Connect with us

बॉलीवुड

कोरोना के चलते 1 महीने से इटली के एक कमरे में कैद है सिंगर श्वेता पंडित, बोलीं-सुबह उठते ही सुनाई देती है एंबुलेंस की आवाज़!

Published

on

दोस्तों कोरोना वायरस की दहशत भारत सहित दुनियाभर में फैली हुई है। 21 दिन के लिए इंडिया में लॉकडाउन है।वही    बॉलीवुड फिल्म जगत की जानी मानी सिंगर श्वेता पंडित पिछले महीने भर से इटली के एक कमरे में कैद हैं। वह कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन के कारण वो इस हालात में हैं। श्वेता ने कहा है कि वह अपने घरवालों को बहुत मिस कर रही हैं।

कोरोना के चलते 1 महीने से इटली के एक कमरे में कैद है सिंगर श्वेता पंडित, बोलीं-सुबह उठते ही सुनाई देती है एंबुलेंस की आवाज़! 1

श्वेता किसी पति के पास इटली गई थीं। लेकिन वहां जिस तेजी से हालात बिगड़े उन्हें देखते हुए उन्होने घर से बाहर ना निकलने में ही समझदारी समझी। श्वेता ने बताया कि वह 1 हफ्ते से कमरे से नहीं निकली। वह बताती हैं कि पता ही नहीं चलता कि कब और किससे मिलने से हुआ। सर्दी-जुकाम दिखता है और डॉक्टर के पास जाने पर पता चलता है कि आईसीयू की जरूरत है। उन्होंने कहा कि वायरस खतरनाक है और इटली में 8000 जानें जा चुकी हैं।

कोरोना के चलते 1 महीने से इटली के एक कमरे में कैद है सिंगर श्वेता पंडित, बोलीं-सुबह उठते ही सुनाई देती है एंबुलेंस की आवाज़! 2

श्वेता पंडित ने बताया है कि, ‘कोरोना वायरस ने जहां सबसे ज्यादा जानें ली है, मैं उसी देश इटली में हूं। मैं पिछले एक महीने से अपने कमरे से बाहर नहीं निकली हूं। जब तक यहां लॉकडाउन हुआ तब तक काफी देर हो चुकी थी।’ श्वेता पंडित ने भारत में 21 दिनों के लॉकडाउन को सपोर्ट करते हुए कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग ही इससे बचने का एकमात्र उपाय है। ये वायरस काफी खतरनाक है।

श्वेता ने कहा- मैं जब सुबह उठती हूं तो मुझे एंबुलेंस की आवाज आती है। ये मजाक नहीं है। मैं यहां घर के अंदर ठीक हूं।सुरक्षित हूं। अब कोरोना भारत में घर करना चाहता है। मैं इटली में पति के साथ हूं लेकिन पैरेंट्स, सिबलिंग्स की याद आती है। मैं खुद होली के दिन भारत वापस आने वाली थी। मैं चाहती तो फ्लाइट लेकर भारत आ जाती लेकिन मैंने ये फैसला कोरोना से सतर्क रहते हुए नहीं लिया। मैं अपनी और दूसरों की सुरक्षा चाहती थी। श्वेता ने लोगों से हाथ धोने, सोशल डिस्टेंसिंग की अपील की है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *