Connect with us

लाइफ स्टाइल

40 प्लस उम्र के लोग डेटिंग पर जाना चाहते हैं तो रखें इन 5 बातों का ख्याल, आसान होगी राह

Published

on

किसी लड़के या लड़की के साथ डेट पर जाना हर किसी को पसंद होता है। हर कोई अपनी लाइफ में एक पार्टनर तलाशता है। अक्सर लोगों की सोच होती है कि डेटिंग जैसी चीज सिर्फ यंग एज में ही की जाती है। लेकिन ऐसा नहीं है। आप चाहें तो 40 की उम्र पार करने के बाद भी डेटिंग कर सकते हैं। बस उम्र के इस पढ़ाव में दिक्कतें थोड़ी अधिक होती है। इसमें आपके सामने थोड़े ज्यादा चैलेंज होते हैं। इस उम्र में डेट करने वाले या तो कुँवारे होते हैं या फिर तलाक या दिल टूटने की वजह से एक पार्टनर चाहते हैं। तो चलिए जानते हैं कि इस उम्र में आप को कौन कौन सी दिक्कतें झेलनी पड़ सकती है।

1. 40 से अधिक की उम्र में आकर महिलाओं को बच्चे पैदा करने में दिलचस्पी नहीं रहती है। वहीं पुरुष बच्चे पाने की इच्छा रखते हैं। वैसे कुछ मामलों में इसका उल्टा भी देखने को मिलता है। अब इस उम्र में आपको सें एज का ही पार्टनर मिले यह भी जरूरी नहीं है। उम्र में अंतर होने पर पार्टनर के बीच अक्सर लड़ाई झगड़े होते रहते हैं। दोनों के सोच विचार एक दूसरे से मेल नहीं खाते हैं।

2. 40 की उम्र के बाद इंसान का लचीलापन खत्म हो जाता है। वह इस उम्र में इतना परिपक्व हो जाता है कि किसी भी बदलाव के लिए रेडी नहीं रहता है। मतलब वह खुद को अपने पार्टनर के अनुरूप ढालता नहीं है। वह जैसा है वैसा ही रहता है। यह चीज एक साथ रहने पर मुश्किलें पैदा कर देती है। इससे रिलेशनशिप ज्यादा दिनों तक नहीं चलती है।

3. 40 की उम्र में डेटिंग करने के लिए पार्टनर मिलने की संभावना भी कम होती है। जब आप 20 या 30 के दशक में होते हैं तो दोस्तों के माध्यम से आसानी से कुँवारे पार्टनर मिल जाते हैं। लेकिन 40 की उम्र में ऐसा संभव नहीं होता है। उम्र बढ़ने के साथ साथ नए नए पार्टनर्स के मिलने में भी कमी आने लगती है।

4. उम्र बढ़ने के साथ इंसान का आत्मविश्वास भी कमजोर पढ़ने लगता है। इस उम्र में चेहरे पर झुर्रियां पड़ने लगती है। आप इस उम्र में उतने खूबसूरत नहीं लगते हैं जीतने जवानी में दिखा करते थे। हालांकि आपको इस उम्र में अपने लुक से ज्यादा व्यक्तित्व पर भरोसा करना चाहिए। इस उम्र में लोगों को एक सुंदर नहीं अच्छे व्यक्तित्व वाले इंसान की तलाश होती है। एक ऐसा शख्स जो उनके जीवन में खुशियों की लहर ला दे।

5. तलाक होने पर या पार्टनर को खोने पर दोबारा रिश्ते बनाना बहुत मुश्किल होता है। यदि आपको कोई नया पार्टनर मिल भी जाए तो भी उसके साथ खुशहाल जीवन जीना इतना आसान नहीं होता है। आप उसकी तुलना अपने पहले पार्टनर से करने लगते हैं। बार बार आपको अपने पहले पार्टनर की याद आने लगती है। आप हर चीज में उन्हें अपने पहले प्यार से कंपेयर करने लगते हैं। इन चीजों के चलते आपके रिश्तों में दरार आने लगती है। यह उतना मजबूत नहीं रह पाता है।

वैसे 40 की उम्र के बाद डेटिंग और प्यार करने के बारे में आप क्या सोचते हैं हमे कमेंट कर जरूर बताएं।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *