Connect with us

विशेष

वीडियो में लोगों से पाकिस्तानी आर्मी का अफसर बोला-ऐसी मौत तो किस्मत वालों को मिलती है

Published

on

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले के जवाब में भारत की ओर से की गई ए’यरस्ट्राइक में पाकिस्तान के बालाकोट में स्थित जैश-ए-मोहम्मद के कई ठिकाने त’बाह हुए। 26 फरवरी को हुई इस ए’यरस्ट्राइक के सबूतों पर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे थे। इन सवालों के बीच सोशल मीडिया पर एक नया वीडियो वायरल हुआ है जिसे बालाकोट ए’यरस्ट्राइक का बताया जा रहा है।

इस वायरल वीडियो में एक अमेरिकी कार्यकर्ता ने दावा किया है कि बालाकोट में की गई ए’यरस्ट्राइक में करीब 200 से अधिक आतंकी मारे गए थे। मूलत: रूप से गिलगिट के रहने वाले अमेरिकी कार्यकर्ता सेंग हसन सेरिंग ने 2।20 मिनट का वीडियो जारी किया है जिसमें पाकिस्तानी सेना के जवान कुछ स्थानीय लोगों से मिल रहे हैं। और उन्हें सांत्वना दे रहे हैं, इसी दौरान वह कहते हैं कि कल हमारा करीब 200 बंदा ऊपर गया है।

समाचार एजेंसी ANI के दावे के मुताबिक, ये वीडियो उर्दू मीडिया में काफी वायरल हो रहा है और कई तरह के सवालों को जन्म दे रहा है। उर्दू मीडिया के अनुसार, ए’यरस्ट्राइक के बाद कई लाशों को बालाकोट से खैबर पख्तूनवा शिफ्ट किया गया था। वीडियो में दिखाया गया है कि पाकिस्तानी सेना के जवान कह रहे हैं कि हमारे 200 से ऊपर लोग शहीद हुए हैं, ये समय पाकिस्तानी सरकार के साथ खड़ा होने का है। जवान कह रहे हैं कि हमारे नसीब में शहादत नहीं लिखी है लेकिन जिनके नसीब में है हमें उनके साथ खड़ा होना चाहिए। इस दौरान आतंकियों के कई परिजन, बच्चे वीडियो में बिलखते हुए नज़र आ रहे हैं।

हालांकि अमेरिकी कार्यकर्ता सेंग हसन सेरिंग खुद भी कह रहे हैं कि वह इस वीडियो की पुष्टि नहीं कर सकते हैं, लेकिन इस प्रकार की चीजें देखकर ये स्पष्ट है कि पाकिस्तान कुछ बड़ा छुपा रहा है। वह पर लोकल मीडिया, अंतरराष्ट्रीय मीडिया को घुसने नहीं दिया जा रहा है। सेरिंग ने कहा कि पाकिस्तान भले ही लगातार दावा कर रहा हो कि बालाकोट में सिर्फ पेड़ों को ही नुकसान पहुंचा है लेकिन फिर भी उसने पूरे इलाके को घेरा हुआ है और सुरक्षा की व्यवस्था को पुख्ता किया हुआ है।

उन्होंने बताया कि वहां मौजूद जैश-ए-मोहम्मद के मदरसे से ए’यरस्ट्राइक के ठीक अगले दिन कई लाशों को खैबर पख्तनूवना शिफ्ट किया गया। इनसभी बातों को लोकल मीडिया और अंतरराष्ट्रीय मीडिया से छुपाया गया था।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *