Connect with us

विशेष

कोरोना के बढ़ते कहर के बीच पूरे यूपी में वीकेंड लॉकडाउन का ऐलान

Published

on

कोरोना वायरस के महासंकट के बीच उत्तर प्रदेश में वीकेंड लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया है. यूपी सरकार के अनुसार, अब पूरे प्रदेश में शनिवार और रविवार को लॉकडाउन रहेगा. वहीं, जिन जिलों में 500 से ज्यादा एक्टिव केस हैं, वहां पर नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा.

उत्तर प्रदेश में वीकेंड लॉकडाउन का ऐलान किया गया (फाइल फोटो: PTI)

वीकेंड लॉकडाउन के दौरान उत्तर प्रदेश में बेवजह बाहर निकलने पर मनाही होगी, वहीं सिर्फ जरूरी क्षेत्र से जुड़े लोगों को बाहर निकलने की छूट दी जाएगी. इसके अलावा कोरोना वैक्सीनेशन, मेडिकल क्षेत्र से जुड़े लोगों को भी छूट दी जाएगी.

यूपी सरकार ने अपने निर्देश में अपील की है कि जहां तक जरूरी हो, घर से बाहर न निकलें. पर्व और त्योहार घर पर ही मनाएं, निकलें तो मास्क जरूर लगाएं. सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ न हो.

आपको बता दें कि यूपी सरकार का ये फैसला तब आया है, जब बीते दिन इलाहाबाद हाईकोर्ट ने राज्य के पांच शहरों में संपूर्ण लॉकडाउन का निर्देश दिया था. लेकिन राज्य सरकार ने संपूर्ण लॉकडाउन करने से इनकार कर दिया था और सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था. लेकिन अब राज्य सरकार ने सिर्फ वीकेंड लॉकडाउन का निर्देश दिया है.

प्रवासी मजदूरों के लिए व्यवस्था, कई जिलों में भी बढ़ेंगे बेड्स

उत्तर प्रदेश सरकार ने इस बीच महाराष्ट्र, राजस्थान और दिल्ली से बड़े स्तर पर मजदूरों की वापसी के लिए भी निर्देश दिए हैं. मजदूरों के लिए सीमा पर ही टेस्टिंग की व्यवस्था की जाएगी.

राज्य सरकार का कहना है कि कोरोना के ताजा हालात की वजह से लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, वाराणसी,झांसी, गोरखपुर, मेरठ जनपदों सहित प्रदेश के सभी जिलों में कोविड बेड की संख्या को दोगुना करने की आवश्यकता है. फौरी तौर पर सभी जिलों में 200-200 बेड का विस्तार किया जाए. यह बेड ऑक्सीजन की सुविधा से लैस हों.

लखनऊ के बिगड़ते हालात को देखते हुए सरकार ने केजीएमयू तथा बलरामपुर चिकित्सालय को पूरी क्षमता के साथ डेडिकेटेड कोविड अस्पताल के तौर पर पूरी क्षमता के साथ संचालित करने का निर्देश दिया है. अभी लखनऊ में करीब साढ़े चार हजार बेड्स हैं, लेकिन इनकी संख्या बढ़ाने को कहा गया है.

 

Source AAJtak

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *