Connect with us

भोजन

मुंबई में भारी बारिश ट्रेनों को किया रिशेड्यूल, घंटो देरी से पहुंची

Published

on

इटारसी. मुंबई में हो रही भारी बारिश ने ट्रेनों की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिया। बुधवार को रात १२ बजकर १० मिनट पर जंक्शन आने वाली कामायनी एक्सप्रेस गुरुवार सुबह १० बजकर २७ मिनट पर इटारसी पहुंची। वहीं सुबह ७ बजकर ३५ मिनट पर आने वाली पंजाबमेल देर रात जंक्शन पहुंची। इन ट्रेनों के साथ ही लगभग एक दर्जन ट्रेन घंटों देरी से चली। ट्रेनों के देरी से चलने से स्टेशन पर दिनभर यात्री परेशान होते रहे। वहीं बुधवार को रैक समय पर नहीं पहुंचने की वजह से गुरुवार को नई दिल्ली से एलटीटी के लिए रवाना होने वाली राजधानी एक्सप्रेस को भी निरस्त करना पड़ा।

एनाउंसमेंट भी परेशानी
ट्रेनों के एनाउंसमेंट के लिए सिस्टम में अधिकतम १२ घंटे तक का अपडेट हो सकता है। १२ घंटे से अधिक समय लेट होने वाली ट्रेनों को अपडेट करने में परेशानी आती है। दरअसल १२ घंटे से अधिक समय अपडेट करने पर दिन बदल जाता है। गुरुवार को कुछ ट्रेन १२ घंटे से ज्यादा देरी से इटारसी पहुंची।
इन ट्रेनों को किया रिशेड्यूट
गुरुवार को एलटीटी से चलने वाली 15017 काशी एक्सप्रेस इगतपुरी स्टेशन से रवाना किया गया। ३ सितंबर को लखनऊ जंक्शन से रवाना होने वाली 12533 पुष्पक एक्सप्रेस इगतपुरी स्टेशन पर आंशिक निरस्त किया गया वहीं गुरुवार को 12534 पुष्पक एक्सप्रेस इगतपुरी स्टेशन से ही रवाना किया गया।
ये ट्रेन रहीं पहुंची देरी से
१२३६२ आसनसोल एक्सप्रेस २० घंटा २७ मिनट
१२३२२ हावड़ा मेल १७ घंटा २ मिनट
१२१३७ पंजाबमेल १४ घंटा ३० मिनट
११०७१ कामायनी एक्सप्रेस १० घंटा १७ मिनट
१२१४१ पाटलीपुत्र एक्सप्रेस १० घंटा ०९ मिनट
११०५३ आजमगढ़ एक्सप्रेस ९ घंटा ४१ मिनट
१२१६७ मंडुआडीह सुपर ८ घंटा ३१ मिनट
११०१५ कुशीनगर एक्सप्रेस ५ घंटा ४५ मिनट
११०६१ पवन एक्सप्रेस ४ घंटा २१ मिनट
१२१८८ गरीब रथ एक्सप्रेस ३ घंटा ३१ मिनट
१२१६५ रत्नागिरी एक्सप्रेस १ घंटा ४३ मिनट

इनका कहना है
मुंबई में हो रही बारिश से रेल यातायात प्रभावित हुआ है। यही कारण है कि ट्रेनों को रिशेड्यूटल किया गया है।
राजीव चौहान, स्टेशन प्रबंधक
——————-
रेलवे कराएगा पिंडदान यात्रा
इटारसी. पितृपक्ष लगते ही भारतीय रेलवे, आईआरसीटीसी के सहयोग से पहली बार 14 से 17 सितंबर तक गया और बोधगया में पिंडदान करने के लिए विशेष रेल यात्रा आयोजित किया है। आईआरसीटीसी के अधिकारियों के अनुसार पूरी ट्रेन स्लीपर कोच की रहेगी। यात्रा में बोर्डिंग स्टेशन इटारसी, जबलपुर, कटनी और सतना रहेगा, जहां से यात्री विशेष ट्रेन में सफर कर सकते हैं।

Exit mobile version