Connect with us

विशेष

शादीशुदा महिलाओं को याद रखनी चाहिए द्रौपदी की ये 4 बातें

Published

on

कुछ व्यक्ति द्रौपदी को इतिहास की सबसे खूबसूरत महिला मानते हैं, जबकि कुछ लोगो का कहना है महाभारत होने का प्रमुख कारण द्रौपदी ही है. आज हम आपको इस लेख के माध्यम से द्रौपदी द्वारा बताई गए 4 ऐसी महत्वपूर्ण बातों के बारें में बताएँगे जिसे हर स्त्री को याद रखना चाहिए.

शादी के बाद हर महिला अपने पति को अपने अनुसार चलने के लिए विचार करती है. आसान भाषा में कहे तो उन्हे वश में करने का विचार करती हैं, किन्तु द्रौपदी ने बताया हैं की स्त्रियों को कभी भी अपने मन में इस तरह का विचार नही लाना चाहिये, नहीं तो उनका बसा बसाया घर उजड़ सकता है.

Image result for mahabharat ke wallpaper hd draupadi

एक अच्छी स्त्री को हमेशा दूसरी स्त्रियों से दूरी बना कर ही रखना चाहिए. बुरीस्त्रीया बसे बसाये घर को उजाड़ने में देरी नही करती हैं.

द्रौपदी के अनुसार एक पतिव्रता स्त्री के लिए उसका पति ही सब कुछ होता है. इसलिए कभी भी परिस्थिति में घबराना नही चाहीये सदेव अपने पति का साथ देना चाहिए.

स्त्री को कभी भी अपने घर की बातों को किसी के साथ शेयर नहीं करना चहिए. इससे व्यक्ति को आपके घर का भेद पता चलता हैं.

द्रौपदी कहती हैं – जो स्त्रियां अपने मन मे पति को वश में करने का विचार रखती हैं उनकी शादीशुदा जिंदगी सुखद नही होती. क्योंकि उसके ऐसा चाहने से रिश्तो में कड़वाहट पैदा होने लगती है. इसलिए यदि स्त्री को एक सुखद दाम्पत्य जीवन चाहिए तो उसे कभी भी अपने पति के ऊपर राज या उसे वश में करने की कोशिश नही करनी चाहिए. साथ ही यह भी बताया गया कि स्त्रियां पहले से ही अर्धांगिनी होती हैं जिसका मतलब है अपने पति का आधा हिस्सा, जिसके बाद शासन और राज करने जैसी भावना का उत्पन्न होना भी गलत है.

शादी में क्यों दिए जाते हैं एक-दूसरे को सात वचन, क्या आप जानते हैं इनका महत्व

वैसी स्त्रियां जो अपने और पति के बीच की गूढ़ बातों का किसी तीसरे शख्स से साझा करती हैं उनकी जिंदगी हमेशा संकट में गुजरती है. इससे आपके सम्बन्ध का रहस्य खुलने के साथ-साथ खुद का व्यंग्य बन जाता है. जिसे लेकर वो आपके बुरे समय मे गलत फायदा उठा सकते हैं. इसलिए स्त्री को अपनी निजी बातें पति के अलावा किसी से भी साझा नही करना चाहिए. ऐसा करने से आपकी शादीशुदा जिंदगी भी मुसीबत में आ सकती है.

द्रौपदी ने सभी महिलाओ के लिए यह संदेश दिया है कि एक स्त्री के लिए सब कुछ उसका पति ही होता है. इसलिए परिस्थिति कितनी भी बुरी क्यों ना हो, घबराए बिना अपने पति को याद करना चाहिए. क्योंकि एक पतिव्रता नारी के लिए उसका पति ही ज्ञान व शक्ति का भंडार होता है. पति के स्मरण मात्र से शरीर के भीतर ऊर्जा और सकारात्मकता का संचार होगा.

आखिर बात के तौर पर द्रौपदी ने बताया है कि सभी स्त्रियों को अपने पति को देवता की तरह पूजना चाहिए. उन्हें स्वामी मानकर सेवा करनी चाहिए क्योंकि इस जीवन के मजधार में पति ही आपके सब कुछ हैं. खासकर वैसी स्त्रियों से दूरी बनाकर रखनी चाहिए जो हमेशा गलत सोच रखती हो क्योंकि इससे आपकी जिंदगी पर बुरा प्रभाव पड़ेगा. अपने पति पर सबसे ज्यादा भरोसा करना चाहिए और अपनी सुख-दुख की बातें करनी चाहिए.

 

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *