Connect with us

विशेष

लड़के ने पुलिसवाले से कहा-जज का बेटा हूं..तुम्हारी औकात क्या है…पुलिसवाले ने भी दिखा दी औकात

Published

on

चंडीगढ़ में पीसीअार की गाड़ियों पर नए मुलाजिम, लेकिन आजकल युवा उनको कुछ नहीं समझते। रविवार रात व सोमवार दोपहर को घटी 2 घटनाओं में लड़कों ने पुलिस को ठेंगा दिखा दिया। एक कार सवार लड़के ने पीसीआर मुलाजिम को गाड़ी के कागज मांगने पर जूता निकाल कर दिखा दिया।

दूसरे केस में दिल्ली के एक रिटायर्ड जज के बेटे ने पीसीआर इंचार्ज अजय पाठक को कहा कि तुम कौन होते हो मेरी गाड़ी रोकने वाले। तुम्हारी औकात क्या है… इसके बाद पीसीआर इंचार्ज ने चालान काट कर गाड़ी को इंपाउंड कर दिया।

रात 2 बजे खड़े होने का कारण पूछा तो बोला-पहले तू आईकार्ड दिखा है कौन… : पहली घटना फेज-7 में रात 2 बजे की है। कॉन्स्टेबल रमनदीप सिंह और शमशेर गश्त पर थे। उन्होंने देखा कि एक गाड़ी में 2 लड़के बैठे हुए हैं। मुलाजिमों ने उनके पास जाकर रात को बाहर घूमने का कारण पूछा। लड़के ने जवाब दिया कि 5 मिनट में घर जा रहे हैं। लड़का फेज-5 में गोविंद स्वीट्स शॉप के मालिक का बेटा बलजीत बताया गया। 45 मिनट बाद फिर पीसीआर उस पॉइंट से गुजरी तो लड़के वहीं खड़े थे। मुलाजिमों ने उनको जाने को कहा तो बलजीत उलझ गया।

मुलाजिम शमशेर ने गाड़ी के कागजात दिखाने को कहा तो आरोपी बलजीत बोला हमें क्या पता आप असली पुलिस हो या नकली पहले अपना आईकार्ड दिखाओ। पुलिस ने अपना आईकार्ड दिखाने के बाद बलजीत को गाड़ी के कागजात दिखाने को कहा। बलजीत ने जूता निकालकर मुलाजिमों को दिखाते हुए बोला-यह देखा कागजात। इस पर उनमें झड़प हुई और भागने का प्रयास कर मुलाजिमों पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया।

 

कार रोकी तो बोला-हाईकोर्ट के जज के बेटे की गाड़ी रोक रहे हो, सोच लो…गाड़ी इंपाउंड : एक लड़के ने कार का साइलेंसर बदला हुआ था और मार्केट में शोर मचाता हुआ जा रहा था। उसी समय पीसीआर इंचार्ज अजय पाठक वहां से निकल रहे थे। शोर सुनकर उन्होंने चालक का पीछा किया और गाड़ी रोक ली। लड़के को गाड़ी के कागजात दिखाने को कहा तो उसने जवाब दिया कि हाईकोर्ट के जज के बेटे की गाड़ी रोक रहे हो, सोच लो…पाठक ने कहा जज के बेटे हो तो रूल्स तोड़ोगे क्या?

आरोपी तेजवीर सिंह ने कहा कि दिल्ली हाईकोर्ट से उसके पिता पिछले महीने रिटायर हुए हैं और दिल्ली पुलिस शिकायत कमेटी के चेयरमैन हैं। आरोपी ने अपने पिता से फोन पर बात करवाने का प्रयास किया, लेकिन पिता के पीएसओ ने बात की और अजय पाठक ने पीएसआे को तेजवीर द्वारा की गई ड्रामेबाजी, मिसबिहेवबात बताई। पुलिस ने उसकी गाड़ी का बिना लाइसेंस, बिना आरसी, ब्लैक फिल्मिंग, बिना इंश्योरेंस, मोडिफाई साइलैंसर फंक्शन का चालान काट गाड़ी इंपाउंड कर ली।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *