Connect with us

विशेष

NTRO का बड़ा खुलासा, एयर स्ट्राइक के वक्त आतंकी कैंपों में एक्टिव थे 300 मोबाइल

Published

on

भारतीय सुरक्षा एजेंसियों के अनुसार, बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर हमले के दौरान टेक्निकल सर्विलांस से पता चला था कि आतंकी कैंपों में 300 मोबाइल एक्टिव थे.

 पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक कर तबाह कर दिया था. कहा जा रहा है कि इन आतंकी ठिकानों पर हुए हमले में 300 आतंकियों की मौत हो गई थी. इसके बाद से ही विपक्ष के कई नेताओं ने एयर स्ट्राइक के सबूत देने और मारे गए आतंकियों की संख्या बताने को लेकर केंद्र सरकार से सवाल पूछना शुरू कर दिया था. सूत्रों के अनुसार, राष्ट्रीय तकनीकी अनुसंधान संगठन (NTRO) ने बताया है कि एयर स्ट्राइक दौरान आतंकी कैंपों में 300 मोबाइल फोन एक्टिव थे.

सूत्रों के अनुसार, भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर हमले के दौरान टेक्निकल सर्विलांस से पता चला था कि आतंकी कैंपों में 300 मोबाइल एक्टिव थे. इससे साफ पता चलता है कि वहां पर 300 लोग मौजूद थे. सूत्रों के अनुसार, NTRO ने भारतीय वायुसेना से अनुमति मिलने के बाद खैबरपख्तुनवा क्षेत्र के आतंकी ठिकानों को सर्विलांस में लिया था.

भारतीय सेना ने पुलवामा हमले के बदला लेते हुए 26 फरवरी को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में घुसकर आतंकियों के ठिकानों को तबाह कर दिया था. भारत ने PoK में चल रहे आतंकी कैंपों को निशाना बनाते हुए भारतीय वायुसेना के विमानों से बमबारी की.

सूत्रों के हवाले से खबर है कि इस एयर स्ट्राइक ऑपरेशन को भारतीय वायुसेना के 12 मिराज-2000 विमानों ने अंजाम दिया. वायुसेना के मिराज-2000 ने पीओके में घुसकर आतंकी ठिकानों पर 1000 किलो से ज्यादा के बम गिराए. भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई में 200 से 300 आतंकी मारे गए और कई आतंकी ठिकाने और लॉन्च पैड तबाह हो गए हैं.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *