Connect with us

विशेष

भारत में भी 2-18 साल के बच्चों के कोरोना वैक्सीन को लेकर आई बड़ी खुशखबरी

Published

on

देशभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है. इस बीच एक अच्छी खबर है कि जल्द ही 2 से 18 साल के बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन का ट्रायल (Corona Vaccine Trail) शुरू किया जा सकता है. सब कुछ ठीक रहा तो जल्द ही कनाडा और अमेरिका के बाद भारत में भी 2 से 18 साल के एज ग्रुप के लिए भी कोरोना की स्वदेशी वैक्सीन तैयार हो जाएगी.

एक्सपर्ट पैनल ने की Covaxin के ट्रायल की सिफारिश

एक विशेषज्ञ समिति ने मंगलवार को 2-18 आयुवर्ग के लिए भारत बायोटेक के कोविड-19 टीके कोवैक्सीन के दूसरे/तीसरे चरण के लिए परीक्षण की सिफारिश की है. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. यह ट्रायल AIIMS दिल्ली, AIIMS पटना और मेडिट्रिना इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज नागपुर में 525 विषयों पर किया जाएगा.

Bharat Biotech's Covaxin approved for those above 12 years? This is what government said about vaccination for children | Zee Business

एक्सपर्ट पैनल ने दूसरे-तीसरे चरण के ट्रायल की सिफारिश की

केन्द्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (CDSCO) की कोविड-19 विषय विशेषज्ञ समिति ने मंगलवार को भारत बायोटेक (Bharat Biotech) द्वारा किए गए उस आवेदन पर विचार-विमर्श किया, जिसमें उसके कोवैक्सीन टीके की दो साल से 18 साल के बच्चों में सुरक्षा और रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने समेत अन्य चीजों का आकलन करने के लिए परीक्षण के दूसरे/तीसरे चरण की अनुमति देने का अनुरोध किया गया था. एक सूत्र ने कहा कि कंपनी के आवेदन पर विस्तृत विचार-विमर्श के बाद समिति ने प्रस्तावित दूसरे/तीसरे चरण के परीक्षण की अनुमति दिए जाने की सिफारिश की है.

Bombay High Court directs State to Hand Over Idle Manufacturing Unit to Biovit for Producing Covaxin

डेटा मॉनिटरिंग बोर्ड को देना होगा ट्रायल डेटा

सूत्रों के मुताबिक एक्सपर्ट्स कमेटी ने कंपनी को तीसरे फेज के ट्रायल के लिए CDSCO से अनुमति लेने से पहले डेटा एंड सेफ्टी मॉनिटरिंग बोर्ड (DSMB) को दूसरे फेज का सुरक्षा डेटा मुहैया करने का निर्देश दिया है. इससे पहले 24 फरवरी को हुई बैठक में प्रस्ताव पर विचार-विमर्श किया गया था और भारत बायोटेक को रिवाइज्ड क्लिनिकल ट्रायल प्रोटोकॉल पेश करने का निर्देश दिया गया था.

18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को लग रही है वैक्सीन

बता दें कि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के सहयोग से भारत बायोटेक (Bharat Biotech) द्वारा स्वदेशी रूप से विकसित कोवैक्सिन (Covaxin) टीके का उपयोग देश में वैक्सीनेशन प्रोग्राम के लिए 18+ के लिए किया जा रहा है.

Voluntary licensing of Covaxin will boost vaccine production | Hindustan Times

अमेरिका में 12 से 15 साल के बच्चों को वैक्सीन को मंजूरी

इससे पहले सोमवार को ही अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (US-FDA) ने 12 से 15 साल के बच्चों के लिए फाइजर-बायोएनटेक (Pfizer-BioNTecch) की कोरोना वैक्सीन को इजाजत दी है. अब तक यह वैक्सीन 16 साल से ज्यादा उम्र वालों को लगाई जा रही थी.

कनाडा ने सबसे पहले दी थी बच्चों को वैक्सीन देने की मंजूरी

Bharat Biotech's Covid-19 vaccine may provide immunity for 12 months

इससे पहले कनाडा बच्चों की इस पहली वैक्सीन को इजाजत दे चुका है. ऐसा करने वाला दुनिया का वह पहला देश है. माना जा रहा है कि 12 से 15 साल तक के बच्चों के वैक्सीनेशन से अमेरिका में बड़ी संख्या में स्कूल और समर कैंप खुलने का रास्ता साफ हो जाएगा.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *