Connect with us

विशेष

कौन हैं अलका लांबा, किन विवादों से जुड़ चुका है नाता, कांग्रेस से क्या है रिश्ता

Published

on

आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा बीते कुछ समय से पार्टी हाईकमान से तनातनी को लेकर चर्चा में हैं। इस बीच ये भी खबर आ गई है कि वह कांग्रेस में शामिल हो सकती हैं। अलका का कहना है कि कांग्रेस ने उनसे संपर्क नहीं किया है लेकिन अगर वहां से कोई बात होती है तो वह कांग्रेस में जाने को तैयार हैं। यह पहला मौका नहीं है जब वह विवादों में आई हैं। अलका लांबा और विवादों का पुराना नाता रहा है। बता दें कि वह आम आदमी पार्टी में शामिल होने से पहले कांग्रेस में ही थीं। भाजपा विधायक ओपी शर्मा से झड़प से लेकर दिल्ली की एक शॉप में तोड़फोड़ के साथ ही राजीव गांधी पर दिल्ली विधानसभा में आप द्वारा लाए गए प्रस्ताव के विरोध में खड़े होने के साथ ही वह कई विवादों से जुड़ी रही हैं। जानिए उनके जीवन से जुड़े विवाद और अनछुए पहलू जो बहुत कम लोगों को पता हैं-

alka lamba

आप की तेज तर्रार विधायक अलका लांबा की शादी लोकेश कपूर से हुई थी मगर कुछ समय बाद ही दोनों अलग हो गए। उनके पति लोकेश ने उन पर 2003 में आरोप लगाया था कि अलका ने लोकेश का सुभाष नगर वाला मकान अवैध तरीके से हथिया कर अपना राजनीतिक दफ्तर बना लिया है।

alka lamba

इसके बाद अलका लांबा 2012 में उस वक्त सुर्खियों में आई थीं, जब उन्होंने गुवाहाटी छेड़छाड़ मामले में पीड़िता का नाम सार्वजनिक कर दिया था। जिसकी उन्हें सजा भी हुई थी।

alka lamba

बता दें कि अलका अपना एक एनजीओ भी चलाती हैं जिसका नाम गो इंडिया फाउंडेशन है। यह एनजीओ पहली बार 2015 में चर्चा में आया था। उस साल एनजीओ के माध्यम से 15 अगस्त के दिन एक साथ 65 हजार लोगों ने रक्तदान किया था।

alka lamba

अलका लांबा ने अपना राजनीतिक जीवन 1994 में शुरू किया था। 1994 में वह डीयू से बीएसएससी का कोर्स कर रही थीं तभी वह एनएसयूआई (कांग्रेस की छात्र इकाई) की ओर से स्टेट गर्ल कनवीनर का पद दिया गया और देखते ही देखते अलका एनएसयूआई की राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गईं।

alka lamba

अलका लांबा पर 2015 में यह आरोप लगा था कि उन्होंने 9 अगस्त के दिन भाजपा विधायक ओम प्रकाश शर्मा की दुकान में अनाधिकार प्रवेश किया और कैश बिल मशीन को फेंक दिया था। इसके साथ ही उन पर यह भी आरोप लगा था कि उन्होंने काउंटर में तोड़फोड की और पुलिसकर्मियों के काम में बाधा पहुंचाई।

alka lamba

अलका लांबा क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के रिटायरमेंट टेस्ट के दौरान भी चर्चा में आई थीं। मुंबई में जब उस मैच में राहुल गांधी पहुंचे थे तो उन्हें दुर्भाग्यशाली (अनलकी) बताया गया था। उस दौरान अलका लांबा कांग्रेस में ही थीं और उन्होंने ही सबसे पहले मीडिया में आकर राहुल गांधी का बचाव किया था।

alka lamba

कुछ साल पहले अलका लांबा पर सेक्स रैकेट चलाने का गंभीर आरोप भी लगा था। दरअसल उस समय अलका लांबा और पूर्व आप विधायक विनोद कुमार बिन्नी के बीच सोशल मीडिया पर एक पोस्ट को लेकर बवाल हो गया था। इसी के बाद अलका पर सेक्स रैकेट चलाने का आरोप लगा था। अलका की शिकायत पर क्राइम ब्रांच की साइबर सेल ने इस मामले में केस भी दर्ज किया था।

alka lamba

अलका ने गोपाल राय को लेकर भी एक विवादित बयान दिया था, जिसके बाद उन्हें आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता पद से 2 महीने के लिए हटा दिया गया था। उन्होंने तब कहा था कि पार्टी की इस कार्रवाई के बाद उन्होंने कहा है कि मैं पार्टी के फैसले का सम्मान करती हूं और मैं अनुशासित कार्यकर्ता हूं और अनजाने में कोई गलती हुई तो उसका पश्चाताप करूंगी।

अलका लांबा

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का भारत रत्न सम्मान वापस लेने संबंधी आप विधायकों के विधान सभा में पेश कथित प्रस्ताव का विरोध करने के बाद से अलका लांबा से पार्टी नेतृत्व नाराज है। इसी के बाद केजरीवाल ने उन्हें ट्विटर पर अनफॉलो भी कर दिया है।

आप नेता अलका लांबा

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *