fbpx
Connect with us

लाइफ स्टाइल

किन्नरों को दान देना अच्छा माना जाता है, क्यों जानिए

Published

on

वैसे तो संसार का निर्माण स्त्री-पुरूष के परस्पर संयोग से होता है, लेकिन स्त्री-पुरूष के अलावा एक समुदाय और होता है जिसे “किन्नर”नाम दिया गया है। हम अधिकतर इन्हें शुभ अवसरों पर दुआ देते हुए देखते हैं। ये लोग बधाइयां और ढेर सारा आशीर्वाद देकर नेग मांगते हैं।

ईश्वर से किन्नरों को ऋणात्मक शक्तियों को खत्म करने का वरदान मिला हुआ है सवाल ये उठता है कि ये किन्नर लोग नेग क्यों मांगते हैं। दरअसल, इसका कारण रामायण काल के पीछे छिपा है।

जब भगवान राम चौदह वर्ष का वनवास पूरा कर अयोध्या लौट रहे थे,तब उनको अयोध्या नगर के बाहर कुछ नयी बस्तियां दिखाई दी। जब भगवान राम ने उन लोगों के बारे में जानकारी ली,तब उन्हें पता चला कि कुछ किन्नर समुदाय के लोग हैं जो यहां रहते हैं। भगवान राम के प्रश्न पूछने पर किन्नरों ने कहा कि जब आप वनवास के लिए प्रस्थान कर रहे थे, तब आपने अपने पीछे आते हुए अयोध्यावासियों को लौटा दिया।उस वक्त आपने हमारे लिए कोई आदेश नहीं दिया, तभी से हम सब यहां रहकर आपका इंतजार कर रहे हैं।

यह सब जानकर भगवान राम को अफसोस हुआ और उसके बाद सारे किन्नरों को अयोध्या में ले गए।इस तरह किन्नरों का प्रेम और आस्था को देखकर भगवान राम ने उन्हें नई पीढी को आशीर्वाद द्वारा फलीभूत कर देने का आशीर्वाद दिया

इसी कारण से ये किन्नर लोगों को बधाइयां और ढेर सारा आशीर्वाद देकर नेग मांगते हैं। इसीलिए लोगों को किन्नरों का कभी भी अनादर नहीं करना चाहिेए। अगर लोगों ने ऐसा किया तो उनका पतन निश्चित है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *