Connect with us

विशेष

पीएम की ये घोषणाएं और विश्‍लेषण पढ़ लें छोटे उद्योग , शहरों को यूं मिलेगी उड़ान

Published

on

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशभर के उद्यमियों से ऑनलाइन रूबरू हुए। मौका था माइक्रो, स्‍मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजिज (एमएसएमई) के अंतर्गत सहयोग एवं संपर्क कार्यक्रम का।

पानीपत जैसे छोटे शहर का भी प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में जिक्र किया। यहां की टेक्‍सटाइल इंडस्‍ट्री को उन्‍होंने सराहा।

प्रधानमंत्री ने 12 घोषणाएं कर दीपावली के तोहफों की झड़ी लगा दी। छोटे उद्यमियों के लिए यह घोषणाएं किसी संजीवनी बूटी से कम नहीं हैं। पढि़ए ये काम की खबर।

प्रधानमंत्री की घोषणाओं से उद्योगों को मिलेगी नई दिशा

1. पीएम ने कहा कि उद्यमियों को एक करोड़ तक का ऋण 59 सेकंड में मिल जाएगा। इसके लिए लोन पोर्टल को लॉन्च किया। ज्यादातर उद्यमी एमएसएमई के दायरे में आने से सबसे ज्यादा लाभांवित होंगे। लोन के लिए psbloansin59minutes.com पर जाकर अप्लाई करें। यहां आवेदनकर्ता का नाम, ईमेल आईडी, फोन नंबर भरकर OTP जनरेट कर रजिस्टर करना होगा। इसके बाद आगे की प्रक्रिया शुरू होगी।

2. उद्यमियों के इस ऋण पर ब्याज में 2 प्रतिशत तक की छूट दी है। वहीं एक्सपोर्टरों के लिए प्री-शिपमेंट को 3 प्रतिशत से बढ़ाकर 5 प्रतिशत कर दिया है। एमएसएमई के तहत 30-40 प्रतिशत एक्सपोर्टरों को लाभ मिलेगा।

3. छोटे उद्यमियों को बड़ी कंपनियों से समय पर भुगतान मिलेगा। इसके लिए उनको ट्रेडर्स प्लेटफार्म से जोड़ा जाएगा। कंपनी उनको भुगतान नहीं करती है तो एक निर्धारित समय में बैंक उनको पेमेंट करेगा।

4. सरकारी कंपिनयों को पहले 20 प्रतिशत माल एमएसएमई उद्यमियों से खरीदना था। अब इसको बढ़ाकर 25 प्रतिशत कर दिया है।

5. कंपनियों को इसके अलावा 3 प्रतिशत खरीद महिला उद्यमियों से करनी होगी। इससे महिला सशक्‍तीकरण को बढ़ावा मिलेगा। पानीपत में आधा दर्जन महिला उद्यमी हैं। गवर्मेंट ई मार्केट में 1.5 लाख से अधिक सप्लायर अब से पहले जुड़ चुके हैं। इससे बिचौलिए और कमीशनखोरी खत्म होगी।

6. बड़ी कंपनियों में जीईएम की सदस्यता लेनी जरूरी होगी। ऑनलाइन मार्केटिंग को भी बढ़ावा मिलेगा। पानीपत के उद्यमी अपने उत्पाद को सीधे बेचने के लिए ऑनलाइन ट्रेडिंग को भी अपना रहे हैं।

7. देश में 20 हब और 100 टूल रूम बनाए जाएंगे। यहां पर युवाओं को प्रशिक्षण देकर इंडस्ट्री लायक बनाया जाएगा। पानीपत के उद्यमी लंबे समय से प्रशिक्षित कारीगरों की मांग कर रहे हैं। इससे पानीपत के उद्योग को मजबूती मिलेगी।

8. बी-फार्मा कंपनियों के लिए कलस्टर बनाए जाएंगे। इस क्षेत्र की छोटी कंपनियां बड़ी कंपनियों को दवाइयां दे सकेंगी

9. पीएम ने कहा कि फार्म व रिटर्न के बोझ को कम किया गया है। पहले रिटर्न एक वर्ष में दो बार भरना पड़ता था। अब उद्यमियों को एक बार ही भरना होगा। पानीपत के उद्यमी जीएसटी लागू होने के बाद से इसकी मांग कर रहे थे।

10. पीएम ने कहा कि उद्योगों को इंस्पेक्टरीराज से मुक्ति मिलेगी। कोई भी इंस्पेक्टर बिना सूचना किसी भी फैक्ट्री में इंस्पेक्शन करने नहीं जाएगा। उसको अपने इंस्पेक्शन की रिपोर्ट 48 घंटे में अपलोड करनी होगी। पानीपत के उद्यमी हर मंच पर विभागों के भ्रष्टाचार की बात कह चुके हैं।

11. पीएम ने कहा कि छोटे उद्यमियों को पर्यावरण क्लीयरेंस सर्टिफिकेट के लिए परेशान होना पड़ता था। अब वायु और जल के नार्म्‍स को मिलाकर एक ही कर दिया है। उद्यमी सेल्फ सर्टिफिकेशन से उद्योग को चला सकेंगे। लेबर विभाग की रूटीन चेकिंग को खत्म कर दिया है। वे 10 प्रतिशत एमएसएमई का ही निरीक्षण कर सकेंगे।

12. कंपनी अधिनयम में कानूनी जटिलताओं को दूर किया है। उद्यमी को अनजाने में हुई गलती को सुधारने का मौका दिया जाएगा। वे संबंधित विभाग में जाकर इन गलतियों को सुधार सकेंगे।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *