Connect with us

विशेष

पति ने तलाक देने के लिए अखबार में छपवा दिया तलाकनामा, उसके बाद पत्नी ने जो किया वो

Published

on

तीन तलाक एक ऐसा मुद्दा है जो ना जाने कितने सालों से चलता आ रहा है लेकिन अभी तक इस पर कोई फैसला नहीं लिया जा सका है। मोदी सरकार ये तीन तलाक का कानून लेकर आई। लोकसभा में तो ये कानून पास हो गया था लेकिन राज्यसभा में आज तक ये कानून पास नहीं हो सका है। बता दें कि मुस्लिम धर्म में ये तीन तलाक ने ना जाने कितनी ही लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी है। तलाक के बाद जिंदगी में दुख और फिर कही गुस्से में आकर पति ने तीन बार तलाक बोल दिया और फिर उसे अपनी गलती का एहसास हुआ तो उसके बाद लड़की को जिन कठिनाइयों से गुजरना पड़ता है वो सिर्फ एक लड़की ही जान सकती है।

इस तीन तलाक के एवज में ना जानें कितनी ही जिंदगिया बर्बाद हो गई। वैसे तो अमूमन अपनी बीबी के सामने तीन बार तलाक बोलने से ही रिश्ता खत्म हो जाता है लेकिन आज हम आपको एक ऐसे तलाक के बारे में बताएंगे जिसमें शौहर ने अपनी बीवी को तलाक देने के लिए उसके सामने तक जाना मुनासिब नहीं समझा, बल्कि पहले चिट्ठी से तलाकनामा भेजा और जब बात नहीं बनी तो उसने अखबार में इश्तिहार छपवाकर अपनी बीवी को तलाक दे दिया। तो चलिए आपको बताते हैं पूरा मामला।

क्या है मामला

मामला राजस्थान के झुन्झुनू जिले के इस्लामपुर गांव का है। जहां पर नाजरा नाम की एक महिला ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उसके पति ने पहले उसे डाक के जरिए तलाक देने की बात लिखी और जब उसने इस तलाक को कबूल करने से इंकार कर दिया तो उसके पति ने अखबार में इश्तिहार देकर तलाक दे डाला। बता दें कि चुरू के राजगढ़ इलाके के मोहम्मद अल्ताफ का निकाह साल 2008 में नायरा बानो से हुआ था और साल 2018 में नायरा की विदाई की गई थी। तब नायरा के पिता ने लड़के वालों को 51,000 रूपए नगद और सोने-चांदी के जेवर जहेज में दिए थे।

लेकिन लड़के वालों ने उसी वक्त और पैसों और एक गाड़ी(कार) की मांग कर दी। नाजरा के पिता इमामूद्दीन ने एक लाख रुपये तो दे दिए, लेकिन कार नहीं दे पाए। जिसके बाद लड़के वालों ने नाजरा को परेशान करना शुरू कर दिया। नाजरा ने अपने पति, सास-ससुर और जेठानी पर टॉर्चर करने का आरोप लगाया और बताया कि एक दिन इन सबने मिलकर घर से बाहर निकाल दिया। बता दें कि नाजरा की बड़ी बहन हसीना की शादी भी उसी घर में हुई थी जब उसने नाजरा का पक्ष लिया तो ससुराल वालों ने उसे भी घर से निकाल दिया। जिसके बाद से दोनों अपने पिता के घर पर ही रह रही हैं।

बता दें कि कुछ दिन तक तो लगा कि सुलह हो जाएगी। लेकिन एक दिन नाजरा के पति ने उसे एक डाक भेजा और उसमें उसे तलाक दे डाला। लेकिन नाजरा ने इस तलाक को मानने से इंकार कर दिया। जिसके बाद नाजरा के पति अल्ताफ ने अपने तलाक को अखबार पर इश्तेहार निकलवा दिया। जिसके बाद नाजरा ने कानून की मदद ली और अल्ताफ और उसके परिवार वालों के खिलाफ मामला दर्ज़ करवा दिया है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.