fbpx
Connect with us

विशेष

बिलावल की बिल्लो रानी..वो महिला विदेश मंत्री जिसने अपने प्यार के लिए अपना करियर बर्बाद कर लिया

Published

on

पाकिस्तान की पूर्व विदेश मंत्री इस बार भारत की तारीफ की है। उन्होंने कहा है कि अगर पाकिस्तान को भिखारी पने से बाहर आना है तो भारत के साथ दोस्ती करनी ही पड़ेगी। इसलिए आज हम आपको उनकी प्रेम कहानी बता रहे हैं।

तो चलिए 2011 में वापस चलते हैं। पाकिस्तान का इस्लामाबाद शहर, रात के करीब 8 बज रहे थे। राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी अपने बेटे बिलावल के कमरे में उससे मिलने जा रहे हैं। वो कमरे के पास ही पहुंचे थे कि अंदर से कुछ अजीब आवाजें आ रही थीं। आसिफ ने तुरंत दरवाजा पीटा लगभग 10 मिनट बाद दरवाजा खुला तो अंदर दो लोग बड़े अजीब अवस्था में हैं। दोनों का नाम था बिलावल और हिना रब्बानी खार। जरदारी समझदार थे उन्हें समझने में देर नहीं लगी कि अंदर चल क्या रहा था।

उन्होंने तुरंत बिलावल को अपने ऑफिस आने को कहा और हिना को उसके बंगले पर भेजा। जी हां बिलावल और हिना को खुद जरदारी ने रंगे हाथ पकड़ा था। 2012 में दुनियाभर मे इस वक्त एक ही चर्चा हो रही थी, चर्चा थी सरहद पार सुर्खियों में आयी इस लव स्टोरी की। और वो लव स्टोरी है पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली ज़रदारी के इकलौते बेटे बिलावल अली भुट्टो और पाकिस्तान की विदेश मंत्री हिना रब्बानी खर की।

दुनिया तक पहुंची हिना-बिलावल की मुहब्‍बत की आंच : दो दिल मिल रहे हैं चुपके चुपके, मगर दो दिलों की धड़कनों की आवाज़ अब ज़माने को सुनाई पड़ रही। पाकिस्तान में हुकूमत चला रही पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के चेयरमैन बिलावल अली भुट्टो और पाकिस्तानी विदेश मंत्री हिना रब्बानी खर ने कब और कैसे एक दूसरे के दिलों में मुहब्बत के दरवाज़े खोल दिए, इसकी भनक किसी को नहीं लगी। और जब पता चला, तो पाकिस्तान के सियासी ही नहीं, सामाजिक गलियारों में भी जैसे भूचाल गया।

मुहब्बत की ये अगन तो पाकिस्तान में लगी, लेकिन इसकी आंच दुनिया तक पहुंची तो बांग्लादेश के रास्ते। बांग्लादेश के वीकली टैबलॉयड ब्लिट्ज़ के हवाले से ये रिपोर्ट आई कि बिलावल और हिना की मुहब्बत उस मुकाम तक पहुंच चुकी है, जहां से पीछे हटना दोनों के दिलों को गवारा नहीं है। खबरें थीं कि बिलावल का बच्चा हिना की पेट में था।

सब कुछ कुर्बान करने को तैयार बिलावल और हिना : उल्फत के उलझे अफसानों को सुलझाने में तो तख्तो-ताज तक कुर्बान हो जाते हैं। ये तो आपने भी सुना होगा कि कैसे प्यार बलिदान मांगता है और प्रेम करने वाले हंसकर इस पर अपना सब कुछ निसार कर देते हैं। बिलावल भी हिना की मुहब्बत में इस गहराई तक उतर चुके कि अपनी सियासी ताकत तक को कुर्बान करने के लिए तैयार हो गए। 23 साल के बिलावल अपने से 12 साल बड़ी हिना की झील जैसी नीली आंखों में इस कदर डूब चुके हैं कि पार्टी की कमान तक छोड़ने के लिए तैयार हैं।

आग दोनों तरफ से लगी, इसीलिए ये भी खबर थी कि हिना भी अपनी मुहब्बत को शादी के खूबसूरत मोड़ पर ले जाने के लिए विदेश मंत्री की कुर्सी तक ठुकरा सकती हैं। चर्चा तो यहां तक हुई कि बिलावल की दिलरुबा बनने के लिए वो अपने अरबपति, शौहर फिरोज गुलजार को तलाक देने के लिए भी तैयार हो गईं। कोई नहीं जानता था कि सियासत के गलियारों में उठते-बैठते परवान चढ़े इस इश्क का अंजाम का क्या होगा। लेकिन हिना को यकीन है कि बिलावल की मुहब्बत की हिना उनकी हथेलियों पर जरूर सजेगी। और बिलावल को भी लगता है कि उनकी उल्फत की आखिरी मंजिल हिना ही हैं।

बांग्‍लादेशी टैबलॉयड ने किया खुलासा : पाकिस्तान में कोई भी बिलावल और हिना की मुहब्बत पर मुहर नहीं लगा रहा था लेकिन ख़बरें खूब आ रही थीं। दो दिलों में पनपी इस मुहब्बत का खुलासा किया है एक बांग्लादेशी वीकली टैबलॉय़ड ने। इस टैबलॉयड की मानें तो हिना और बिलावल अपनी मुहब्बत के आगे आसिफ अली ज़रदारी की भी नहीं सुन रहे थे। बिलावल भुट्टो ज़रदारी और हिना रब्बानी खर के इश्क का खुलासा जितना दिलफरेब है, उतना ही सनसनीखेज भी, क्योंकि अब इस प्यार की राह में दीवार बनकर खड़े थे पाकिस्तान के राष्ट्रपति और बिलावल भुट्टो के वालिद आसिफ अली ज़रदारी।

बगावत को भी तैयार हुए बिलावल : पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के चेयरमैन बिलावल और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की सरकार में मंत्री हिना का मेल-जोल 12 साल पुराना है। लेकिन इस दौरान दोनों कब एक-दूसरे के करीब आए और मुहब्बत की गहराइयों में कब डूब गए किसी को नहीं पता, और जब पता चला तो कहा ये जा रहा था कि बिलावल अपने इश्क को परवान चढ़ाने के लिए बाग़ावत की हद तक आगे बढ़ चुके थे। बिलावल और हिना के इश्क का खुलासा करने वाले अखबार के मुताबिक जरदारी को अपने साहबजादे की मुहब्बत की भनक 21 सितंबर 2011 को लगी। जिसकी कहानी ऊपर हमने आपको बता दी।

सकते में आसिफ अली ज़रदारी: अपने बेटे और अपनी सरकार में विदेश मंत्री के बीच मुहब्बत की खबर से ज़रदारी सकते में थे। उन्होंने दोनों को रंगे हाथ पकड़ा फिर उन्होंने बिलावल और हिना के मोबाइल फोन रिकॉर्ड खंगलवाए तो खुलासा हुआ कि इश्क की आग दोनों तरफ लगी है। ज़रदारी ने दोनों को इशारों में समझाने की कोशिश की। ज़रदारी ने समझाया कि शादी-शुदा और दो बच्चों की मां हिना से उम्र में 12 साल छोटे बिलावल के रिश्ते का कोई भविष्य नहीं है, लेकिन ये बात ना तो हिना की समझ में आयी, और ना ही बिलावल ने अपने अब्बा की एक सुनी।

पाकिस्तान के राष्ट्रपति भवन में पिता और पुत्र के बीच शीतयुद्ध शुरू हो चुका था। लेकिन इस साल ईद के दिन बात हद से आगे बढ़ गई। बांग्लादेश के अखबार का दावा है कि हिना ने ईद के तोहफे में बिलावल को गुलदस्ते के साथ अपने हाथ से लिखा संदेश भेजा, जिसमें लिखा था, ‘हमने बहुत इंतज़ार किया, अब वक्त है कि हम अपने इंतज़ार को खत्म कर दें। ईद मुबारक।’

हिना ने दी पीपीपी छोड़ने की धमकी : ज़रदारी को जब हिना के इस संदेश की खबर मिली, तो उन्होंने फौरन हिना रब्बानी खर को तलब किया और जमकर खरी-खोटी सुनाई। ज़रदारी ने साफ-साफ कहा कि अपने नादान बेटे से हिना का एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर उन्हें रत्ती भर मंजूरी नहीं। लेकिन हिना तब तक बग़ावत के मूड में आ चुकी थीं।

अखबार के मुताबिक, हिना ने जरदारी को दो टूक कह दिया कि वो अपने निजी मामले में किसी की दखलअंदाज़ी बर्दाश्त नहीं करेंगी। हिना ने मंत्री पद के साथ-साथ पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी छोड़ने तक की चेतावनी दे दी। हिना और जरदारी के बीच अपने प्यार पर तकरार की खबर बिलावल को मिली, तो उनका पारा भी सातवें आसमान पर पहुंच गया। हिना के प्यार में डूबे बिलावल ने अपने पिता से बग़ावत का खुला एलान कर दिया। खैर अब सालों बीत गए हिना और बिलावल का प्यार आज भी अधूरा ही है। चलिए आपको आर्टिकल अच्छा लगा तो शेयर कीजिए और दोनों के दुआ कीजिए कि कुछ कहानी आगे बढ़े।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *