Connect with us

विशेष

629 पाकिस्तानी लड़कियों को दुल्हन बता चीन को बेचा गया, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

Published

on

न्यूज एजेंसी AP ने एक लिस्ट हासिल की है, जिसे मानव तस्करी (Human Traffi cking) को रोकने के लिए प्रतिबद्ध पाकिस्तानी जांचकर्ताओं ने तैयार किया है. इसमें सैकड़ों लड़कियों और महिलाओं की पहचान की गई है जो कि पूरे पाकिस्तान (Pakistan) से दुल्हनों के तौर पर चीनी लोगों को बेची गईं और इस तरह उन्हें चीन (China) ले जाया गया.

 कई पेज के दस्तावेजों में कुल 629 महिलाओं के नाम दर्ज हैं. इन महिलाओं को पाकिस्तान के अलग-अलग हिस्सों से चीन के लोगों को दुल्हन के तौर पर बेचा गया. न्यूज एजेंसी AP ने इससे जुड़े दस्तावेज हासिल किए हैं. जिसे पाकिस्तानी जांचकर्ताओं ने तैयार किया है. ये जांचकर्ता पाकिस्तान में गरीब लोगों का शोषण करने वाले देह व्यापार के नेटवर्क को तोड़ने के लिए काम कर रहे हैं. (फोटो- AP)

कई पेज के दस्तावेजों में कुल 629 महिलाओं के नाम दर्ज हैं. इन महिलाओं को पाकिस्तान के अलग-अलग हिस्सों से चीन के लोगों को दुल्हन के तौर पर बेचा गया. न्यूज एजेंसी AP ने इससे जुड़े दस्तावेज हासिल किए हैं. जिसे पाकिस्तानी जांचकर्ताओं ने तैयार किया है. ये जांचकर्ता पाकिस्तान में गरीब लोगों का शोषण करने वाले देह व्यापार के नेटवर्क को तोड़ने के लिए काम कर रहे हैं. (फोटो- AP)

 यह पाकिस्तान से चीन में 2018 से हुए देह व्यापार के सबसे विश्वसनीय आंकड़े हैं लेकिन पाकिस्तानी सरकार ने देह व्यापार को रोकने के सरकारी प्रयासों में जारी तेजी को जून, 2018 से रोक दिया है. कहा जा रहा है कि ऐसे प्रयासों से पाकिस्तान को चीन से अपने आर्थिक मुनाफे के नुकसान का डर है. (फोटो- AP)

यह पाकिस्तान से चीन में 2018 से हुए देह व्यापार के सबसे विश्वसनीय आंकड़े हैं लेकिन पाकिस्तानी सरकार ने देह व्यापार को रोकने के सरकारी प्रयासों में जारी तेजी को जून, 2018 से रोक दिया है. कहा जा रहा है कि ऐसे प्रयासों से पाकिस्तान को चीन से अपने आर्थिक मुनाफे के नुकसान का डर है.

 पाकिस्तान में तस्करों के खिलाफ आया सबसे बड़ा मामला बंद हो चुका है. अक्टूबर में फैसलाबाद की एक कोर्ट ने 31 चीनी नागरिकों को तस्करी के आरोपों से बरी कर दिया था. इसमें बरामद हुई कई महिलाओं ने पुलिस पूछताछ में कोई भी गवाही देने से मना कर दिया था. इस केस से जुड़े रहे एक कोर्ट अधिकारी और एक पुलिस अधिकारी बताते हैं कि ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि इन महिलाओं को शांत रहने की या तो धमकी दी गई थी या उन्हें इसके लिए पैसे दिए गए थे. (फोटो- AP)

पाकिस्तान में तस्करों के खिलाफ आया सबसे बड़ा मामला बंद हो चुका है. अक्टूबर में फैसलाबाद की एक कोर्ट ने 31 चीनी नागरिकों को तस्करी के आरोपों से बरी कर दिया था. इसमें बरामद हुई कई महिलाओं ने पुलिस पूछताछ में कोई भी गवाही देने से मना कर दिया था. इस केस से जुड़े रहे एक कोर्ट अधिकारी और एक पुलिस अधिकारी बताते हैं कि ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि इन महिलाओं को शांत रहने की या तो धमकी दी गई थी या उन्हें इसके लिए पैसे दिए गए थे. (फोटो- AP)

 एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, यह फायदे का धंधा अब भी जारी है. न्यूज एजेंसी ने अधिकारी का इंटरव्यू उसके कार्यस्थल से हजारों किमी दूर किया ताकि उसकी पहचान छिपी रहे. इस अधिकारी ने बताया, चीनी और पाकिस्तानी दलाल खरीददार तथाकथित दूल्हों से चार लाख से 10 लाख पाकिस्तानी रुपये यानी करीब 25 हजार से 65 हजार अमेरिकी डॉलर लेते हैं लेकिन लड़कियों के परिवार को सिर्फ 2 लाख पाकिस्तानी रुपये ही दिए जाते हैं. (फोटो- AP)

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, यह फायदे का धंधा अब भी जारी है. न्यूज एजेंसी ने अधिकारी का इंटरव्यू उसके कार्यस्थल से हजारों किमी दूर किया ताकि उसकी पहचान छिपी रहे. इस अधिकारी ने बताया, चीनी और पाकिस्तानी दलाल खरीददार तथाकथित दूल्हों से चार लाख से 10 लाख पाकिस्तानी रुपये यानी करीब 25 हजार से 65 हजार अमेरिकी डॉलर लेते हैं लेकिन लड़कियों के परिवार को सिर्फ 2 लाख पाकिस्तानी रुपये ही दिए जाते हैं. (फोटो- AP)

 अधिकारियों ने बताया कि सालों साल पाकिस्तान से होने वाले इस देह व्यापार के अध्ययन के बाद उन्होंने पाया है कि कई महिलाओं ने बताया कि उन्हें जबरदस्ती प्रजनन उपचार के क्षेत्र में धकेला गया, कई के साथ शारीरिक और यौन शोषण हुआ और कुछ मामलों में उन्हें वेश्यावृत्ति में भी धकेला गया. उन्होंने बताया, हालांकि ज्यादा सूबूत नहीं मिले हैं लेकिन एक मामला सामने आया है जिसमें चीन भेजी गई एक महिला के कुछ अंगों को निकाले जाने की बात सामने आई है. (फोटो- AP)

अधिकारियों ने बताया कि सालों साल पाकिस्तान से होने वाले इस देह व्यापार के अध्ययन के बाद उन्होंने पाया है कि कई महिलाओं ने बताया कि उन्हें जबरदस्ती प्रजनन उपचार के क्षेत्र में धकेला गया, कई के साथ शारीरिक और यौन शोषण हुआ और कुछ मामलों में उन्हें वेश्यावृत्ति में भी धकेला गया. उन्होंने बताया, हालांकि ज्यादा सूबूत नहीं मिले हैं लेकिन एक मामला सामने आया है जिसमें चीन भेजी गई एक महिला के कुछ अंगों को निकाले जाने की बात सामने आई है. (फोटो- AP)

 सितंबर में पाकिस्तानी जांच एजेंसी ने झूठी चीनी शादियों के मामले नाम की एक रिपोर्ट पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को भेजी थी. इसमें 52 चीनी नागरिकों के खिलाफ दर्ज मामलों की जानकारी दी गई है. इन मामलों में से 20 सिर्फ पाकिस्तान के दो शहरों पूर्वी पंजाब प्रॉविन्स के फैसलाबाद और लाहौर के हैं. यह धंधा इस्लामाबाद में भी जारी है. बता दें कि इस फाइल में जिन आरोपियों का जिक्र था, उसमें कोर्ट द्वारा छोड़े गए 31 चीनी नागरिक भी शामिल थे. सरकार और प्रशासन इन मामलों को दबाने में जुटा है. (फोटो- AP)

सितंबर में पाकिस्तानी जांच एजेंसी ने झूठी चीनी शादियों के मामले नाम की एक रिपोर्ट पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को भेजी थी. इसमें 52 चीनी नागरिकों के खिलाफ दर्ज मामलों की जानकारी दी गई है. इन मामलों में से 20 सिर्फ पाकिस्तान के दो शहरों पूर्वी पंजाब प्रॉविन्स के फैसलाबाद और लाहौर के हैं. यह धंधा इस्लामाबाद में भी जारी है. बता दें कि इस फाइल में जिन आरोपियों का जिक्र था, उसमें कोर्ट द्वारा छोड़े गए 31 चीनी नागरिक भी शामिल थे. सरकार और प्रशासन इन मामलों को दबाने में जुटा है. (फोटो- AP)

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.