Connect with us

विशेष

जूता चुराई की रस्म पर दुल्हे ने दी गा ली तो हुआ ये अंजाम, गु स्साई दुल्हन ने कर दिया यह काम

Published

on

देश में बहुत सी ऐसी घटनाएं सामने आती है जिन्हें सुनकर हंसी भी आती है, मन उदास भी हो जाता है, गु स्सा भी आता है और अजीब भी लगता है। मगर यहां हम आपको एक ऐसी खबर बताएंगे जिसे सुनकर आपको हंसी भी आएगी और आप कहेंगे कि दुल्हन ने जो कदम उठाया वो हर किसी के बस की बात नहीं है। ये मामला एक शादी का है और जूता चुराई की रस्म पर दुल्हे ने दी गा ली तो हुआ ये अंजाम, फिर दुल्हन ने लिया सख्त कदम।

जूता चुराई की रस्म पर दुल्हे ने दी गा ली तो हुआ ये अंजाम

ये घटना यूपी के मुजफ्फरनगर में शादी के दौरान की है जब एक दूल्हे ने दुल्हन के घर महिलाओँ के साथ गा ली-गलौज की। वधू पक्ष ने उसको घर से बाहर निकालकर पूरी बारात ही वापस लौटा दी। घटना जिले के भोराकलां थाने के सिसौली गांव की है और बारात दिल्ली से आई थी। इस घटना के बाद दुल्हन पक्ष ने लड़े और उसके पिता को बंधन बना लिया। शादी में जूता चुराने का एक रस्म होता है और वधू पक्ष के घर की महिलाओं ने दूल्हे का जूता चुराकर उनसे वापस लेने के लिए पैसे मांगे थे। 22 साल के दुल्हे विवेक कुमार इससे भड़क गया और उसने महिलाओं को गा ली दी। जब इस बात का पता दुल्हन को चला तो उसने शादी करने से ही इंकार कर दिया और बात यहीं खत्म नहीं हुई दुल्हन ने दूल्हे को जाने देने से पहले दहेज के रूप में 10 लाख रुपये भी वापस मांगे। जब दुल्हन पक्ष के लोगों ने दूल्हे पक्ष के लोगों को शांत करने की कोशिश की तो दूल्हा भड़ गया और गा लियां देने लगा। इसके अलावा दूल्हे ने व्यक्ति को एक चांटा भी मा र दिया।

दुल्हन के घरवालों ने दूल्हे, उसके पिता और दो रिश्तेदारों को बंधन बनाकर पूरी बारात वापस लौटा दी। घटना स्थल पर पुलिस को बुलाया गया और जब पुलिस आई तो उन्होंने मामले को शांत कराया। भोराकलां थाने के थानेदार ने बताया, ‘दोनों पक्षों में से किसी भी रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई तो दोनों पक्षों को समझौता करवाकर हमने सबको छोड़ दिया।’ भारतीय किसान यूनियन के मुखिया नरेश टिकैत ने इस मामले में दखल देने की कोशिश की थी।

नरेश गांव के मुखिया हैं और उन्होंने कहा कि काफी समझाने के बाद भी दुल्हन ने शादी नहीं की उसने उससे शादी करने से इंकार ये कहकर किया कि जिसे लड़कियों की इज्जत करनी नहीं आती वो उससे शादी नहीं कर सकती।

हालांकि दोनों पक्ष के बुजुर्ग लोगों ने इस मामले में समझौता करवाकर शांत करवाया है। अब इनकी आगे शादी हुई नहीं हुई इनके बीच क्या समझौता हुआ इसके बारे में हमारे पास कोई सूचना नहीं है। मगर ये खबर अजीब थी फिर भी इससे ये सीखने को मिलता है कि आज के समय में बारात वापस लौटना कोई बड़ी बात नहीं है बस हमारा आत्मसम्मान कहीं से भी गिरना नहीं चाहिए।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *