Connect with us

अच्छी खबर

यदि आप अपने अधिकार जान गए तो पुलिस आपका कुछ नहीं बिगाड़ पाएगी!

Published

on

हेलो दोस्तों मेरा नाम अनिल पायल है, दोस्तों यदि आप आज अपने अधिकारों को जान गए तो पुलिस आपको कभी भी परेशान नहीं करेंगे और यदि पुलिस आपको परेशान करती भी है तो आप अपने अधिकारों का इस्तेमाल कर सकते हैं| तो आइए जानते हैं हमको मिलने वाले अधिकारों के बारे में|

पुलिस को यह अधिकार है कि वह शक के बिनाह पर किसी भी व्यक्ति को पुलिस स्टेशन बुला सकती हैं और उससे पूछताछ कर सकती है लेकिन यहां पर आपको भी यह अधिकार मिल जाता है कि यदि पुलिस आपसे थाने बुलाकर पूछताछ कर रही है तो आप अपने नाम और बेसिक इनफार्मेशन से ज्यादा पुलिस आपसे कोई इंफॉर्मेशन मांग रही है तो आप किसी व्यक्ति या अपने वकील को थाने में बुला सकते हैं और ऐसा करने से पुलिस आपको नहीं रोक सकती |

कोई भी पुलिस अधिकारी बिना किसी सर्च वारंट के आपके घर की तलाशी नहीं ले सकते और ना ही आपके घर में घुस सकता हैं | यदि कोई पुलिस वाला बिना सर्च वारंट के आपके घर में घुसता है या तलाशी लेता है तो आप उसको रोक सकते हैं उसको अंदर आने से मना करने का आपके पास अधिकार है, लेकिन कुछ विशेष परिस्थितियों में इस में पुलिस को छूट दी गई है कि वह बिना वारंट के आप के घर में घुस सकते हैं |

किसी भी महिला पर किसी भी प्रकार के हुए अपराध में पुलिस के पास यह अधिकार नहीं होता कि वह उस महिला का नाम पब्लिक में उजागर करें | उस महिला के नाम को गोपनीय रखना पुलिस की ड्यूटी होती है|

किसी भी महिला से पूछताछ करने के लिए पुलिस स्टेशन में किसी महिला पुलिस अधिकारी का होना जरूरी है और यदि महिला अपराधी पुलिस स्टेशन से बाहर है या अपने घर पर हैं तो पुलिस उसे शाम को 6:00 बजे के बाद पुलिस स्टेशन नहीं ले जा सकती है| आप पुलिस को इसके लिए मना कर सकते हैं. इसके अलावा किसी भी महिला को रात्रि में लॉकअप में भी नहीं रखा जा सकता जब तक कि उसका जुर्म साबित ना हो जाए|

पूरी दुनिया में सिर्फ 1 मिनट में क्या – क्या हो जाता है? एक मिनिट में होने वाली घटनाएं आपके होश उड़ा देंगी!

यदि आपको पुलिस किसी मुकदमे में जबरदस्ती हिरासत में ले लेती हैं, आपके साथ गलत व्यवहार किया जाता है या पुलिस आपको मनमाने तरीके से किसी केस में फंसा देती है तो आप पुलिस के खिलाफ धारा 156(3) के तहत एसीपी, डीसीपी को शिकायत कर सकते हैं और यदि ये लोग आपकी सुनवाई नहीं करते हैं तो आप अदालत में जाकर मजिस्ट्रेट से यह आर्डर ले सकते हैं कि आप पुलिस के खिलाफ FIR दर्ज करा सके | इसमें पुलिस के खिलाफ भी कार्रवाई होती है |

एक पुलिस अधिकारी हमेशा ड्यूटी पर रहता है… चाहे उसने वर्दी पहनी हो या नहीं वह 24 घंटे ड्यूटी पर रहता है | यदि आपके आसपास कोई अपराध हो रहा हो या फिर आपको पुलिस की जरूरत हो तो आप अपने नजदीकी पुलिस अधिकारी से इसकी शिकायत कर सकते हैं और मदद ले सकते हैं चाहे उस वक्त वह अधिकारी ड्यूटी पर हो या ना हो | उसे आपकी मदद करनी होगी यह आपका अधिकार है और पुलिस अधिकारी की ड्यूटी है |

इन 5 वैज्ञानिक तरीकों से इंसान हो सकता है अमर!

यदि पुलिस आपको किसी जुर्म में गिरफ्तार कर लेती है तो पुलिस आपको 24 घंटे से ज्यादा हिरासत में नहीं रख सकती | पुलिस को किसी भी मुजरिम को 24 घंटे के अंदर मजिस्ट्रेट के सामने पेश करना होता है उसके बाद ही कोर्ट फैसला करता है कि उस मुजरिम को हिरासत में रखना है या नहीं | लेकिन अगर इस दौरान बीच में कोई छुट्टी आ जाए तो पुलिस आप को हिरासत में रख सकती है |

जिगोलो गंदा है पर धंधा है. यहां महिलाएं लगाती हैं मर्दों की बोली!

मैं अब उम्मीद करता हूं कि आप अपने अधिकारों को जान गए होंगे | आगे से जब भी किसी पुलिस मैटर में फंसे तो अपने अधिकारों का इस्तेमाल जरूर करना…

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *