Connect with us

लाइफ स्टाइल

मैट्रो से निकलते ही इस तरह महिलाओं को इस तरह तंग करते हैं ऑटो वाले, देखिए इनकी हरकत

Published

on

अगर आप मैट्रो सिटी से हैं और जब आप मैट्रो स्टेशन से बाहर निकलती हैं तो अक्सर ऑटो चालक उनपर ऐसे झपटते हैं मानो वो उनकी प्रॉपर्टी हैं। कहां जाना है मैडम, मेरे साथ चलिए, मेरी ऑटो में ज्यादा लोग नहीं है…ऐसी कई बातें बोलकर महिलाओं के साथ कभी-कभी अ श्लील हरकतें हो जाती हैं जो आमतौर पर पता नहीं चल पाती हैं। मगर ये सच है कि मैट्रो से निकलते ही इस तरह महिलाओं पर झपटते हैं ऑटो वाले, आपको भी जानना चाहिए इनकी ऐसी हरकत।

मैट्रो से निकलते ही इस तरह महिलाओं पर झपटते हैं ऑटो वाले

“आ जा मेरे गाड़ी में बैठ जा, हममें क्या कांटे लगे हैं…” कुछ ऐसे ही भाषा का प्रयोग करके मंगलवार को नोएडा सेक्टर-52 मेट्रो स्टेशन के नीचे खड़े ऑटो चालकों ने महिला यात्रियों को अपने ऑटो में बैठाने की जिद्द की। इतना ही नहीं मेट्रो स्टेशन से उतरने वाली महिला यात्रियों को पहले तो ऑटो चालक घेर लेते हैं इसके बाद फिर ऑटो में बैठाने के बहाने छू ने की कोशिश करने लगते हैं। इस वजह से एक लड़की की ऑटो चालक के साथ बहस हो गई और इस दौरान दूर-दूर तक एक भी पुलिस वाला नजर नहीं आया। मैट्रो स्टेशन सीढ़ियों पर यात्रियों से ज्यादा ऑटो चालकों का जमावड़ा लगा था और ये नजारा किसी एक मैट्रो स्टेशन का नहीं बल्कि हर दिन शहर में चलने वाली हर मैट्रो स्टेशन का है।

इससे महिलाओं को कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। जब महिला यात्रियों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि ऑटो वालों की शिकायत करते भी हैं तो एक घंटे में वहां पुलिस का आना होता है। इसके बाद पुलिस कर्मी कार्यवाही करने के बजाए मामला निपटाने की बात करने लगते हैं। अगर ज्यादा वि रोध करो तो चालक को पकड़ लेते हैं और फिर कुछ रुपये लेकर मामला रफा-दफा कर दिया जाता है। इसी से आ रोपियों को सह मिलती है। शहर के लगभग सभी मैट्रो स्टेशन के नीचे ऑटो वालों को जमावड़ा मिलता है। सिटी सेंटर, बॉटेनिकल गार्डन, सेक्टर-52, सेक्टर-15 जैसे मैट्रो स्टेशन पर ऑटो चालकों की लाइन लगी होती है। मैट्रो स्टेशन से उतर रही सारिका वर्मा ने बताया कि यहां पर ऑटो चालक डबल मीनिंग वाली बातें करके अ श्लील हरकतें करते हैं। एक झुंड की तरह चारों ओर से महिलाओं और लड़कियों को घेरकर कहीं जाने का पूछकर अ श्लील हरकत भी कर जाते हैं। वि रोध करने पर अभद्र व्य वहार के साथ मा रपीट तक हो जाती है।

इनके मुंह कोई नहीं लग सकता है लेकिन मजबूरी है कि महिलाओं को घर से ऑफिस जाने के लिए ऐसे ही रूट से होकर जाना होता है। सेक्टर-52 मैट्रो स्टेशन के नीचे एक ऑटो में बैठकर छोटे बच्चे न शा कर रहे थे इनको रोकने वाला भी कोई नहीं है। कुछ मीडिया कर्मियों ने इनसे बात की तो बताया कि वे हर रोज वहीं बैठकर न शे की दवा सूंघते हैं। मैट्रो स्टेशन के नीचे ही उन्हें न शे वाली डब्बी मिल जाती है। उन्होंने ये भी बताया कि पेन बेचकर दो कमाई होती है उसे न शे की डिब्बी आसानी से मिल जाती है। वहीं एसपी सिटी नोएडा अंकुर अग्रवाल ने बताया कि इस तरह की शिकायतें काफी मिल रही हैं और जल्द ही इस पर विशेष अभियान भी चलाया जाएगा। पुलिस की गाड़ी हमेशा मैट्रो स्टेशन के पास घूमती रहती है। ये सब मीडिया के स्टिंग ऑपरेशन में पता लगाकर पुलिस को वीडियो और कई सबूत सौंपे गए तब जाकर पुलिस ऐसे अभियान को चलाने के लिए अग्रसर हुई है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.