसके बाद दोनों के अफेयर की चर्चा होने लगी थी. बाद में दोनों ने शादी कर इन खबरों को सही साबित कर दिया था.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *