Connect with us

विशेष

अब बैंक फेल होते ही मिलेगा 5 लाख रु तक का भुगतान

Published

on

आम बजट 2021 के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बड़ी घोषणा करते हुए बैंक जमा पर मौजूदा 1 लाख रुपये के बीमा कवर को बढ़ाकर 5 लाख रुपये करने का ऐलान किया। वित्त मंत्री के इस ऐलान से आम लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि बैंकों के बंद होने पर भी ग्राहकों को नुकसान का भुगतान किया जाएगा। इसके अलावा बैंक खाताधारकों के लिए इंश्योरेंश की रकम को 1 लाख से बढ़ाकर 5 लाख रुपये किया जा रहा है।

Budget : अब बैंक फेल होते ही मिलेगा 5 लाख रु तक का भुगतान

साल 1993 के बाद अब तक डिपॉजिट गारंटी लिमिट को नहीं बदला गया था और खाताधारकों को इसके लिए एक लाख रुपए मिलते थे। डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉर्पोरेशन (डीआईसीजीसी) एक्ट 1961 के तहत अभी तक बैंक में जमा राशि में से सिर्फ एक लाख रुपए का दिए जाते थे। लेकिन अब जमाकर्ता को इसके लिए पांच लाख रुपए मिलेंगे।

Bank Merger: 5 साल में सरकारी बैंकों की 3,427 बैंक शाखाओं के वजूद पर असर:  RTI - 3427 bank branches closed or merged in last five years | Navbharat  Times

सरकार का इसकी ओर ध्यान पीएमसी बैंक घोटाला सामने आने के बाद गया है। बता दें कि बीमा को बढ़ाने की मांग काफी वक्त से की जा रही है। इसको लेकर एक इंटरव्यू के दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि बैंक में डिपॉजिट एक लाख से ज्यादा की रकम को इंश्योरेंस के दायरे में लाने पर सरकार विचार कर रही है।

काम की खबर: 5 लाख जमा के बीमा पर बैंक चुकाएंगे 600 रुपये प्रीमियम, आप भी  समझ लें ये गणित

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 1.75 लाख करोड़ के विनिवेश लक्ष्य का ऐलान किया। इस लक्ष्य को एलआईसी सहित कई कंपनियों में हिस्सेदारी बेच कर पूरा किया जाएगा। बता दें कि एलआईसी में हिस्सेदारी बेचने का ऐलान पिछले बजट में ही किया गया था। मगर कोरोना के कारण ये संभव नहीं हो पाया।

पब्लिक सेक्टर बैंकों में और 20,000 करोड़ रुपये की कैपिटल इंफ्यूज का भी ऐलान किया गया है। वित्त मंत्री के अनुसार बैंकों में पैसा सुरक्षित रहे इसके पुख्ता इंतजान किए जाएंगे। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सिक्योरिटी मार्केट कोड लॉन्च करने का भी ऐलान किया है। एयर इंडिया, बीपीसीएस, कॉनकोर, पवन हंस सहित अब तक जिन कंपनियों का विनिवेश करने का ऐलान किया गया है उन्हें 2022 तक पूरा किया जाएगा।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.