Connect with us

दुनिया

LOCKDOWN 2.0: पीएम मोदी का फैसला दुनिया के लिए नजीर, सही समय पर लिया निर्णय बना कारगर

Published

on

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को लेकर जिस तरह से देश में तत्परता दिखाई है। वह अब तक पूरे विश्व के लिए सराहनीय उदाहरण बन चुका है। अमरीका, इटली, स्पेन जैसे शक्तिशाली यूरोपीय देशों में इस महामारी ने बुरी तरह से तबाही मचाई है। यूरोपीय देशो में कोरोना ने हजारों की संख्या में लोगों को मौत की आगोश में ले लिया है। अब तक दुनिया भर में एक लाख से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। वहीं अमरीका में करीब 22 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

मंगलवार को पीएम मोदी ने दूसरी बार देश के लोगों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने देश में आगे कोरोना वायरस से लड़ने की रणनीति पर चर्चा की। उन्होंने घोषणा की कि लॉकडाउन तीन मई तक जारी रहेगा। इस दौरान उन्होंने देशवासियों की सहयोग की अपील की है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से दुनिया में इस संक्रमण ने तबाही मचाई है, उससे हमारा देश काफी सुरक्षित रहा।

lockdown_3.jpg

भारत संक्रमण के मामले में काफी पीछे

 देश            संक्रमण             मौतें

  • अमरीका      587,155          23,644
  • स्पेन             170,099         17,756
  • इटली            159,516        20,465
  • फ्रंास            136,779       14,967
  • जर्मनी              130,072      3,194
  • ब्रिटेन               88,621         11,329
  • चीन                  82,249         3,341
  • ईरान                 73,303         4,585
  • तुर्की                 61,049          1,296
  • बेल्जियम           30,589           3,903
  • नीदरलैंड           26,551           2,823
  • स्वीट्जरलैंड         25,688        1,138
  • कैनाडा               25,680          780
  • ब्राजील             23,723           1,355
  • रूस               18,328             148
  • पुर्तगाल          16,934             535
  • आस्ट्रेलिया      14,041           368
  • इजराइल        11,586           116
  • स्वीडन           10,948          919
  • आयरलैंड        10,647        365
  • दक्षिण कोरिया  10,564     222
  • भारत              10,541      358

lockdown1_1.jpg

22 मार्च को जब पीएम मोदी ने पहली बार लोगों को संबोधित किया था तो विश्व के कई देशों में कोरोना को लेकर कड़े कदम नहीं उठाए गए थे। खुद अमरीका ने अर्थव्यवस्था के डूबने के डर से लॉकडाउन को पूरे देश में नहीं लगाया था।
29 मार्च तक यहां पर पूरी तरह से लॉकडाउन को नहीं लगाया गया। वहीं पाकिस्तान में भी काफी देर में लॉकडाउन का फैसला लिया गया। पाक पीएम इमरान खान ने कुछ प्रांत में ही लॉकडाउन लगाया था। इटली और स्पेन में जब ने महामारी सिर उठाना शुरू हुआ तब जाकर लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया।

पीएम नरेंद्र ने देश में 21 दिन का लॉकडाउन लगाकर देश में बढ़ रहे कोरोना मामलों में बड़ा अंकुश लगाया है। अब तक भारत में 10,453 मामले सामने आए, वहीं इससे मरने वालों की संख्या 358 तक है। इन आंकड़ों को देखकर विश्व को यह सोचने पर मजबूर कर दिया है कि अगर सही समय पर फैसला लिया जाए तो बड़ी मसीबत को टाला जा सकता है। कई देश अनुमान लगा रहे थे कि महामारी से करोड़ों की जनसंख्या वाले देश को काफी नुकसान होगा। इस दौरान पीएम मोदी ने देश में निर्मित हाईड्रॉक्सी क्लोरोक्वाइन दवा को अमरीका, ब्राजील, इजराइल जैसे देशों को दी। यह दवा कोरोना से लड़ने में कारगर बताई जा रही है। इस बात की प्रशंसा अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी की और मोदी को अपना सबसे प्यारा दोस्त बताया।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.