fbpx
Connect with us

विशेष

पिता से 18,00 रुपए उधार लेकर शुरू की खुद की कंपनी, सिर्फ 20 दिन में ही हो गई 20 लाख की कमाई

Published

on

अगर आपमें कुछ कर गुजरने की चाहत हो तो सफलता आपके कदम चूमने लग जाती है। उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले के रहने वाले एक छोटे से गांव के मृत्युंजय सिंह की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है। मृत्युंजय सिंह ने अपनी खुद की कंपनी की शुरुआत पिता से 1800 रुपए उधारी लेकर की थी। पिता से उधार में लिए पैसे से बिजनेस खड़े किया और आज देखिए…मृत्युंजय की कंपनी बड़े-बड़े कंपनियों में शामिल है।

मृत्युंजय सिंह ने 21 साल की उम्र में ही एडवर्टाइजमेंट टेक्नोलॉजी से रिलेटेड स्टार्टअप Adjuction.com की स्थापना की और उन्हें 20 दिन में ही 20 लाख की फंडिंग मिल गई। ऐडजंक्शन.डॉट.कॉम 20 दिन में ही लाखों का टर्नओवर करना शुरू कर दीं। देखते ही देखते मृत्युंजय सिंह के वेबसाइट पर वर्ल्ड के बड़े-बड़े कंपनी अपना प्रोडक्ट का प्रमोशन करने लगे जैसे कि 9Apps, VidMate, UC Browser, अलीबाबा, Amazon Fivver और भी बहुत बड़ी-बड़ी कंपनी Advertising और प्रमोशन कर रहे हैं और उनके साथ बहुत ज्यादा मात्रा में Publisher पैसे कमा रहे हैं ।

मृत्युंजय सिंह ने अपने मेहनत के बल पर इंटरनेट जगत में सबको लोहा मनवाया। 21 साल के मृत्युंजय पेशे से एक एथिकल हैकर हैं जिन्होंने अपनी मेहनत के दम पर ‘एडजंक्शन.डॉट.कॉम’ नाम की एक एडवर्टाइज़मेंट टेक्नोलॉजी से संबंधित वेबसाइट बनाई जो बिल्कुल इनोवेटिव है। मृत्युजंय सिंह के पिता किसान है और बड़े भाई एक प्राईवेट जॉब करते हैं। मृत्युंजय सिंह स्टार्टअप यात्रा यूपी एडिशन 2017 के विजेता भी रह चुके हैं।

मृत्युंजय ने बताया था कि अपने वेबसाइट पर गूगल एडसेंस का एड चला रहे था और कुछ प्रॉब्लम की वजह से Google Adsence ने उन्हें ब्लॉक कर दिया और उनका सारा पैसा डूब गया और इसी प्रॉब्लम को देखते हुए मृत्युंजय ने सोचा कि क्यों ना एक ऐसा प्लेटफॉर्म बनाया जाए जहां बड़ी बड़ी कंपनी का एडवरटाइजिंग और प्रमोशन कर सके और पब्लिशर अपनी वेबसाइट और एप्लीकेशन के द्वारा पैसे कमा सके। फिर क्या वही हुआ जो सोचा। बड़ी बड़ी कंपनी ने अपना एड देना शुरू कर दिया।

मृत्युंजय सिंह ने साबित कर दिया कुछ भी कर पाना इंपॉसिबल नहीं है। इस वेबसाइट से बहुत लोग पैसे कमा रहे हैं और उनकी वेबसाइट 20 दिन के अंदर ही इतनी अच्छी ग्रोथ कर ली कि बड़े बड़े ब्रांड इनके साथ टाइ-अप करना चाहते हैं। मृत्युंजय ने ये मुकाम पिता से उधार लिए पैसों से हासिल की। इन पैसों से उन्होंने डोमेन और होस्टिंग खरीदी। महीने भर पहले शुरू किया कंपनी आज इनकी कंपनी लाखों रुपए का टर्नओवर हासिल कर रही है। मृत्युजंय सिंह को पहली फंडिंग भी हो गई। मृत्युंजय एक ऐसा मोबाइल ऐप बना रहे है जिससे चोरी या खो चुके फोन को लोकेट किया जा सकता है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *