Connect with us

दुनिया

कोरोना महामारी के दौर में अरबपतियों ने खूब कमाया मुनाफा, जमा कर ली 10,000 करोड़ डॉलर की संपत्ति

Published

on

जर्मन कंपनी पीडब्ल्यूसी और स्विस बैंक यूबीएस की कंसल्टिंग फर्मों के किए एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि कोरोना महामारी के दौरान दुनिया भर के अरबपति पहले से भी ज्यादा अमीर हो गए हैं। जुलाई के अंत में दुनिया के दो हजार से भी ज्यादा अरबपतियों की संपत्ति रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच कर दस हजार करोड़ डॉलर से भी ज्यादा हो गई। 2017 में यह नौ हजार करोड़ डॉलर से भी कम थी और उस समय यह रिकॉर्ड संख्या थी। 2018 और 2019 में यह कम होती गई और 2020 में महामारी के दौरान अरबपतियों को एक बार फिर खूब मुनाफा होता देखा गया।

इस स्टडी के अनुसार स्टॉक मार्केट में बेहतरी इसकी एक वजह है और दूसरी वजह तकनीक और स्वास्थ्य सुविधाओं में ज्यादा निवेश है। दुनिया भर में कुल 2189 ऐसे लोग हैं जिनकी संपत्ति एक अरब डॉलर से अधिक है। संपत्ति का मूल्यांकन करने के लिए बैंक अकाउंट, प्रॉपर्टी, लग्जरी सामान इत्यादि का हिसाब जोड़ा जाता है और किसी भी तरह के कर्ज को कुल मूल्य में से हटा लिया जाता है।

अकेले जर्मनी में जुलाई के अंत में अरबपतियों की संपत्ति करीब 595 अरब डॉलर तक पहुंच गई थी। हालांकि कोरोना काल की शुरुआत में इन लोगों ने भी घाटा झेला था। इसके अलावा एक अरब डॉलर से अधिक संपत्ति रखने वालों की तादाद देश में 114 से बढ़ कर 119 हो गई।

यूबीएस और पीडब्ल्यूसी पिछले 25 साल से अरबपतियों की दौलतर का हिसाब रख रहे हैं. इस दौरान दुनिया भर के रईसों की दौलत में पांच से दस गुना का इजाफा देखा गया है। 25 साल पहले जहां सभी अरबपतियों की संपत्ति मिला कर मात्र एक हजार करोड़ डॉलर की थी, अब वह दस हजार करोड़ डॉलर की हो चुकी है। इस रिपोर्ट के लिए यूबीएस और पीडब्ल्यूसी ने 43 देशों में 60 अरबपतियों से बातचीत की।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.