fbpx
Connect with us

दुनिया

तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान का बेतुका बयान, कहा- कश्मीर सिर्फ PAK का नहीं, हमारे लिए भी है अहम

Published

on

इस्लामाबाद। जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir Issue ) मामले पर एक बार फिर से तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तैयप एर्दोगान ( Turkish President Recep Tayyip Erdogan ) ने विवादित बयान दिया है। कश्मीर मामले पर टांग अड़ाते हुए एर्दोगान ने इसे तुर्की के लिए अहम करार दिया है।

पाकिस्तानी संसद ( Pakistani Parliament ) के दोनों सदनों को संबोधित करते हुए एर्दोगान ने कहा कि कश्मीर में लोगों पर जुल्म किया जा रहा है, ऐसे में वह चुप नहीं रहेंगे। उन्होंने पाकिस्तान को बिना किसी शर्त समर्थन देने का वादा भी किया।

बालाकोट की कार्रवाई अभी भी सहमा है पाकिस्तान, कहा-भारत कर सकता है बड़ी कार्रवाई

एर्दोगान ने अपने पूरे भाषण में इस्लाम ( Islam ) और मुसलमान ( Muslim ) की ही बात करते रहे रहे। उन्होंने कहा कि कोई जमीन पर खींची हुई लकीर इस्लाम मानने वालों को अलग नहीं कर सकती है।

बता दें कि इससे पहले भी कश्मीर मामले को लेकर तुर्की ने भारत की आलोचना की है। इससे पहले UNSC में भी तुर्की ने इस मुद्दे को उठाया था। इसपर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई थी।

मुस्लिमों को एकजुट होने की जरुरत

पाकिस्तानी संसद को संबोधित करते हुए एर्दोगान ने भारत के साथ-साथ अमरीका ( America ) पर भी जमकर हमला बोला। उन्होंने अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( US President Donald Trump ) पर कड़े प्रहार करते हुए कहा कि मध्य-पूर्व में अमरीका का पीस प्लान उनका आक्रमणकारी नीयत है।

उन्होंने कहा कि दुनिया में जहां पर भी मुसलमान मारे जा रहे हैं वहां मुस्लिम देशों को एकजुट होने की जरूरत है। अपने बयान में एर्दोगान ने पाकिस्तान को आतंकवाद से पीड़ित बताया, जबकि पूरी दुनिया को पता है कि पाकिस्तान आतंकवाद का जनक और पालन-पोषण करता है।

एर्दोगान ने कहा कि FATF में तुर्की बिना किसी शर्त पाकिस्तान को समर्थन करेगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान उनका दुसरा घर है। ये सुनकर इमरान खान बेहद खुश हो गए। एर्दोगान ने कहा कि आपका (पाकिस्तान) दर्द मेरा दर्द है। हमारी दोस्ती प्यार और सम्मान पर आधारित है।

EU-भारत शिखर सम्मेलन से पहले इसी हफ्ते 25 विदेशी राजदूतों का प्रतिनिधिमंडल करेंगे घाटी का दौरा

उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान की संसद को संबोधित कर वे खुद को धन्य पा रहे हैं। बता दें कि इससे पहले 2016 में भी उन्होंने पाकिस्तानी संसद को संबोधित किया था। इमरान खान ने स्वयं एर्दोगान की गाड़ी ड्राइव कर उन्हें राष्ट्रपति भवन तक ले गए, जिसे लेकर सोशल मीडिया पर लोगों ने मजाक भी उड़ाया और पूछा कि क्या इमरान खान ने पेशा बदल लिया है?

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *