Connect with us

विशेष

रक्षा मंत्री सीतारमण को छोड़ना पड़ा विशेष विमान, गेट तक छोड़ने भी नहीं आए अफसर

Published

on

चुनाव आयोग ने रविवार को लोकसभा चुनाव 2019 की तारीखों की घोषणा कर दी। जिसके बाद पूरे देश में आचार संहिता यानी कोड ऑफ कंडक्ट लागू हो गया। इस वजह से रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण को रविवार को कुछ दिक्कतों को सामना करना पड़ा। दरअसल, रक्षामंत्री सीतारमण नई दिल्ली पहुंचने के लिए विशेष विमान के बजाय एक कमर्शियल फ्लाइट से आना पड़ा। इतना ही नहीं, उन्हें छोड़ने के लिए एयरपोर्ट के गेट तक कोई अफसर नहीं पहुंचा। सीतारमण के साथ ये सब आचार संहिता की वजह से हुआ।

निर्मला सीतारमण को एक कार्यक्रम से लौटते हुए चेन्नई से दिल्ली आ रही थी। उन्हें एक विशेष विमान से यहां आना था। लेकिन तब तक चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस हो गई और लोकसभा चुनावों की तारीख घोषित कर दी गई। इसी के साथ पूरे देश में आचार संहिता भी लागू कर दी गई। बीजेपी ने एक बयान जारी कर कहा कि सीतारमण ने नई दिल्ली के आने के लिए सरकारी कार और एस्कॉर्ट वाहनों का इस्तेमाल नहीं किया। वे एक बीजेपी नेता की कार से एयरपोर्ट पहुंची थीं और उन्होंने अफसरों को पहले ही बता दिया था कि कोई भी उन्हें टर्मिनल तक छोड़ने न आएं।

sitaraman take Commercial Flight instead of special aircraft due to code of conduct

बता दें कि लोकसभा चुनाव सात चरणों में कराए जाना है। पहले चरण की वोटिंग 11 अप्रैल को होगी। फिर अलग-अलग तारीखों में चुनाव होंगे। इसके नतीजे 23 मई को घोषित किए जाएंगे। बीजेपी ने एक नोटिफिकेशन जारी करके बताया है कि सीतारमण एक निजी कंपनी के विमान से रात आठ बजकर 40 मिनट पर राजधानी दिल्ली के लिए रवाना हुईं थीं।

क्या है आदर्श आचार संहिता?: आदर्श आचार सहिंता राजनीतिक पार्टियों और उम्मीदवारों के लिए चुनाव आयोग की ओर से जारी किए गए कुछ निर्देश होते हैं। हर पार्टी और उम्मीदवारों को इन नियमों का पालन करना होता है। इनका पालन नहीं करने पर उम्मीदवारों या पार्टियों पर चुनाव आयोग की ओर से कार्रवाई की जा सकती है। चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ ही आचार संहिता लागू हो जाती है और राजनीतिक पार्टियां, सत्ताधारी पार्टी, उम्मीदवार एक अधिकार क्षेत्र में रहकर ही काम कर सकते हैं. लोकसभा चुनाव के मामले में पूरे देश में आचार संहिता लागू होती है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *