Connect with us

लाइफ स्टाइल

ब्रिटिश युवती का पहनावा देखकर फ्लाइट के स्टाफ ने कहा- शरीर ठीक से ढंकें या विमान से उतरें

Published

on

इंग्लैंड के बर्मिंघम में 21 साल की यात्री को ब्रिटिश एयरलाइन के स्टाफ ने फ्लाइट से सिर्फ इसलिए उतरने की धमकी दी, क्योंकि उसने क्रॉप टॉप पहना था। फ्लाइट में बैठने के बाद स्टाफ ने महिला यात्री से कहा, ‘वह अपने कपड़े बदल लें या फिर विमान से उतर जाएं।’ घटना को लेकर पीड़िता ने ट्विटर पर एक पोस्ट किया। इसके बाद विरोध हुआ तो एयरलाइन को महिला यात्री से माफी मांगनी पड़ी।

युवती ने यात्रा के समय पहने कपड़ों पर अपनी फोटो साझा की।

21 साल की एमिली ओ कॉनर बर्मिंघम से स्पेन के आईलैंड जा रही थीं। एमिली ने अपने पोस्ट में लिखा, ‘ये मेरे जीवन का सबसे ज्यादा लिंगभेदी, गलत, शर्मनाक अनुभव था।

thomas cook airlines says woman of wear proper clothes or leave flight

मैंने दूसरे सहयात्रियों से पूछा भी कि उन्हें मेरी ड्रेस से तकलीफ है क्या? सिर्फ एक शख्स ने कहा कि क्रॉपटॉप के ऊपर चुपचाप एक जैकेट पहन लो।

जब सहयात्री ने मेरे साथ ये बदतमीजी की तब स्टाफ वहीं खड़ा था। लेकिन किसी ने मेरा साथ नहीं दिया। क्रू मेंबर के रवैये को देखते हुए मेरी बहन ने जैकेट दी।’ बतौर एमिली, ‘जब तक मैंने जैकेट पहन नहीं ली,

तब तक स्टाफ वहीं खड़ा रहा। इतना ही नहीं मुझसे दो सीट पीछे बैठा एक यात्री शॉर्ट पैंट्स और बनियान पहने था। लेकिन स्टाफ ने उससे कुछ नहीं कहा। इस तरह का भेदभाव मैंने पहली बार देखा था।’

एयरलाइन ने कहा- स्टाफ को ढंग से पेश आना चाहिए था

thomas cook airlines

थॉमस कुक एयरलाइंस ने मंगलवार की इस घटना पर माफी मांगी है। एयरलाइंस ने कहा, ‘आमतौर पर यात्रियों के लिए एक उपयुक्त पोशाक नीति होती है।

यह बिना किसी भेदभाव के पुरुषों और महिलाओं दोनों पर लागू होती हैं। एमिली के साथ हुआ बर्ताव गलत था। फ्लाइट के स्टाफ को बेहतर ढंग से पेश आना चाहिए था।’

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *