Connect with us

विशेष

तीन सिखों ने 32 कश्मीरी लड़कियों को सुरक्षित उनके घर पहुंचा कर पेश की धार्मिक सौहार्द की मिसाल

Published

on

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से ही वहां इंटरनेट और मोबाइल सेवाएं बंद कर दी गई थीं. इसके चलते देश के दूसरे हिस्सों में रहने वाले कश्मीरियों का अपने परिवार वालों से संपर्क कर पाना मुश्किल हो गया था. पुणे में स्किल इंडिया के तहत नर्सिंग का कोर्स करने आईं 32 कश्मीरी लड़कियों को भी अपने परिवार की चिंता सता रही थी. उनकी मदद के लिए दिल्ली के रहने वाले 3 सिख फरिश्ता बनकर सामने आए और उन्हें सुरक्षित उनके घर पहुंचाया.

ये सभी कश्मीरी लड़कियां 5 अगस्त से कुछ दिनों पहले ही जम्मू-कश्मीर से नर्सिंग का कोर्स करने पुणे पहुंची थी. लेकिन आर्टिकल 370 के हटाए जाने के बाद उन्हें अपने परिवारवालों की चिंता सताने लगी. साथ उनके मन ये भी भय था कि कहीं उनके साथ भी कोई अनहोनी न हो जाए. क्योंकि उनके दिमाग़ में पुलवामा हमले के समय कुछ कश्मीरी छात्रों पर हुए हमले की तस्वीरें घूम रही थीं.

kashmir

Source: timesofindia

इस मुश्किल की घड़ी में दिल्ली के तीन सिख उनके लिए महीहा बनकर सामने आए. उन्होंने धारा 370 हटाए जाने के बाद कश्मीरी लोगों की मदद के लिए फ़ेसबुक लाइव के ज़रिये उनसे संपर्क करने को कहा था.

32 kashmiri girls

Source: timesofindia

इसके बाद पुणे में रहने वाली इन सभी लड़कियों ने अपनी सुपरवाइज़र रुकैया किरमानी की मदद से दिल्ली में रहने वाले हरमिंदर सिंह, बलजीत सिंह और अरमीत सिंह से संपर्क किया. इन तीनों दोस्तों ने चंदा इकट्ठा कर सभी लड़कियों के जम्मू कश्मीर जाने का इंतज़ाम किया.

32 kashmiri girls

Source: timesofindia

लेकिन ये इतना आसान भी नहीं था. क्योंकि जम्मू-कश्मीर जाने के लिए पुणे से मिलने वाली फ़्लाइट का किराया काफ़ी बढ़ गया था. इसके बाद इन तीनों दोस्तों ने तय किया कि वो स्वयं उन्हें उनके घर तक छोड़कर आएंगे.

32 kashmiri girls

Source: timesofindia

तीनों दोस्त पहले उन्हें लेकर दिल्ली पहुंचे यहां से फ़्लाइट से श्रीनगर पहुंचे. ये सभी लड़कियां जम्मू-कश्मीर के अलग-अलग ज़िलों में रहती थीं. इन्हें उनके घर तक पहुंचाने इंडियन आर्मी ने भी उनकी हेल्प की.

32 kashmiri girls

Source: timesofindia

सभी छात्राओं को भारतीय सेना के वाहनों के द्वारा बारामूला,बड़गाम, शोपियां, कुपवाड़ा और श्रीनगर समेत पांच अलग ज़िलों में पहुंचाया गया. अपने बच्चों को सही सलामत घर पहुंचा देखकर उनके माता-पिता के आंखों में आंसू आ गए. साथ ही उन्होंने तीनों दोस्तों और भारतीय सेना का शुक्रिया भी अदा किया.

32 kashmiri girls

Source: timesofindia

सोशल मीडिया पर इन लड़कियों के वीडियो तेज़ी से शेयर किए जा रहे हैं. साथ ही लोग इन तीनों सिखों की जमकर तारीफ़ कर रहे हैं.

कश्मीरी लड़कियों को सही सलामत उनके घर पहुंचा कर इन सिखों ने मानवता की मिसाल पेश की है.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.