Connect with us

विशेष

रोज 1 डिब्बी सि गरेट पीता था शख्स..ऐसा हो गया फेफड़ों का हाल

Published

on

धूम्र पान (सि गरेट पीना) करना आपके शरीर के लिए किस कदर हा निकारक हो सकता है इसकी बानगी तब देखने को मिली जब चीन में डॉक्टरों ने एक रोगी के म रने के बाद उसके फेफड़ों को शरीर से बाहर निकाला।

करीब 30 सालों से धूम्र पान (सिग रेट, तंबा कू) की वजह से मृत व्यक्ति का पूरा फेफड़ा गुलाबी से काला पड़ चुका था और उसमें सिर्फ टार ही टार जमा था। डॉक्टरों ने जब उसके फेफड़ों को देखा तो वो भी सकते में आ गए।

चीन में डॉक्टरों ने जब उस बीमार शख्स की मौत के बाद फेफड़े को बाहर निकाला तो गुलाबी होने के बजाय पूरा फेफड़ा चारकोल जैसा बन चुका था जो दशकों से त म्बाकू के अवशेषों की वजह से हुआ था। अब उस काले फेफड़े का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

Image result for धूम्रपान (सिगरेट पीना) करना आपके शरीर के लिए किस कदर हानिकारक हो सकता है इसकी बानगी तब देखने को मिली जब चीन में डॉक्टरों ने एक रोगी के मरने के बाद उसके फेफड़ों को शरीर से बाहर निकाला।

सर्जनों द्वारा रिकॉर्ड किए गए वीडियो को सोशल मीडिया पर 25 मिलियन से अधिक बार देखा जा चुका है। इसे अस्पताल ने कैप्शन के साथ अपलोड किया था: ‘क्या आप अभी भी धूम्र पान करने की हिम्मत रखते हैं?’

सोशल मीडिया यूजर्स काले फेफड़े का यह वास्तविक वीडियो सामने आने के बाद इसे ‘सबसे अच्छा धूम्र पान विरोधी विज्ञापन’ करार दे रहे हैं। बता दें कि चीन के जिआंगसु के वूशी पीपुल्स अस्पताल के डॉक्टरों ने 52 साल के व्यक्ति का फेफड़े के कई रोग होने की वजह से मौ त के बाद उसके अंगों को बाहर निकाला था।

रोज पीता था एक डिब्बी सिगरेट, फेफड़ा देख डॉक्टरों के भी उड़े होश

रोगी ने मौत के बाद अपने अंगों को दान करने के लिए सहमति जताई थी लेकिन डॉक्टरों ने अंगों की हालत देखकर जल्दी ही महसूस कर लिया कि वे उनका उपयोग नहीं कर पाएंगे।

रोज पीता था एक डिब्बी सिगरेट, फेफड़ा देख डॉक्टरों के भी उड़े होश

डॉक्टरों के मुताबिक ‘रोगी ने अपनी मृ त्यु से पहले सीटी स्कैन नहीं कराया था। उन्हें ब्रे न डे ड घोषित किया गया था, और उसके कुछ समय बाद ही उनके फेफड़े दान कर दिए गए थे।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.