Connect with us

विशेष

पहले मुलाकत, फिर प्यार और फिर अकेले फ्लैट पर बुलाया और लगा दिया रे’प का केस-ऐंठ लिए 1.05 करोड़

Published

on

आजकल सोशल मीडिया पर ठगी गैंग सक्रिय हैं। लड़कियां अपनी खूबसूरती के जाल में फंसाकर लड़कों को फंसा रही हैं। आप भी सावधान रहें कहीं जिदंगी भर की कमाई ना लुट जाए। अभी हाल ही में जयपुर शहर के एक नामी डॉक्टर को रे’प के झूठे केस में फंसाने और ब्लैकमेल करने के मामले में हाईप्रोफाइल गैंग में शामिल आरोपी लड़की को मुंबई से अरेस्ट किया गया ।

गैंग के लोगों ने डाॅक्टर की कमाई देख उसे लड़की से मिलवाया और फिर साजिश के तहत उसे रे’प के झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर 1.05 करोड़ रुपए एेंठ लिए। शिकायत के बाद स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) को पांच महीने से आ रोपियों की तलाश थी। डाॅ. सुनीत सोनी का जयपुर के वैशालीनगर इलाके में हेयर ट्रांसप्लांट क्लीनिक है।

आरोपी अक्षत के दांतों में दर्द था और वह डॉ. सुनीत की डेंटिस्ट पत्नी के पास इलाज कराने गया था। इस दौरान डॉक्टर कपल को पैसे वाला देखकर अक्षत ने डीजे शिखा तिवाड़ी को ब्लैकमेलिंग करने के लिए तैयार किया। आरोपी अक्षत, विजय और नवीन देवानी अक्सर डिस्को बार में जाते थे। इस दौरान अक्षत की शिखा से मुलाकात हुई थी। प्लान बनाने के बाद आ रोपियों ने शिखा को सुनीत के पास भेजा। अप्रैल 2016 में ब्रह्मपुरी इलाके की रहने वाली शिखा डॉक्टर के क्लीनिक पर हेयर ट्रांसप्लांट के लिए गई। इस दौरान दोनों का कॉन्टेक्ट हुआ था।

SOG के आईजी के मुताबिक, एक दिन शिखा डाॅक्टर को झांसे में लेकर पुष्कर ले गई और वहां पर दाेनों एक रिसोर्ट में रुके। जहां से शिखा को छोड़कर सुनीत वापस जयपुर आ गया था, लेकिन शिखा ने सुनीत को तबीयत खराब होने की बात कहकर पुष्कर बुला लिया था।

इसके दो दिन बाद आरोपी गैंग के मैंबर अक्षत और विजय ने मीडियाकर्मी बनकर सुनीत को फोन किया और शिखा द्वारा रे’प का केस दर्ज कराने की धमकी देते हुए दो करोड़ रुपए की मांग की। जब उसने पैसे देने से इंकार कर दिया तो साजिश के तहत लड़की ने पुष्कर थाने में उसके खिलाफ रे’प का केस दर्ज करा दिया। पुलिस ने जांच के बाद सुनीत को अरेस्ट कर जेल भेज दिया था।

वह 75 दिन तक जेल में रहा। इस दौरान सुनीत ने गैंग के लोगों कॉन्टेक्ट किया। आ रोपियों ने कोर्ट में लड़की के बयान बदलवाने डेढ़ करोड़ रुपए की डिमांड की। बाद में सौदा 1.05 करोड़ रुपए में तय हुआ। पैसे लेने के बाद आ रोपियों ने लड़की के बयान बदलवा दिए।


फेसबुक अकाउंट पर स्टेट्स अपडेट करना पड़ा महंगा SOG ने 24 दिसंबर 2016 को डॉ. सुनीत सोनी की रिपोर्ट पर ब्लैकमेलिंग गैंग का भंडाफोड़ करके अक्षत, विजय और प्रेम शर्मा को अरेस्ट किया था, लेकिन शिखा अब भी पकड़ से बाहर थी। वह ‘डीजे अदा’ के लिए काम करती थी। इस बीच उसने अपना फेसबुक अकाउंट पर लोकेशन अपडेट की। उसकी लोकेशन पता कर एक टीम मुंबई भेजी गई। लोकल पुलिस के साथ SOG ने रविवार को पब में दबिश देकर उसे अरेस्ट कर लिया। इस दौरान शिखा पब में म्यूजिक प्ले (डीजे) कर रही थी। वह केवल एक ही मामले में शामिल थी।

आ रोपियों ने डॉक्टर से 1.05 करोड़ रुपए लिए थे। इसमें से 50 लाख रुपए सेटलमेंट कराने के लिए प्रेम और राकेश ने लिए थे। जबकि, 55 लाख रुपए अक्षत, विजय, नवीन, नीतेश बंधू ने आपस में बांटे थे।

आ रोपियों ने इस काम के लिए शिखा को 5 लाख रुपए दिए थे। मामले में फरार वकील संदीप गुप्ता के अलावा अब तक सभी आ रोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.