Connect with us

रिश्ते

रमेश ने जानपर खेलकर बचाई आशिमा की इज्जत..बदले में उसे क्या मिला जिंदगी भर नहीं भूल पाएगा

Published

on

आज की घटना आपके पैरों के नीचे की जमीन खिसका देगी। यह घटना कोल्हापुर महाराष्ट्र की है जो एक दम सच घटना है बात यह है कि कोल्हापुर महाराष्ट्र का रहने वाला रमेश गुप्ता मुंबई में रहकर बीटेक की पढ़ाई कर रहा था।

दिनांक 22 जनवरी 2018 को रमेश अपने घर मुंबई से वापस आ रहा था रमेश अपनी बाइक से घर आ रहा था रास्ते पर अचानक रमेश ने देखा कि कुछ लड़के एक लड़की को खींचकर वैन में ज़बरदस्ती बैठा रहे थे रमेश एक जवान युवक था रमेश ने जब ये सब देखा तो उसका खून खौल उठा और रमेश तुरन्त बाइक रोक कर उस लड़की को वैन के पास जाकर बचाने लगा वैन में तीन युवक थे रमेश उन तीनों से भिड़ गया।

demo pic for ref

इसके बाद काफी देर तक रमेश उन तीनों से संघर्ष करता रहा जब उन लोगों ने सोचा कि इस लड़के से लड़ना मुश्किल है इसलिए उन लोगों ने रमेश पर लगातार गोलियां चला दी उन तीनों ने जब इस घटना को अंजाम दे दिया तो तुरंत वहाँ से वैन लेकर भाग गए लेकिन रमेश बहुत ज्यादा जख्मी हो गया रमेश ने उस लड़की की मदद से घर वालों को सूचना दी और एम्बुलेंस की मदद से यमुना अस्तपाल पहुँच गए जिस लड़की की जान बचाने के लिए रमेश उन तीनों लोगो से भिड़ा था उस लड़की का नाम आशिमा था ।

यह लड़की वासी की रहने वाली थी और उस दिन खरीददारी करके इनोवर्टी मॉल से अपने घर लौट रही थी। आशिमा के पिता अख्तर अंसारी एक प्लास्टिक की फैक्ट्री चलाते है। किसी तरह से तो रमेश की जान बच गयी फिर क्या हुआ आप विश्वाश नही करोगे।

जब एफआईआर की बात आई तो वह लड़की बयान देने से मुकर गई और उस लड़की ने कहा कि किसी भी प्रकार की कोई भी घटना नही हुई है और बिल्कुल साफ मना कर दिया। रमेश उस लड़की की बातों को सुनकर बहुत दुःखी हुआ क्योंकि रमेश उन तीनों अपराधियों को सजा दिलाना चाहता था लेकिन उस लड़की ने रमेश का साथ नही दिया। जब रमेश ने उस लड़की से पुलिस वालों को सच्चाई बताने के लिए दबाव डाला तो उल्टा उस लड़की के पिता ने रमेश को जान से मारने की धमकी दे दी।

रमेश इस हादसे से बिल्कुल टूट गया रमेश ने सोचा की जिस लड़की को में बचाने की कोशिस की उसी लड़की ने इतना बड़ा धोखा दिया इन सब बातों से रमेश एक टूट गया। मदद करने का उसे जो फल मिला वो कभी नहीं भूल पाएगा।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *