Connect with us

विशेष

PHOTOS: जब हिं सा पर उतारू भीड़ मचा रही थी तां डव, सड़कों पर अपनी कार छोड़कर भागे लोग

Published

on

नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर रविवार को प्रदर्शन के हिं सक हो जाने पर राष्ट्रीय राजधानी के जामिया नगर और इससे सटे इलाके के निवासियों व राहगीरों को अपनी जान बचाने के लिए भागना पड़ा. नाराज भीड़ ने करीब पांच बसों को आ ग लगा दी और क्षतिग्रस्त किया और इसके अलावा विभिन्न कारों व एक बाइक को निशाना बनाया. पथराव में दो अग्निशमन अधिकारी घायल हो गए. नए नागरिकता अधिनियम को लेकर दक्षिण दिल्ली में करीब एक घंटे तक प्रदर्शन चला. आ गजनी व पथराव करने वाली भीड़ ने निवासियों को ध मकियां भी दी. राष्ट्रीय राजधानी में नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 को लेकर यह वि रोध प्रदर्शन का तीसरा दिन है. आ गे देखिए पूरी खबर और PHOTOS…

जामिया के छात्र इस विवाद में शामिल नहीं हैं, विश्वविद्यालय ने तुंरत यह घोषणा की.

न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी (ईस्ट) के एक निवासी शक्ति सिंह ने आईएएनएस से कहा कि प्रदर्शनकारियों से लोग इतने भयभीत थे कि बहुत से लोग अपनी कार छोड़कर, जान बचाने के लिए भाग गए.

नागरिकता कानून के वि रोध में प्रदर्शन के आयोजक रविवार को हिं सक हो गए और जामिया नगर इलाके में सराय जुलेना के निवासियों की पुलिस से झ ड़प हुई.

हालात तब गंभीर हो गई जब प्रदर्शनकारियों ने एक बस को आ ग लगा दी और पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी. प्रदर्शनकारियों व पुलिस के बीच टकराव के दौरान पथराव से एक फोटोग्राफर घायल हो गया.

” data-alt=”” data-title=”” data-qazy-src=”https://hindi.cdn.zeenews.com/hindi/sites/default/files/2019/12/15/473110-delhi05.jpg” />

सिंह ने एक कार की तरफ इशारा किया और कहा, “इस कार में महिलाएं थी, परिवार ने प्रदर्शन से नुकसान पहुंचने के डर से कार छोड़ भागने का फैसला किया. कॉलोनी के गेट को गार्डो ने तुरंत बंद कर दिया और प्रदर्शनकारी गेट नंबर तीन की तरफ बढ़ गए.”

इस आ गजनी व विवाद से आश्रम से फ्रेंडस कॉलोनी और कालिंदी कुंज तक दक्षिण दिल्ली क्षेत्र में भारी ट्रैफिक जाम लग गया. पुलिस ने आसपास के इलाके से ट्रैफिक को डायवर्ट किया.

प्रदर्शनकारियों ने मथुरा रोड के विपरीत न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी के दोनों रास्तों को जाम कर दिया. दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ट्वीट किया कि ओखला अंडरपास से सरिता विहार के लिए सभी आवागमन बंद है.

ट्वीट में कहा गया, “बदरपुर की तरफ से आने वाले कार सवार लोगों को मोदी मिल फ्लाईओवर व सीआरआरआई की तरफ से आने वालों को नेहरू प्लेस की तरफ जाने की सलाह दी जाती है. आश्रम चौक की तरफ से आने वाले को रिंग रोड, मूलचंद फ्लाईओवर व बीआरटी कॉरिडोर या डीएनडी फ्लाईओवर की तरफ जाने का सुझाव दिया जाता है.”

दिल्ली फायर सर्विस के एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि शाम 4.42 बजे एक कॉल मिली कि बसों में आ ग लगाई जा रही है. अधिकारी ने कहा, “हमने दमकल की चार गाड़ियां भेजी, जिस पर एक हिं सक भीड़ ने हमला किया.”

दिल्ली फायर सर्विस के अधिकारी ने कहा कि हमारा वाहन क्षतिग्रस्त हो गया और दो अग्निशमन कर्मियों को चोटें आईं है. वे अस्पताल में हैं.

उन्होंने कहा, “इलाके में बहुत ज्यादा भीड़ जमा हो गई, जिससे हम मौके पर पहुंचने में विफल रहे और ट्रैफिक जाम ने भी दिक्कत पैदा की.”

जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी ने एक बयान में कहा कि छात्र बसों को जलाने में शामिल नहीं थे. उन्होंने कहा, “यह कुछ बाहरी लोगों ने किया, जो यूनिवर्सिटी व आसपास के इलाके में अशांति फैलाना चाहते हैं.”

डीसीपी साउथ ईस्ट दिल्ली चिन्मय बिस्वाल ने बताया, कुछ प्रदर्शनकारी तैयारी के साथ आए थे, उन्होंने ही बसों में आ ग लगाई. उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े. डीसीपी ने कहा कि इस पूरे प्रदर्शन के दौरान 6 पुलिसकर्मी जख्मी हो गए. वहीं, उन्होंने प्रदर्शनकारियों पर किसी तरह की फायरिंग की बात से इनकार कर दिया.

दिल्ली के पुलिस के अफसर ने कहा कि नागरिकता कानून का वि रोध करने के लिए दोपहर में 2 हजार से ज्यादा लोग जमा हुए थे. इसके बाद शाम होते ही प्रदर्शनकारी उग्र हो गए और उन्होंने बाइक व बसों में आ ग लगा दी. इसके बाद उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव किया.

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान पर हिं सा फैलाने का आरोप लगाया है. आप विधायक ने अपनी सफाई में कहा है कि वह घटनास्थल पर मौजूद नहीं थे. वहीं, बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष मनोज तिवारी का कहना है कि सीएम अरविंद केजरीवाल के इशारे पर विधायक हिं सा भड़का रहे हैं.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.