Connect with us

टैकनोलजी

गजब का कूलर: AC से भी ज्यादा कमरे को ठंडा करता है ये कूलर, बिजली का बिल आता है 1 पंखे के बराबर

Published

on

लेकिन रुकिए जनाब… ये बात सौ प्रतिशत सच है। ये कारनामा कर दिखाया है भारतीय इंजीनियरों ने। हम यहां आपको बता रहे हैं ‘वायु हाइब्रिड चिलर्स’ की जो दुनिया का पहला ऐसा कूलर है जिसमें कम्प्रेसर लगा हुआ है। इंदौर की वायु होम एप्लायंसेस ने इस कूलर को बनाया है। अपनी यूनिक टेक्नोलॉजी के लिए इसे पेटेंट भी मिला है। इस यूनिक टेक्नोलॉजी का आविष्कार वायु होम एप्लायंसेस के डायरेक्टर प्रणव मोक्षमार ने किया है। उन्होंने पत्नी प्रियंका के साथ मिलकर अपनी यह कंपनी की शुरुआत की है जिसका आज टर्नओवर 50 करोड़ रुपए को पार कर गया है।

‘वायु हाइब्रिड चिलर्स’ वातावरण में 30 से 42 डिग्री सेल्शियस या इससे भी अधिक तापमान होने पर भी कमरे को 22 से 24 डिग्री सेल्शियस तक ठंडा कर देता है। साथ ही यह उमस भी नहीं होने देता। फिर भी इसमें AC की तुलना में बिजली की खपत 90 फीसदी तक कम होती है। यानी एयर कंडीशनर की तुलना में बिजली का बिल 5000 रुपए महीने की जगह 500 रुपए महीना हो जाता है।

यह कूलर एयर कंडिशनर की तरह ठंडी हवा दे सके, इसके लिए इसमें कम्प्रेसर लगाया गया है। यह कम्प्रेसर कूलर के पानी को ठंडा करता है और वही पानी कूलर के पैड में जाता है। इससे कूलर द्वारा हवा को ठंडा करने की कैपेसिटी बढ़ जाती है। इसे घरों से लेकर फैक्ट्रीज, होटल्स, बैंक्वेट, मेस, रेस्टॉरेंट्स कहीं भी लगाया जा सकता है। वायु ने रेसिडेंशियल और कमर्शियल दोनों के लिए अलग-अलग मॉडल लॉन्च किए हैं।

ऐसे होती है बिजली की बचत: घरों में लगने वाले एसी आमतौर पर डेढ़ से 2 टन के होते हैं। अगर 2 टन के एसी से कंपेयर किया जाए तो इसका कवरेज एरिया 200 स्क्वॉयर फीट है, वहीं वायु क्लासिक कूलर भी इतने ही एरिया में ठंडक देता है। 2 टन का एसी दिन में 10 घंटे चलाने पर 24000 वॉट की बिजली खाता है जबकि वायु क्लासिक सिर्फ 2400 वॉट लेता है। इस हिसाब से महीने में 2 टन का एसी सात लाख 20 हजार वॉट बिजली की खपत करता है, जबकि ये कूलर सिर्फ 75,000 वॉट बिजली खाता है।

पॉवर कंजम्पशन के बाद खर्च की बात करें तो वायु क्लासिक कूलर एक महीने में 75 यूनिट बिजली खाता है, जबकि 2 टन का एसी 720 यूनिट बिजली की खपत करता है। औसतन 7 रुपए यूनिट के हिसाब से वायु क्लासिक कूलर का महीने भर का खर्च 525 रुपए आएगा जबकि एसी का खर्चा 5040 रुपए होगा। सात महीने रोजाना 10 घंटे वायु कूलर के इस्तेमाल में आपका खर्च 3675 रुपए आएगा, जबकि AC का खर्चा 35280 रुपए आएगा। इस लिहाज से एक पूरे सीजन में ये कूलर 90 प्रतिशत तक बिजली बचाएगा।

घरों में इस्तेमाल करने के लिए वायु के दो प्रोडक्ट हैं – वायु क्लासिक और वायु कम्फर्ट। इंडस्ट्रियल प्रोडक्ट वायु के पांच मॉडल हैं- MIG 18, MIG 21+, MIG 24, MIG 24+, MIG 36। इसके प्रोडक्ट की कीमत शुरू होती है 26,990 रुपए से 2.50 लाख रुपए में उपलब्ध है। अगर आप भी अपने घर या ऑफिस में ये कूलर लगाना चाहते हैं तो http://vaayuindia.com/products इस लिंक पर जाकर अपना कूलर बुक करा सकते हैं।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *