fbpx
Connect with us

विशेष

भीख मांगने के लिए छोड़ गया लखपति बेटा लेकिन बाप तो बाप होता है-कहते हैं वो 1 दिन मुझे लेने आएगा

Published

on

जिस इकलौते बेटे की एक पिता ने उसकी हर इच्छा पूरी, वही अपने बुजुर्ग बाप को हरिद्वार स्टेशन पर छोड़कर भाग गया। 70 वर्षीय सुनील महेंदु महाराष्ट्र के नासिक के रहने वाले हैं। कई महीने पहले उनका इकलौता बेटा उन्हें हरिद्वार छोड़ गया था। महेंदु कहते हैं, इसके बाद मैं इधर-उधर भटकता रहा।

जब थक गया तो रेलवे स्टेशन पहुंचकर इसी को अपना आशियाना बना लिया। बुजुर्ग को पैरालिसिस है। इस दौरान महेंदु को भीख मांगकर गुजारा करना पड़ा। हालांकि, अब उन्हें एक समाजसेविका की मदद से नया आसरा मिल गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महेंदु का बेटा उन्हें इलाज कराने के नाम पर कुछ महीने पहले हरिद्वार लेकर आया था। फिर दवाई लेकर आने का कहकर कहीं चला गया, उसके बाद नहीं लौटा। इस दौरान बुजुर्ग दर-बदर भटकता रहा। फिर रेलवे के हेल्पलाइन के पास मदद की गुहार लगाते हुए उन्हें अपनी आपबीती सुनाई। इसके बाद हेल्पलाइन से बुजुर्ग द्वारा बताए नासिक के पते को इंटरनेट के जरिए ट्रेस किया और फिर स्थानीय थाने को इसकी सूचना दी। महेंदु को अभी भी उम्मीद है कि उनका बेटा जरूर उन्हें लेने आएगा।

अब मिला आसरा : समाजसेवी पुनीता वाजपेयी की कोशिशों के बाद रिटायर्ड अकाउंटेंट महेंदु को वृद्ध आश्रम में आसरा मिल गया है। उन्होंने जीटीवी में बतौर अकाउंटेंट सर्विस दी है। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की उपसचिव पुनीता ने सूचना मिलने पर स्टेशन पहुंचकर महेंदु को पहले कंबल दिए। फिर स्टेशन पर स्थित हेल्पलाइन कर्मियों से पूरी जानकारी ली। हेल्पलाइन के स्टाफ ने बताया कि बुजुर्ग पिछले कई महीनों से स्टेशन पर ही रह रहा है। बुजुर्ग पीड़ित को परिजनों से मिलवाने के लिए प्रयास जारी है, इसके लिए पुलिस की सहायता ली जाएगी।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *