DMCA.com Protection Status
Connect with us

बिज़नेस

मोदी सरकार का झटका, पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी एक रुपये बढ़ाए, SUPER RICH को देना होगा ज्यादा टैक्स

Published

on

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शुक्रवार को मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट संसद में पेश किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि इस साल भारतीय अर्थव्यवस्था 3 लाख करोड़ डॉलर की हो जाएगी। बजट भाषण की शुरुआत करते हुए सीतारमण ने कहा कि हमारा उद्देश्य मजबूत देश के लिए मजबूत नागरिक है। इससे पहले वे परंपरा तोड़ते हुए ब्रीफकेस की जगह एक लाल फोल्डर में बजट लेकर निकलीं। अब तक बजट पेश करने से पहले वित्त मंत्री एक ब्रीफकेस में ही बजट लेकर संसद पहुंचते थे।

केंद्रीय बजट-2019 की अहम बातें

Image result for पेट्रोल और डीजल

 -सोना, पेट्रोल, डीजल, तंबाकू महंगा

सोना पर शुल्क बढ़ाकर 10 फीसदी टैक्स से बढ़ाकर 12.5 फीसदी कर दिया गया है। तंबाकू पर भी अतिरिक्त शुल्क लगाया जाएगा। पेट्रोल-डीजल पर 1-1 रुपये का अतिरिक्त सेस लगाया जाएगा।

ऊंची कमाई पर ज्यादा टैक्स

Related image

अब 2 से 5 करोड़ रुपये सालाना कमाने वालों पर 3 फीसदी अतिरिक्त टैक्स लगेगा और साथ ही 5 करोड़ रुपये से अधिक कमाने पर 7 फीसदी अतिरिक्त टैक्स देना होगा।

इसके अलावा अगर कोई भी व्यक्ति बैंक से एक साल में एक करोड़ से अधिक की राशि निकालता है तो उसपर 2 प्रतिशत का टीडीएस  लगाया जाएगा। यानी सालाना 1 करोड़ रुपये से अधिक निकालने पर 2 लाख रुपये टैक्स में ही कट जाएंगे।

-45 लाख के घर पर अब 3.5 लाख रुपये ब्याज में छूट। इससे पहले 2 लाख छूट थी।

अब आधार कार्ड से भी लोग अपना इनकम टैक्स भर पाएंगे। यानी अब पैन कार्ड होना जरूरी नहीं है, पैन और आधार कार्ड से काम हो जाएगा।

-सालाना 5 लाख रुपये से कम आय वालों पर कोई टैक्स नहीं।

-400 करोड़ तक टर्नओवर वाली कंपनियों पर अब 25 फीसदी टैक्स

– 2.5 लाख रुपये तक इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीदने पर भी छूट दी जाएगी

-सरकार ने 1 से 20 रुपये के नए सिक्कों का ऐलान किया है, जिन्हें जल्द लोगों के लिए जारी किया जाएगा।

– सरकार का लक्ष्य बुनियादी सुविधाओं में अगले पांच साल में 100 लाख करोड़ रुपये के निवेश का है।

सरकारी बैंकों को 70 हजार करोड़

Image result for सरकारी बैंकों

बैंकों का एनपीए 1 लाख करोड़ कम हुआ है। डोमेस्टिक क्रेडिट ग्रोथ 13 फीसदी तक बढ़ी है। सरकारी बैंकों को और 70 हजार करोड़ देंगे। हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां अब आरबीआई के नियंत्रण में रहेगी।

-17 आइकॉनिक सैलानी जगहों का विकास किया जाएगा।

– इस साल 4 और दूतावास खोले जाएंगे। दुनिया में अपनी और पहुंच बढ़ाए जाने के कदम उठाए जाएंगे।

भारतीय पासपोर्ट वाले एनआरआई को मिलेगा आधार कार्ड

Image result for भारतीय पासपोर्ट

-भारतीय पासपोर्ट वाले एनआरआई को मिलेगा आधार कार्ड। भारतीय पासपोर्ट रखने वाले प्रवासी भारतीयों को भारत में आते ही आधार मिल सकेगा। उन्हें 180 दिन इंतजार नहीं करना होगा

-असंगठित क्षेत्र के कामगारों को लिए पेंशन दी जाएगी।

श्रम सुधारों को चार कोड के तहत  किया जाएगा लागू

वित्त मंत्री ने कहा कि महिलाओं के विकास के बिना देश का विकास नहीं हो सकता है। वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि जनधन खाताधारक महिलाओं को 5000 रुपये ओवरड्राफ्ट की सुविधा दी जाएगी। महिलाओं के लिए अलग से एक लाख रुपये के मुद्रा लोन की व्यवस्था की जाएगी।

-श्रम सुधारों को चार कोड के तहत लागू किया जाएगा

स्टैंड अप इंडिया का हर किसी को मिलेगा लाभ

Image result for स्टैंड अप इंडिया

वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि स्टैंड अप इंडिया स्कीम के तहत महिलाओं, एसटी-एससी  उद्यमियों को लाभ दिया जाएगा। स्टार्ट अप के लिए टीवी चैनल पर प्रोग्राम शुरू किए जाएंगे।

-वित्त मंत्री ने बताया कि अगले पांच साल में 125000 किलोमीटर सड़क बनाई जाएगी, इसके लिए 80 हजार 250 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

राष्ट्रीय अनुसंधान प्रतिष्ठान बनाने का ऐलान

सरकार की ओर से ऐलान किया गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि हम नई शिक्षा नीति लाएंगे। शिक्षा नीति पर अनुसंधान केंद्र भी बनाया जाएगा। सरकार उच्च शिक्षा के लिए 400 करोड़ रुपये खर्च करेगी। दुनिया के टॉप 200 कॉलेज में भारत के सिर्फ 3 कॉलेज हैं, ऐसे में सरकार इन संख्या को बढ़ाने पर जोर देगी।

हमारा लक्ष्य ऑनलाइन कोर्स को बढ़ावा देने पर है। देश में ‘अध्ययन’ कार्यक्रम की शुरुआत की जाएगी, इसके तहत विदेशी छात्रों को भारत में बुलाया जाएगा। उच्च शिक्षा के लिए अलग से कानून का मसौदा पेश किया जाएगा। राष्ट्रीय खेल शिक्षा बोर्ड का भी निर्माण किया जाएगा।

सब के लिए घर

वित्त मंत्री ने कहा कि अभी तक 26 लाख घरों का निर्माण पूरा हो चुका है, 24 लाख को घर दिया जा चुका है। उनका लक्ष्य 2022 तक हर किसी को घर देने का है। 95 प्रतिशत से अधिक शहरों को ओडीएफ घोषित किया गया है। आज एक करोड़ लोगों के फोन में स्वच्छ भारत ऐप है। देश में 1.95 करोड़ घर देने का लक्ष्य है।

2024 तक हर घर जल पहुंचाने का लक्ष्य

वित्तमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने पानी के लिए जलशक्ति मंत्रालय का गठन किया है। जल आपूर्ति के लक्ष्य को लागू किया जा रहा है, 1500 ब्लॉक की पहचान की गई है। इसके जरिए हर घर तक पानी पहुंचाया जाएगा। सरकार का लक्ष्य 2024 तक हर घर जल पहुंचाने का लक्ष्य है।

कृषि और व्पापार के लिए कदम

वित्त मंत्री ने कहा कि स्फूर्ति के जरिए देश में 100 नए क्लस्टर बनाए जाएंगे। 20 प्रोद्योगिकी बिजनेस इंक्यूबेटर स्थापित किए जाएंगे, जिसके जरिए 20 हजार लोगों को स्किल दिया जाएगा।

वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि कृषि अवसंरचना में अब निवेश को बढ़ावा दिया जाएगा। 10 हजार नए किसान उत्पादक संघ बनेंगे, दालों के मामले में देश आत्मनिर्भर बना है। हमारा लक्ष्य आयात पर कम खर्च करना है। इसके साथ ही डेयरी के कामों को भी बढ़ावा दिया जाएगा। अन्नदाता अब ऊर्जादाता भी हो सकता है। किसान को उसकी फसल का सही दाम देना हमारा लक्ष्य है।

2022 तक हर गांव में बिजली

उन्होंने कहा, “हमारी सरकार अपनी हर योजना में अंतोदय को बढ़ावा देने जा रही है। हमारी सरकार का केंद्र बिंदु गांव, किसान और गरीब है। हमारा लक्ष्य है कि 2022 तक हर गांव में बिजली पहुंचेगी। उज्ज्वला योजना और सौभाग्य योजना के जरिए देश में काफी बदलाव आया है।”

बीमा, एविऐशन में एफडीआई पर विचार

वित्त मंत्री ने भाषण में कहा कि मीडिया में भी विदेशी निवेश की सीमा बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। मीडिया के साथ-साथ एविऐशन और एनिमेशन के सेक्टर में भी एफडीआई  पर विचार किया जाएगा। इसके अलावा बीमा सेक्टर में 100 फीसदी एफडीआई पर भी विचार किया जा रहा है।

-उन्होंने कहा कि भारत अंतरिक्ष के क्षेत्र में एक बड़ी ताकत के रूप में उभरा है। हमारी सरकार इस ताकत को और भी बढ़ाना चाहती है और सैटेलाइट लॉन्च करने की क्षमता को बढ़ाया जाएगा।

-सेबी के तहत बनेगा सोशल स्टॉक एक्सचेंज

-एसएमई की पेमेंट में देरी रोकने के लिए बनेगा पेमेंट प्लेटफॉर्म

-इन्श्योरेंस इंटरमीडिएरी में 100 फीसदी एफडीआई की मंजूरी

-जीएसटी में पंजीकृत छोटे कारोबारियों को कर्ज की ब्याज दरों में 2 फीसदी की छूट मिलेगी

नेशनल ट्रांसपोर्ट कार्ड का ऐलान

सरकार की ओर से नेशनल ट्रांसपोर्ट कार्ड का ऐलान किया गया है। जिसका उपयोग रेलवे और बसों में किया जाएगा। इसे रूपे कार्ड की मदद से चलाया जा सकेगा, जिसमें बस का टिकट, पार्किंग का खर्चा, रेल का टिकट सभी एक साथ किया जा सकेगा. इसके साथ ही सरकार ने एमआरओ  का फॉर्मूला अपनाने की बात कही है। जिसमें मैन्यूफैक्चरिंग, रिपेयर और ऑपरेट का फॉर्मूला लागू किया जाएगा।

छोटे दुकानदारों को मिलेगी पेंशन

वित्त मंत्री ने घोषणा कि छोटे दुकानदारों को पेंशन दी जाएगी, साथ ही मात्र 59 मिनट में सभी दुकानदारों को लोन देने की भी योजना है। इसका लाभ 3 करोड़ से ज्यादा छोटे दुकानदारों को मिल सकेगा। हमारी सरकार इसके साथ ही हर किसी को घर देने की योजना पर भी आगे बढ़ रही है।

-रेलवे के विकास के लिए पीपीपी  मॉडल लागू होगा

वित्त मंत्री सीतारमण ने अपने भाषण में कहा कि हमारा लक्ष्य रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म का है। हमारी सरकार का अगला बड़ा लक्ष्य जल रास्ते को बढ़ावा देना है। साथ ही वन नेशन, वन ग्रिड के लिए हम आगे बढ़ रहे हैं, जिसका ब्लूप्रिंट तैयार किया जा रहा है। उन्होंने साथ ही ऐलान किया कि सरकार रेलवे में निजी भागेदारी को बढ़ाने पर जोर दे रही है। रेलवे के विकास के लिए पीपीपी मॉडल को लागू किया जाएगा।

सरकार ने 10 लक्ष्य बनाए

वित्त मंत्री के अनुसार पिछले पांच साल में हमने अर्थव्यवस्था में एक ट्रिलियन डॉलर जोड़े हैं। हमने 10 लक्ष्य तय किए हैं। पहला लक्ष्य भौतिक संरचना का विकास। दूसरा- डिजिटल इंडिया को अर्थव्यवस्था के हर क्षेत्र तक पहुंचाना। तीसरा- हरित मातृभूमि और प्रदूषण मुक्त भारत। चौथा- एमएसएमई, स्टार्टअप, डिफेंस, ऑटो और हेल्थ सेक्टर पर जोर देना है । पांचवां लक्ष्य- जल प्रबंधन और स्वच्छ नदियां बनाना। छठा- ब्लू इकोनॉमी। सातवां- गगनयान और चंद्रयान मिशन। आठवां- खाद्यान्न आत्मनिर्भरता। नौवां- स्वस्थ समाज, आयुष्मान भारत और सुपोषित महिलाएं-बच्चे। 10वां- जनभागीदारी, न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत आज रोजगार देने वाला देश बना है। हमारा जोर अब इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने पर है। भारतमाला के जरिए हम देश में सड़क हर गांव तक पहुंचा रहे हैं और नेशनल हाइवे का निर्माण कर रहे हैं। इस दौरान उन्होंने अपनी कई योजनाओं का जिक्र किया, जिसमें मुद्रा योजना, सागरमाला, मेक इन इंडिया आदि शामिल रहे।

-उन्होंने कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था पांच वर्ष में 2.7 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंची है। हमारा मकसद है- मिनिमम गवर्नमेंट, मैक्जिमम गवर्नेंस। 5 ट्रिलियन इकोनॉमी हासिल करने के लिए हमारे कुछ उद्देश्य है। इस वित्त वर्ष में हमने 3 ट्रिलियन डॉलर का लक्ष्य रखा है। हम दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। हमने कई ढांचागत सुधार किए हैं और अभी कई और सुधार करने हैं।

-बजट भाषण की शुरुआत करते हुए सीतारमण ने कहा कि हमारा उद्देश्य मजबूत देश के लिए मजबूत नागरिक है।

-वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेश कर रही हैं बजट 

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में बजट भाषण पढ़ना शुरू कर दिया है। बतौर पूर्णकालिक वित्त मंत्री बजट पेश करने वालीं वह देश की पहली महिला हैं।

-मोदी कैबिनेट ने बजट को दी मंजूरी

केंद्रीय कैबिनेट ने बजट-2019 को मंजूरी दे दी है। अब से कुछ देर में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में बजट पेश करेंगी।

संसद भवन पहुंचीं निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद भवन पहुंच गई हैं। यहां पर अब से कुछ देर में कैबिनेट की बैठक होगी। कैबिनेट बैठक में बजट को मंजूरी दी जाएगी। जिसके बाद बजट लोकसभा में पेश किया जाएगा। 11 बजे बजट पेश करने की कार्यवाही शुरू होगी।

-ब्रीफकेस नहीं बही खाता

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जब मंत्रालय पहुंचीं तो उन्होंने हर किसी को चौंका दिया। हर बार जब बजट की तस्वीर आती है तब वित्त मंत्री के हाथ में एक ब्रीफकेस रहता है। लेकिन इस बार कुछ अलग नजारा दिखा। उनके हाथ में एक मखमली लाल कपड़ा था जिसमें बजट की कॉपी बंद थी। लाल कपड़े पर अशोक स्तंभ का चिन्ह बना हुआ है। मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमणियन ने फोल्डर में बजट ले जाने पर कहा कि यह भारतीय परंपरा है। यह पश्चिमी मानसिकता की गुलामी से बाहर आने का प्रतीक है। इसे आप बजट नहीं बल्कि बही खाता कह सकते हैं।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *