Connect with us

समाचार

हैदराबाद एनका उंटर पर उठे सवाल, पुलिस पर FIR दर्ज करने की मांग

Published

on

हैदराबाद गैं गरेप-मर्ड र केस में चारों आ रोपियों के साथ हुए एनका उंटर पर सवाल उठने लगे हैं. सुप्रीम कोर्ट की वकील वृंदा ग्रोवर ने पुलिस पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की. उन्होंने कहा कि पुलिस पर मुकदमा दर्ज किया जानिए और पूरे मामले की स्वतंत्र न्यायिक जांच कराई जानी चाहिए. महिला के नाम में कोई भी पुलिस एनका उंटर करना गलत है.

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा, ‘एनका उंटर हमेशा ठीक नहीं होते हैं. इस मामले में पुलिस के दावे के मुताबिक आरोपी बं दूक छीन कर भाग रहे थे. ऐसे में शायद उनका फैसला ठीक है. हमारी मांग थी कि आ रोपियों को फां सी की सजा मिले, लेकिन कानूनी प्रक्रिया के तहत. हम चाहते थे कि स्पीडी जस्टिस हो. पूरी कानूनी प्रक्रिया के तहत ही कार्रवाई होनी चाहिए. आज लोग एनका उंटर से खुश हैं, लेकिन हमारा संविधान है, कानूनी प्रक्रिया है.’

चारों आरोपियों के साथ एनकाउंटर

मेनका गांधी ने भी उठाए सवाल

भारतीय जनता पार्टी की सांसद मेनका गांधी ने भी एनका उंटर पर सवाल उठाते हुए कहा है कि यह बहुत भयानक है. उन्हें फां सी की सजा मिलती, आप कानून को हाथ में नहीं ले सकते. आ रोपियों को न्यायिक प्रक्रिया के तहत सजा मिलनी चाहिए.

हैदराबाद पुलिस से सीख ले UP पुलिस

इस मामले में बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि ब लात्कारियों में दहशत पैदा करने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस को हैदराबाद पुलिस से सीख लेनी चाहिए. मैं जब मुख्यमंत्री थी तब अपनी पार्टी के आरोपी लोगों को भी जेल भेजा था. उत्तर प्रदेश और दिल्ली पुलिस को अपना रवैया बदलना चाहिए.

बीजेपी ने की हैदराबाद पुलिस की तारीफ

वहीं, बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने कहा, ‘धन्यवाद हैदराबाद पुलिस, यह ब लात्कारियों से निपटने का तरीका है. आशा है अन्य राज्यों की पुलिस आपसे सीख लेगी.’

क्या है पूरा मामला

हैदराबाद गैं गरेप-मर्ड र केस में चारों आ रोपियों का शुक्रवार सुबह 3 से 6 बजे के बीच एनका उंटर कर दिया गया है. पुलिस का दावा है कि आ रोपियों ने क्राइम सीन रिक्रिएट के दौरान हमला कर दिया और हथियार छीनकर भागने की कोशिश करने लगे. इस दौरान पुलिस ने आ रोपियों को मा र गिराया.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.