Connect with us

विशेष

भारतीय लड़कों को फंसाने के लिए अपनी खूबसूरत महिला सैनिकों के जिस्म की दलाली कर रहा पाकिस्तान

Published

on

राजस्थान से सेना के एक जवान को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के लिए काम करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। पाकिस्तानी हुस्न के आगे इस जवान ने घुटने टेक दिए और पाकिस्तान द्वारा फैलाए हनीट्रैप के जाल में फंस गया।

क्या होता है ‘हनी ट्रैप’- दुनिया के सभी देश अपने दुश्मन का राज जानने के लिए अकसर नए-नए हथकंडे आजमाते रहते हैं। आमने-सामने कि लड़ाई कि तुलना में दुश्मन के घर में सेंध लगाकर अहम जानकारी जुटा लेना और इसका इस्तेमाल दुश्मन के खिलाफ रणनीति बनाने में करना कहीं ज्यादा खतरनांक होता है। यह लड़ाई का एक अहम हिस्सा होता है। एक बार दुश्मन देश से जुड़ा कोई अहम दस्तावेज या खुफिया जानकारी हाथ लग जाए तो उसके खिलाफ रणनीति बनाना बेहद आसान हो जाता है। और कभी-कभी तो दुश्मन कि हार का कारण भी इसी प्रकार कि खुफिया जानकारी का लीक होना ही होता है। ये काम एक महिला जासूस से बेहतर कौन कर सकता है। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई भी इन दिनों भारत के खिलाफ इसी हथियार का इस्तेमाल कर रही है। जिसे कहा जाता है- हनी ट्रैप।

पाकिस्तान द्वारा भारत में हनीट्रैप बिछा कर जासूसी कराने का यह पहला मामला नहीं है। पहले भी पाकिस्तान ऐसा करता आया है। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के एजेंट भारतीयों को हनीट्रैप में फंसाकर सीक्रिट सूचनाएं हासिल करने की कोशिश करते रहे हैं।

हाल ही में कई जवान हनीट्रैप में फंस चुके हैं। पाकिस्तान की तरफ से लगातार हो रही इस प्राकर की जासूसी की कोशिशों को देखते हुए आईटीबीपी ने अपने जवानों को फेसबुक के इस्तेमाल में सावधानी बरतने का निर्देश दिया है। आईटीबीपी ने अपने जवानों को अनजान लड़कियों के फ्रेंड रिक्वेस्ट को स्वीकार करने से बचने के लिए कहा है।

कैसे करता है काम? : हनी ट्रैप आधुनिक युद्ध के तरीकों का एक रुप है। हनी ट्रैप के मिशन पर निकली महिला सैनिक के हाथ दोस्ती की आड़ में न सिर्फ जानकारियां हासिल करती है बल्कि कई बार अहम दस्तावेज भी लग जाते हैं। कई मामलों में महिला सिर्फ अपनी चिकनी चुपड़ी बातों का हि नहीं बल्कि जरुरत पड़ने पर अपने जिस्म का भी सहारा लेती हैं। और अपने शिकार को ब्लैकमेल भी करती है। अगर शिकार की कोई आपत्तिजनक तस्वीर या खास बातचीत की कोई डिटेल हाथ लग जाए तो उसे उसके जरिए धमकी भी दी जाती है। बदनाम होने के डर से वो शख्स अहम से अहम राज भी आसानी से दे देता है। कुल मिलाकर कह सकते हैं कि हनी ट्रैप एक ऐसा जाल है जिसमें फंसने के बाद कोई शख्स उनके हाथों कि कठपुतली बन जाता है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *