Connect with us

दुनिया

वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस की पहचान की, जल्द इलाज की उम्मीद जगी

Published

on

बीजिंग। घातक कोरोना वायरस को अभी तक किसी तरह की पहचान नहीं मिल सकी है। इसलिए ये दुनिया में दहशत फैला रहा है। दुनिया के वैज्ञानिक इस पर रिसर्च कर रहे हैं। इसमें उन्हें कामयाबी भी मिली है। वैज्ञानिकों की एक टीम को वायरस की असल संरचना को जानने में सफलता मिली है। इतना ही नहीं, जब यह वायरस किसी की कोशिका में जाता है तो उस वक्त कोशिका की स्थिति का भी आकलन किया गया है। इसकी तस्वीर को लेने में वैज्ञानिक कामयाब हुए हैं।

Coronavirus: जल्द आने वाली है एंटीवायरल दवाइयां, अगले साल तक वैक्सीन

इलाज की उम्मीद बढ़ी

इस कामयाबी के बाद कोरोना वायरस की पहचान करने,विश्लेषण करने और जरूरी क्लिनिकल रिसर्च का रास्ता साफ हो सकेगा। वैज्ञानिकों को इस नए खतरनाक वायरस की काट मिलने की उम्मीद भी बढ़ गई है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दक्षिण चीन के शेनजेन में रिसर्चरों की एक टीम ने ऐसी पहली तस्वीर जारी की है। यह बताती है कि नया कोरोना वायरस ‘असल में दिखता’ कैसा है। इस तस्वीर को फ्रोजेन इलेक्ट्रॉन माइक्रोसोप ऐनालिसिस टेक्नॉलजी की मदद से कैद किया गया है।

संक्रमित कोशिका की तस्वीर लेने में भी सफलता

वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस को ‘जिंदा पकड़ा’, जल्द इलाज ढूंढे जाने की जगी है। उम्मीद है कि कोरोना वायरस को लेकर चीन के वैज्ञानिकों को अहम कामयाबी मिली है। वैज्ञानिकों ने वायरस की पहली विश्वसनीय तस्वीर लेने में कामयाबी हासिल की है। इसके अलावा वायरस से संक्रमित कोशिका की तस्वीर लेने में भी सफलता मिली है। यह कामयाबी इसलिए अहम है कि इससे अब जल्द ही कोरोना वायरस की काट मिलने की उम्मीद जगी है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.