Connect with us

भोजन

नकली-मिलावटी दूध पी रहे हैं भारत के 80 प्रतिशत लोग..इस तरह असली दूध को पहचानें वरना मौ’त पक्की

Published

on

कैल्शियम की कमी होने पर डॉक्टर्स दूध पीने की सलाह देते हैं लेकिन आजकल दूध ऐसा मिलावटी आता है जिसे हम पीते तो हर दिन हैं लेकिन शरीर में लगता नहीं। ऐसा तभी होता है जब दूध में कुछ ना कुछ ऐसी चीज मिलाई जाती है जिससे दूध सफेद तो लगता है लेकिन उसमें कुछ ना कुछ मिलावट करके हमें दिया जाता है और उसे ज्यादातर लोग पीते भी हैं।

फिर उस दूध को आप अपने घर में बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक को देते हैं जो सेहत के लिए बहुत ही हानिकारक होता है। दूध के बहुत ज्यादा फायदे होते लेकिन आपकी एक लापरवाही आपकी सेहत बनाने के बजाए बिगाड़ सकती है। आप जो दूध पी रहे हैं कहीं वो मिलावटी तो नहीं ? अगर ऐसा है तो तुरंत दूध को चेक करिए।

आप जो दूध पी रहे हैं कहीं वो मिलावटी तो नहीं ? भारत में ज्यादातर घरों में रात के खाने के बाद गरम-गरम दूध पीने का प्रचलन है। इसे लोग दशकों से करते आ रहे हैं लेकिन आज का दौर बदल गआ है और इसमें लोग अपवा प्रोडक्ट अच्छा दिखाने के लिए अच्छा बोलते हैं लेकिन वो असल में सही हो ये जरूरी नहीं होता। आज हम आपको दूध मिलावटी है या नहीं इसके 7 जबरदस्त टिप्स देने वाले हैं जिसे आप एक बार तो जरूर आजमाएं।

1-अगर आपको पहचानना है कि आपके घर जो दूध आया है उसमें पानी मिला है या नहीं तो सबसे पहले किसी लकड़ी या पत्थर पर दूध की एक या दो बूंद गिराकर देखिए, अगर दूध बहकर नीचे गिरता है और उस पत्थर में सफेद निशान बन गया तो समझ लीजिए उसमें पानी नहीं मिला है।

2-दूध मे डिटर्जेंट मिला है या नहीं ये पता लगाने के लिए थोड़ा सा दूध एक शीशी में लकर जोर से हिलाइए। अगर दूध में झाग निकलने लगे तो समझिए उसमें डिटर्जेंट मिला है।

3- कभी-कभी दूध को गाढ़ा करने के लिए उसमें साबुन भी मिला देते हैं। अगर इस मिलावट को पकड़ना है तो घर में आए दूध को स्मैल करके देखिए। अगर दूध नकली होगा तो उसमें साबुन की महक आएगी वरना उसमें दूध वाली ही महक आएगी।

4-दूध को अपने दोनों हाथों में लेकर रगडकर देख लें। अगर आपके हाथ में चिकनाहट महसूस नहीं होती है तो दूध असली है लेकिन अगर थोड़ी भी चिकनाहट मिली हो तो समझ जाइए कि दूध में कुछ लोचा है।

5-दूध को देर तक रखने पर दूध अपना रंग नहीं बदलता है लेकिन अगर दूध नकली हो तो वो रंग बदलकर पीला रंग अपना लेता है। ऐसे में तुरंत समझ जाइए इसमें कुछ मिला है और अपने दूधवाले को शिकायत करिए।

6-सिंथेटिक दूध में यूरिया मिला होता है और इसे उबालकर रखने पर ये गाढ़ा और पीला रंग ले लेता है। ऐसा दूध पीना शरीर को स्वस्थ नहीं अस्वस्थ बनाता है।

7-अगर आप जो दूध पी रहे हैं वो स्वाद में हल्का मीठा लगता है तो वो असली दूध है लेकिन अगर उसमें कोई स्वाद नहीं है बल्कि उसका स्वाद कड़वा आता है तो वो नकली दूध होता है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *