Connect with us

सेहत

हार्ट अटैक आने के एक महीना पहले से ये 6 लक्षण दिखाई देते हैं, जानियें

Published

on

दुनिया में ज्यादातर लोगों की मौत की वजह हार्ट अटैक होती है। कुछ मरीजों को तो हार्ट अटैक के बारे में पता ही नहीं चलता लेकिन अगर थोड़ी इहितयात बरती जाएं तो इससे होने वाली मौतों से बचा जा सकता है। हार्ट अटैक एकदम से नहीं आ जाता है. अटैक के कई महीने पहले से ही लक्षण दिखाई देने लगते है मगर यह इतने मामूली से लगते है की लोग इन्हे नज़र अंदाज़ कर देते है. ऐसा ना करे. सजग रहे. लक्षण को आज परखे और कल बचे हार्ट अटैक से. यह है वो लक्षण जो प्रारंभिक है और आगे जा के हार्ट अटैक का कारण हो सकती है.

Image result for हार्ट अटैक आने के एक महीना पहले से ये 6 लक्षण दिखाई देते हैं, जानियें

हार्ट अटैक से मरने वाले करीब एक तिहाई मरीज़ों को तो यह पता ही नहीं होता कि वे हृदय रोगी हैं और अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ देते हैं। इसके लिए ज़िम्मेदार एक बड़ा कारण यह है कि पहले आए हार्ट अटैक को मरीज़ ने पहचाना ही न हो। ऐसा हार्ट अटैक, जिसके लक्षण अस्पष्ट हों या जिनका पता ही न चले, उसे साइलेंट हार्ट अटैक कहते हैं।

दिल की बीमारी से होने वाली मौत के हर छह मामलों में से एक में लोग शुरुआती चेतावनी पर ग़ौर करना भूल जाते हैं. ये बात ब्रिटेन में हुए एक सर्वे में सामने आई है.

सीने में असहजता –

सीने में होने वाली असहजता दिल के दौरे के लिए जिम्मेदार लक्षणों में से एक है। सीने में होने वाली दर्द आपको हार्ट अटैक का शिकार बना सकता है। अगर आपको सीने में किसी दबाव या जलन की शिकायत हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

थकान –

बिना किसी वर्कआउट या मेहनत के ही थकान होना भी हार्ट अटैक की दस्तक हो सकती है। दिल को ज्यादा मेहनत की जरूरत तब होती है जब हदय धमनियां कोलेस्ट्राल के कारण बंद हो जाती है। कई बार अच्छी नींद लेने के बाद ही आलस औऱ थकान का अनुभव करते हैं और दिन में भी नींद आती है।

सूजन –

दिल को शरीर के बाकी अंगों में रक्त पहुंचाने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है, जिसकी वजह से शिराएं फूल जाती हैं और उनमें सूजन आ जाती है। दिल पूरे शरीर में खून की सप्लाई करता है| मगर जब दिल सही तरीके से खून की सप्लाई नहीं कर पाता उस दौरान शरीर मैं ब्लड सप्लाई करने वाली सी राय फुल कर शूज जाती है| जिसकी वजह से नसें फुल कर दिखने लगती है| इसके अलावा पैर के पंजे और देखने पर सूजन भी दिखाई देने लगता है| अगर आपके शरीर में भी यह लक्षण नजर आते हैं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं| होंठों की सतह का रंग नीला होना भी इसमें शामिल है।

सर्दी का बना रहना –

लंबे समय तक सर्दी या इससे संबंधित लक्षणों का बना रहना भी दिल के दौरे की ओर ही इशारा करते हैं। जब दिल सर्दी में कफ के साथ सफेद या गुलाबी रंग का बलगम, फेफड़ों में स्त्रावित होने वाले रक्त के कारण हो सकता है।

चक्कर आना –

दिल के कमजोर हो जाने की वजह से खून का संचार सही से नहीं हो पाता है। ऐसे में दिमाग को आक्सीजन नहीं मिल पाती जिससे चक्कर आने लगते हैं। यह हार्ट अटैक के लिए जिम्मेदार एक गंभीर लक्षण है, जिस पर आपको तुरंत ध्यान देना चाहिए।

सांस लेने में कठिनाई –

इसके अलावा अगर सांस लेने में कोई परेशानी हो रही है तो यह भी हार्ट अटैक की निशानी हो सकती है। दिल के ठीक ढंग से काम न कर पाने की वजहसे फेफड़ों तक उतनी मात्रा में आक्सीजन नहीं पहुंचती जिसकी उसको चाहिए, जिससे सांस लेने में कठिनाई होने लगती है।

ठंडा पसीना-

ठंडा पसीना छूटे तो बिल्कुल सजग हो जाए क्योंकि यह एक संकेत है दिल के दौरे का. बिना कोई श्रम किए कोई इंसान पसीना पसीना हो जाए तो तुरंत डॉक्टर के पास ले जाए.

ये वो लक्षण है जो आपको बताते है की आपको दिल का दौरा आने वाला है ताकि आप अटैक आने से पहले ही अपना इलाज कर सके एक बात का ध्यान जरुर रखे इन लक्षणों को अनदेखा ना करे.

यदि आपको इन 6 लक्षणों में से कोई भी लक्षण महसूस हो रहा है तो तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करें।

देखे विडियो :-

https://youtu.be/YhaqEzFtUiM\

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें ।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.