Connect with us

विशेष

पति कितना भी हिंसक हो, लेकिन क्या पति पत्नी के बीच के इंटरकोर्स को रेप कहा जाएगा?: सुप्रीम कोर्ट

Published

on

मैरिटल रे प को हमारे देश के क़ानून में रे प नहीं माना जाता. मैरिटल रे प पर भारतीय सरकार, सुप्रीम कोर्ट और आम जनता कि क्या राय है इससे हम सभी भली-भांति परिचित हैं. चीफ़ जस्टिस ऑफ़ इंडिया, एस.ए.बोबड़े ने विनय प्रताप सिंह नामक शख़्स की याचिका पर सुनवाई करते हुए कुछ ऐसी टिप्पणियां की जो बहुत सारे प्रश्न उठाती हैं.

Live Law की एक रिपोर्ट के अनुसार 2019 में विनय प्रताप सिंह नामक शख़्स पर एक महिला ने शादी का झांसा देकर रे प करने का आ रोप लगाया था. सिंह ने महिला से शादी करने की बात कही लेकिन उसी साल किसी और महिला से शादी कर ली. सिंह का कहना था कि महिला और सिंह 2 साल तक रिलेशनशिप में थे और कन्सेन्ट के साथ ही से क्शुअल रिलेशनसिप बनाए गए. सिंह का ये भी कहना था कि पुलिस में शि कायत तब की गई जब रिश्ता ख़राब हो गया

Source: India Legal

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में आ रोपी सिंह को अ रेस्ट होने से 8 हफ़्ते की राहत दे दी है. चीफ़ जस्टिस ऑफ़ इंडिया, जस्टिस बोबड़े ने कहा कि शादी का झांसा देना ग़लत है, किसी भी पुरुष या स्त्री को झूठे वादे नहीं करने चाहिए. इसके अलावा जस्टिस बोबड़े ने मैरिटल रे प पर भी बहुत बड़ा बयान दिया.

जब दो व्यक्ति पति-पत्नी की तरह साथ रहते हैं, पति कितना भी क्रूर हो, लेकिन से क्शुअल इंटर कोर्स को रे प कहा जाएगा? 

                    – CJI बोबड़े

Source: ANI News

महिला के वक़ील, एडवोकेट आदित्य वशिष्ठ ने कोर्ट से कहा कि सिंह ने शादी का वादा किया था और एक मंदिर में महिला से शादी भी की थी. एडवोकेट वशिष्ठ ने ये भी कहा कि सिंह ने महिला के साथ मा र-पी ट की थी और इस सिलसिले में मेडिकल सर्टिफ़िकेट भी जमा किया.

सीनियर एडवोकेट विभा दत्ता मखीजा, जो सिंह की वक़ील है ने कहा कि सिंह के ख़िलाफ़ लगाए जा रहे आ रोप से रे प का केस नहीं बनता और महिला के कन्सेन्ट से ही सब कुछ हुआ था.

भारत में मैरिटल रे प क्राइम नहीं है. अगर कोई पति अपनी पत्नी (अगर पत्नी की उम्र 15 से ज़्यादा है तो) के साथ से क्शुअल इंटर कोर्स करता है तो ये रे प नहीं है.
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *