fbpx
Connect with us

क्रिकेट

न्यूजीलैंड से भारत की हार पर कपिल देव ने उठाया टीम मैनेजमेंट पर सवाल, हर मैच में नई टीम क्यों?

Published

on

1983 विश्व कप विजेता टीम के कप्तान Kapil Dev ने कहा कि केएल राहुल फॉर्म में हैं, लेकिन वह टेस्ट टीम में नहीं हैं।

नई दिल्ली : न्यूजीलैंड (New Zealand Cricket Team) के खिलाफ दो टेस्ट मैच की सीरीज के पहले मैच में टीम इंडिया (Team India) को 10 विकेट की करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा। आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (ICC World Test Championship) में यह भारत की पहली हार भी थी। टेस्ट चैम्पियनशिप के तहत इससे पहले भारत ने खेले अपने सातों टेस्ट में जीत हासिल की थी। भारत की हार के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव (Kapil Dev) ने टीम मैनेजमेंट पर सवाल उठाया। उन्होंने पूछा कि आखिर हर मैच से पहले अंतिम एकादश में क्यों बदलाव किए जाते हैं।

कपिल ने कीवी टीम की तारीफ भी की

कपिल देव ने कहा कि वेलिंगटन टेस्ट मैच में भारतीय खिलाड़ियों ने हर विभाग में खराब खेल दिखाया। कीवी टीम की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड टीम बहुत अच्छी क्रिकेट खेल रही है। इसके लिए वह प्रशंसा की हकदार है। पहले तीन वनडे मैच की सीरीज में और अब पहले टेस्ट में उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया है।

क्रिकेट में नहीं देखा होगा ऐसा नजारा, उल्टे बल्ले के साथ दौड़े भारी-भरकम आजम, देखें वीडियो

हर मैच में उतार रहे हैं नई टीम

भारत की हार के लिए कपिल देव ने कुछ हद तक उन्होंने टीम मैनेजमेंट को भी जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि अगर हम इस मैच का गंभीरता से विश्लेषण करें तो उनकी समझ में नहीं आ रहा है कि वह अंतिम एकादश में इतनी बदलाव क्यों करती रहती है। वे लगभग हर मैच में एक नई टीम उतार रहे हैं। टीम में कोई भी खिलाड़ी नियमित नहीं है। अगर टीम में किसी खिलाड़ी का स्थान सुरक्षित नहीं है तो ऐसी स्थिति खिलाड़ियों की प्रदर्शन पर असर डालेगी। कपिल ने कहा कि हमने कब खेला और क्या हो रहा है, इसके बीच में बहुत अंतर होता है। जब आप एक टीम बनाते हैं तो आपको खिलाड़ी को विश्वास में लाना होता है। जब अधिक बदलाव करते हैं तो इसका कोई अर्थ नहीं हो जाता।

एक ट्वीट के विराट को मिलते हैं 2.5 करोड़ रुपए, ब्रांड वैल्यू के मामले में दुनिया में पांचवें स्थान पर

केएल राहुल के बाहर टीम में न होने पर भी उठाया सवाल

कपिल देव ने कहा कि भारतीय बल्लेबाजी ऑर्डर में कई बड़े नाम होने के बावजूद अगर आप दोनों पारियों में 200 का भी टोटल नहीं बना पाते हैं तो तो आप फिर आप जीत की स्थिति में नहीं होते हैं। उन्होंने कहा कि आपको बेहतर योजनाएं और रणनीति बनानी होगी। इसके अलावा कपिल ने टेस्ट टीम से केएल राहुल को बाहर रखने पर भी सवाल उठाया। कपिल ने कहा कि केएल राहुल जैसे खिलाड़ियों को फॉर्मेट के आधार पर नहीं, बल्कि फॉर्म के आधार पर टीम में शामिल किया जाना चाहिए था। जबकि मैनेजमेंट फॉर्मेट के हिसाब से खिलाड़ियों को मौका देता है। 1983 विश्व कप विजेता टीम के कप्ताने कहा कि उन्हें यह बात समझ में नहीं आती। लोकेश राहुल इस समय अच्छी फॉर्म में हैं, लेकिन वह बाहर बैठे हैं, जबकि उनके अनुसार खिलाड़ी जब फॉर्म में होता है तो उसे हर मैच खेलना चाहिए।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *